scorecardresearch

राजस्‍थान: जोधपुर में हिंदू संगठनों का आरोप- गरीबों को खाना खिलाने के नाम पर ईसाई परिवार करवा रहे धर्म परिवर्तन, मचा हंगामा

राजस्थान के जोधपुर में बिहार के एक परिवार को काफी दिनों से धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित किया जा रहा था। रविवार को उनके घर पर धर्म परिवर्तन के कार्यक्रम के दौरान हिंदू संगठनों ने पहुंचकर खूब हंगामा किया।

राजस्‍थान: जोधपुर में हिंदू संगठनों का आरोप- गरीबों को खाना खिलाने के नाम पर ईसाई परिवार करवा रहे धर्म परिवर्तन, मचा हंगामा
राजस्थान के जोधपुर में धर्म-परिवर्तन (Photo Credit- The Indian Express)

राजस्थान के जोधपुर में धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है। हिंदू संगठनों का आरोप है कि गरीबों को खाना खिलाने के नाम पर धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा है। इसके विरोध में यहां हिंदू संगठन के लोगों ने एकत्र होकर विरोध प्रदर्शन किया।

संगठनों का कहना है कि यहां ईसाई परिवार गरीबों को खाना देकर उनका ईसाई धर्म में परिवर्तन करवा रहे हैं। जब हिंदू संगठनों को इस बारे में जानकारी मिली तो उन्होंने मौके पर पहुंचकर हंगामा किया। इस दौरान यहां “जय श्री राम” के नारे भी लगे।

यह मामला कुड़ी थाना क्षेत्र का है। यहां गांधी गृह में रहने वाले बिहार के एक परिवार को कुछ लोग धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित कर रहे थे। इसके बाद रविवार (22 मई, 2022) रात को बिहार के परिवार के घर पर धर्म परिवर्तन का कार्यक्रम शुरू किया गया। इसकी खबर, हिंदू संगठनों को मिली तो वे यहां पहुंचे और हंगामा शुरू कर दिया।

इसके बाद क्षेत्रवासी ने भावनाओं को ठेस पहुंचाने और धर्मांतरण को लेकर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई। पुलिस के मुताबिक, इस घटना के बाद एक दंपति को गिरफ्तार किया गया है, जो मूलरूप से तमिलनाडु का रहने वाला है। बता दें कि राज्य में हाल ही में सांप्रदायिक दंगे हुए थे, जिसके बाद से स्थिति थोड़ी तनाव पूर्ण बनी हुई थी। अब स्थिति जब धीरे-धीरे ठीक हो रही है तो धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है।

कर्नाटक में धर्मांतरण विरोधी विधेयक पास
हाल ही, में कर्नाटक में धर्मांतरण विरोधी विधेयक को मंजूरी दे दी गई है। राज्य सरकार धर्म परिवर्तन के खिलाफ कानून को प्रभावी बनाने के लिए यह विधेयक लाई, जिसे राज्यपाल थावर चंद गहलोत ने मंगलवार (17 मई, 2022) को मंजूरी दे दी। इसके मुताबिक, जबरन धर्मांतरण के लिए 25 हजार रुपये जुर्माने के साथ 3-5 साल तक की कैद का प्रस्ताव है। इसके अलावा, नाबालिग, महिला या एससी/एसटी व्यक्ति को धर्म परिवर्तन करने पर 10 साल की जेल के साथ 50 हजार रुपये जर्माना भी भरना होगा।

पढें राजस्थान (Rajasthan News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट