ताज़ा खबर
 

राजस्थान: भाजपा विधायक के बेटे को पीटने के आरोप में पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड

खबर के अनुसार विशाल मेहता के साथ क्षेत्रीय नेताओं और एक निगम नेता के साथ पुलिस ने बुरी तरह से मारपीट की।

महिलाओं की सुरक्षा करने का दावा करने वाली पुलिस के सिपाही ने ही सहकर्मी को असुरक्षा का अहसास करा दिया। (फाइल फोटो)

राजस्थान में कथित तौर पर भाजपा विधायक के बेटे को पीटने के आरोप में पांच पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। एक सब इंस्पेक्टर सहित पांचों पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि इन्होंने टोंक शहर के भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष और विधायक अजीत सिंह के बेटे की जमकर पिटाई की है।। सूत्रों के अनुसार विधायक के बेटे विशाल मेहता के साथ मारपीट उस दौरान की गई जब वो एक दुकान के मंदिर से जुड़े होने के विवाद के चलते पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने के लिए गए थे। खबर के अनुसार विशाल मेहता के साथ क्षेत्रीय नेताओं और एक निगम नेता के साथ पुलिस ने बुरी तरह से मारपीट की। इस दौरान पुलिस ने उनसे मोबाइल भी छीन लिए और डंडों व बैल्ट से पिटाई करने के बाद हवालात में बंद कर दिया। इसके बाद ये सभी किसी तरह पुलिस स्टेशन से भागने में कामयाब हुए। घटना के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने शहर के बाजार भी बंद करा दिए। बाद में विशाल ने मारपीट के बात अपने पिता को बताई जब वो जयपुर में थे। वहीं पुलिस के आला अधिकारियों ने मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए आरोपी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया।

दूसरी तरफ मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसान आंदोलन की आग अब राजस्थान में पहुंच गई है। यहां राज्य के कई हिस्सों में किसानों की मांगों ने जोर पकड़ लिया है। इस दौरान फसलों पर समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग को लेकर बीते दिनों राजस्थान के बूंदी में किसानों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान किसान कलेक्ट्रेट में घुस और गए और जिला प्रशासन के कई आला अधिकारियों को घेर लिया। इस दौरान किसानों की पुलिस के साथ भी काफी धक्का मुक्की भी हुई। इस दौरान जब किसानों को जबरन कलेक्ट्रेट से हटाया तो उन्होंने कोटा-बूंदी हाइवे जाम कर दिया। इस दौरान किसानों ने केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App