ताज़ा खबर
 

राजस्थान: दलित पुलिसवाले की बारात पर हमला, पीड़ित का आरोप- राजपूतों ने धारदार हथियार से लोगों पर किए वार

पुलिस ने बताया कि बारात पर हमला करने के मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है जबकि एक शख्स के खिलाफ घटना के चलते लुकआउट नोटिस जारी किया गया है।

ल्हे सवाई राम ने बताया कि हमला उस वक्त किया गया जब उनकी बारात जोधपुर जिले के दुगर गांव में पहुंचने वाली थी। (ani photo)

राजस्थान में एक दलित पुलिसकर्मी के विवाह कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर हमले की खबर है। इस मामले में पुलिस में एक केस दर्ज किया गया है। जानकारी के मुताबिक शनिवार (9 फरवरी, 2019) को पुलिसकर्मी के बारात पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। दूसरी तरफ पुलिस ने बताया कि बारात पर हमला करने के मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है जबकि एक शख्स के खिलाफ घटना के चलते लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। मामले में दूल्हे सवाई राम ने बताया कि हमला उस वक्त किया गया जब उनकी बारात जोधपुर जिले के दुगर गांव में पहुंचने वाली थी।

सवाई राम ने दावा किया कि हमलावर राजपूत समुदाय के थे। उन्होंने बारात पर हमला किया और लोगों को अपमानित किया। इस दौरान जब कुछ लोगों ने इसका विरोध किया तो उन लोगों ने धारधार हथियार से हमला कर दिया। घटना में बहुत से बाराती गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं पुलिस इंस्पेक्टर अजीत सिंह ने बताया, ‘हमने रविवार को पीड़ित पुलिसकर्मी का बयान दर्ज किया और संबंधित धाराओं के तहत 12 से ज्यादा लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। मामले में जांच जारी है। अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।’

बता दें कि इससे पहले यूपी के एटा जिले में कथित तौर पर ठाकुरों द्वारा शादी के दौरान दलित दूल्हें पर हमला करने और उसे घोड़ी से उतरवाने का मामला सामने आया। आरोप था कि दूल्हे को मंडप तक पैदल जाने को मजबूर किया गया। पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक जिले के असरौली गांव में शादी समारोह के दौरान अगड़ी जाति के लोगों द्वारा पत्थरबाजी की गई। साथ ही दलितों को जातिसूचक अपशब्द बोले गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App