ताज़ा खबर
 

राम रहीम के भक्तों का मोह भंग, नाले में फेंके इतने फोटो कि चोक हो गया नाला

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को 15 साल पुराने रेप के दो मामलों में 20 साल की सजा सुनाई गई है।
नाले में 100 से ज्यादा से ज्यादा बाबा की फोटो और पोस्टर मिले हैं। (Photo: Social media)

बाबा राम रहीम सिंह को रेप के दो मामलों में सजा मिलने के बाद उनके भक्तों का मोह भंग हो गया है। दरअसल राजस्थान के श्रीगंगानगर के मुख्य स्वच्छता निरीक्षक देवेंद्र राठोर को उस समय झटका लगा जब शहर के नाले चोक हो गए। नाले चोक होने का कारण था बाबा राम रहीम के फोटो। एक नाला मीरा चौक, सुखाड़िया सर्किल से होता हुआ गुरुनानक बस्ती गड्ढे में जाता है। इसमें डेरा समर्थकों ने इतनी फोटो फेंक दी थीं कि नाला ही चोक हो गया। नाले में 100 से ज्यादा बाबा की फोटो और पोस्टर मिले हैं। बाबा राम रहीम का जन्म श्रीगंगानगर जिले के गुरुसर मुंडिया गांव में हुआ था। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को 15 साल पुराने रेप के दो मामलों में 20 साल की सजा सुनाई गई है।

जिले की आबादी का एक बड़ा हिस्सा डेरा सच्चा सौदा प्रमुख की पूजा करता था, लेकिन लगता है कि उन्हें बलात्कार की सजा के बाद उनके साथ मोह भंग हो गया है। ऐसी तस्वीरें शहर के कई इलाकों की नालियों में मिली हैं जिन्हें निकलवाकर बाद में डंपिंग यार्ड में फेंक दिया गया। इन तस्वीरों की वजह से नाले ब्लॉक हो गए थे और कई जगह पानी भर गया था। ध्यान रहे कि बाबा राम रहीम की इस प्रकार ये फोटो बाजारों में कभी नहीं बिकतीं। इनको डेरों से ही खरीदना पड़ता है। बाबा राम रहीम के अपने अखबार सच कहूं और पत्रिका सच्ची शिक्षा की पुरानी रद्दी तक बाजार में बेचने के बजाए डेरों में वापस जमा करवानी पड़ती है, ऐसे में बाबा के फोटो मिलना बड़ी बात है।

गौरतलब है कि साल 2002 में राम रहीम के खिलाफ एक गुमनाम पत्र लिखा गया था। जिसपर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया था। 15 साल तक चले इस बलात्कार केस में 25 अगस्त, 2017 को सीबीआई कोर्ट ने राम रहीम को दोषी करार दिया था और 28 अगस्त, 2017 को राम रहीम को दो अलग-अलग रेप केस में बीस साल की सजा सुनाई गई थी। कोर्ट ने जब राम रहीम को दोषी करार दिया था तो पंचकुला समेत हरियाणा के अन्य जिलों में राम रहीम के समर्थकों ने हिंसा कर दी थी। इस हिंसा में 38 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 250 से ज्यादा घायल हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.