ताज़ा खबर
 

राजस्थानः 15 साल पहले किस्मत से मिली थी पंचायत समिति की प्रधानी, जानें कौन हैं नए Congress प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा

एक अक्टूबर 1964 को सीकर जिले के लक्ष्मणगढ़ के कृपाराम जी की ढाणी में जन्में डोटासरा ने राजस्थान विश्वविद्यालय से कानून में डिग्री हासिल की। सीकर की अदालतों में दो दशकों से अधिक समय तक वकालत की।

Govind Singh Dotasra, New Rajasthan Congress President, Rajasthan Congress Presidentराजस्थान के नए Congress प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः रोहित जैन पारस)

कांग्रेस ने राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले सचिन पायलट को डिप्टी-सीएम पद से हटाने के साथ ही पार्टी प्रदेशाध्यक्ष पद से भी हटाया है। उनकी जगह राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा नये प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किए गए हैं। राजस्थान कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष की कमान मिलने पर डोटासरा ने पत्रकारों से कहा कि वह अपनी इस नयी जिम्मेदारी को पूरी ईमानदारी से निभाने की कोशिश करेंगे।

डोटासरा ने ट्वीट कर इसके लिए पार्टी आलाकमान का आभार जताते हुए लिखा, “मेरे सभी साथी विधायकों और कांग्रेस के प्रत्येक कार्यकर्ता का हृदय से आभार और धन्यवाद। इस ज़िम्मेदारी को भी मैं पूरी ईमानदारी और मेहनत से निभाने की कोशिश करूंगा।”

उन्होंने कहा है कि कांग्रेस पार्टी ने उन जैसे एक छोटे से कार्यकर्ता को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जैसी महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी दी है और वह इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं के आभारी हैं।

बता दें कि डोटासरा जमीनी स्तर से राजनीति में आगे बढ़े हैं। 15 साल पहले उन्हें किस्मत से पंचायत समिति की प्रधानी मिली थी। उन्होंने वकालत के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी में काम करना शुरू किया। युवा कांग्रेस में कई पदों पर कार्य करने के बाद 2005 में उन्होंने सीकर जिले के लक्ष्मणगढ़ पंचायत समिति के सदस्य का चुनाव लड़ा।

एक अक्टूबर 1964 को सीकर जिले के लक्ष्मणगढ़ के कृपाराम जी की ढाणी में जन्में डोटासरा ने राजस्थान विश्वविद्यालय से कानून में डिग्री हासिल की। सीकर की अदालतों में दो दशकों से अधिक समय तक वकालत की। उनका विवाह चार मार्च 1984 को सुनिता देवी के साथ हुआ। उनके दो बेटे हैं। उनकी पत्नी सरकारी स्कूल में अध्यापिका हैं।

डोटासरा सीकर जिले के सात साल तक पार्टी अध्यक्ष रहे और उन्होंने 2005 में अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया। 2008 में उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर लक्ष्मणगढ़ विधानसभा से चुनाव लड़ा और जीते। 2008 से वे लगातार जीत रहे हैं और इस समय गहलोत मंत्रिमंडल में राज्य के शिक्षा मंत्री हैं।

‘कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश में शामिल थे पायलट’: कांग्रेस ने कहा है कि सचिन पायलट दिग्भ्रमित होकर भाजपा के जाल में उलझ गए और कांग्रेस की सरकार गिराने की साजिश में शामिल हो गए। इसके साथ ही पार्टी ने अपने विधायकों को स्पष्ट तौर पर कहा है कि सरकार व्यक्तियों पर नहीं बल्कि नीतियों व सिद्धांतों पर टिकी है। बता दें कि कांग्रेस ने अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले पायलट व उनके साथ गए दो मंत्रियों को उनके पद से हटा दिया। पायलट को प्रदेशाध्यक्ष पद से भी हटा दिया गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘जनता का कांग्रेस से हो गया मोह भंग’, ज्योतिरादित्य सिंधिया का हमला- कमलनाथ के पास कोरोना के लिए वक्त नहीं था, पर IIFA अवॉर्ड्स में गए थे
2 Bihar Lockdown Guidelines: नहीं कम हो रही COVID-19 की मार! नीतीश सरकार ने किया 16 से 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान
3 राजस्थानः ‘सत्य पराजित नहीं हो सकता’, बर्खास्तगी पर बोले सचिन पायलट, टि्वटर प्रोफाइल से डिप्टी-CM शब्द भी हटाया
ये पढ़ा क्या?
X