scorecardresearch

उदयपुरः आठ साल के मासूम बेटे की पोस्ट बन गई मुसीबत, जानिए कन्हैयालाल की हत्या की पूरी कहानी

पुलिस ने दोनों आरोपियों को राजसमंद के भीम में गिरफ्तार कर लिया है। हत्यारों की पहचान मोहम्मद रियाज और मोहम्मद गौस के रूप में हुई है। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने वीडियो जारी करके अपना जुर्म भी कबूल किया है।

Rajasthan | udaipur | kanhaiya lal
टेलर कन्हैया लाल की हत्या करने वाले आरोपी। ( फोटो सोर्स: @AskAnshul)।

राजस्थान के उदयपुर में नूपुर शर्मा के समर्थन में एक पोस्ट की वजह से कन्हैयालाल नाम के एक टेलर की गला रेतकर हत्या कर दी है। बताया जा रहा है कि वह पोस्ट गलती से कन्हैया के आठ साल के बेटे ने भेजा था।

आरोपियों ने कन्हैयालाल की गर्दन को धारदार हथियार से काट डाला। बताया जा रहा है कि कन्हैयालाल के मोबाइल से कुछ ग्रुप में वॉट्सऐप पोस्ट को फॉर्वर्ड किया गया था, जिससे नाराज होकर कट्टरपंथियों ने उसकी निर्मम हत्या कर दी। हत्यारों ने हत्या के बारे में कैमरे पर देखा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धमकी भी दी।

आरोपी मोहम्मद रियाज ने 17 जून को ही कन्हैयालाल को मारने की धमकी दी थी। यह वीडियो उदयपुर में सोशल मीडिया और वॉट्सऐप ग्रुप्स में वायरल था। बताया जा रहा है कि इस धमकी से डरकर कन्हैयालाल ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार भी लगाई थी। वह छह दिन से दुकान भी नहीं खोल रहा था। मंगलवार को ही उसने दुकान खोली और आरोपियों ने ऐलान के मुताबिक उसका सिर तन से जुदा कर दिया।

कन्हैयालाल के परिजनों का कहना है कि यह पोस्ट गलती से कन्हैया के आठ साल के मासूम बच्चे ने अनजाने में कुछ वॉट्सऐप ग्रुप में भेज दिया था। यह पोस्ट कुछ कट्टरपंथियों ने देखा तो वह कन्हैयालाल के दुश्मन बन गए। आरोपी रियाज ने 17 जून को ही एक वीडियो जारी करके कन्हैया को मारने की धमकी दी थी। जानकारी के मुताबिक कन्हैयालाल ने पुलिस से शिकायत भी की थी।

पुलिस ने दोनों आरोपियों को राजसमंद के भीम में गिरफ्तार कर लिया है। हत्यारों की पहचान मोहम्मद रियाज और मोहम्मद गौस के रूप में हुई है। घटना को अंजाम देने के बाद इन्होंने वीडियो जारी करके अपना जुर्म भी कबूल किया है।

मंगलवार दोपहर के वक्त आरोपी कपड़ा सिलवाने के बहाने कन्हैयालाल की दुकान में गए। इसमें एक आरोपी वीडियो बनाता रहा, जबकि दूसरा नाप देने लगा। जब कन्हैया नाप ले रहा था। उसी दौरान आरोपियों ने उस पर हमला कर दिया। कन्हैया बचाने की गुहार लगाता रहा, लेकिन आरोपियों ने उसकी गर्दन को धारदार हथियार से काट डाला।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी हवा सिंह घुमारिया ने संवाददाताओं को बताया कि किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। घुमारिया ने मीडिया से भी कहा कि अत्यधिक भड़काऊ सामग्री के वीडियो को प्रसारित न करें।

राजस्थान के मुख्यमंत्री ने घटना को “दर्दनाक” और “शर्मनाक” बताया है। गहलोत ने कहा, “इस घटना में शामिल सभी अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और पुलिस इसकी तह तक जाएगी। मैं सभी पक्षों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।”

गहलोत ने कहा, “मैं सभी से अपील करता हूं कि इस घटना का वीडियो शेयर कर माहौल खराब न करें। वीडियो शेयर करने से अपराधी का समाज में नफरत फैलाने का मकसद सफल होगा।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X