पायलट ख़ेमे को एक और झटका: राजस्थान के दो विधायक कांग्रेस से सस्पेंड, ऑडियो में नाम आने पर ऐक्शन

सचिन पायलट का रुख पहले के मुकाबले थोड़ा नरम पड़ा है। यही वजह है कि जहां वह पहले सीएम अशोक गहलोत को हटाने से कम पर बात करने को तैयार ही नहीं थे, वहीं अब वह नए सिरे से बातचीत करने की बात कर रहे हैं।

Sachin Pilot, INC, Congressराजस्थान के पूर्व उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

कांग्रेस पार्टी ने सचिन पायलट खेमे को एक और झटका देते हुए दो बागी विधायकों को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त कर दिया है। वायरल ऑडियो में नाम आने के बाद कांग्रेस पार्टी ने यह कदम उठाया है। जिन विधायकों को पार्टी की सदस्यता से बर्खास्त किया गया है, उनमें विश्वेंद्र सिंह और भंवरलाल शर्मा का नाम शामिल है। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह जानकारी दी है।

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि “कल शाम और आज सुबह जो ऑडियो टेप सामने आए हैं उनसे एक बात साफ है कि प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा है कि भाजपा द्वारा कांग्रेस की चुनी हुई सरकार और विधायकों की निष्ठा को खरीदने की साजिश रची गई। भाजपा द्वारा जनमत का अपहरण और प्रजातंत्र के चीरहरण की कोशिश की जा रही है।”

बता दें कि इससे पहले राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष ने सचिन पायलट समेत 18 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने संबंधी नोटिस जारी किया था। इस नोटिस का तीन दिन में जवाब दिए जाना था और विधानसभा अध्यक्ष यदि जवाब से संतुष्ट नहीं होते तो पायलट समेत सभी विधायकों को अयोग्य ठहराया जा सकता था। लेकिन इस नोटिस के खिलाफ सचिन पायलट खेमा हाई कोर्ट पहुंच गया है।

हाईकोर्ट की डबल बेंच इस मामले पर शुक्रवार दोपहर को सुनवाई करेगी। पायलट खेमे का पक्ष वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे और मुकुल रोहतगी रखेंगे। वहीं विधानसभा अध्यक्ष का पक्ष अभिषेक मनु सिंघवी रखेंगे। इससे पहले पार्टी सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष और डिप्टी सीएम की पोस्ट से भी हटा चुकी है।

वहीं सूत्रों के अनुसार, सचिन पायलट का रुख पहले के मुकाबले थोड़ा नरम पड़ा है। यही वजह है कि जहां वह पहले सीएम अशोक गहलोत को हटाने से कम पर बात करने को तैयार ही नहीं थे, वहीं अब वह नए सिरे से बातचीत करने की बात कर रहे हैं। इसके जवाब में कांग्रेस पार्टी के रुख में थोड़ी नरमी देखी जा रही है। पार्टी सचिन पायलट को मनाने में जुटी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पार्टी आलाकमान के निर्देश पर अहमद पटेल और केसी वेणुगोपाल सचिन पायलट के संपर्क में हैं। सीएम अशोक गहलोत के भी सुर बदलते दिखाई दे रहे हैं। अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा है कि आने वाला कल युवाओं का है। युवा हमसे अच्छा काम कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजनीतिक संकट के बीच सीएम अशोक गहलोत की राज्यपाल से मुलाकात के ये हो सकते हैं मायने?
2 ‘राजेश पायलट कांग्रेस में हर असफल विद्रोह के बाद करते थे वापसी, पिता-पुत्र में उग्र महत्वाकांक्षा और विद्रोही तेवर एक जैसे’, राजदीप सरदेसाई ने लिखा
3 सीएम बीरेन सिंह और एक टॉप बीजेपी नेता ड्रग केस हटाने का बना रहे दबाव, हाईकोर्ट में पुलिस अधिकारी का खुलासा
यह पढ़ा क्या?
X