ताज़ा खबर
 

राजस्‍थान: IAS अफसर ने कबूला इस्‍लाम, कहा- हिंदू होने की वजह से हुआ शोषण का शिकार

चीफ सेक्रेटरी सीएस राजन का कार्यकाल बढ़ाने के विरोध में आईएएस अफसर ने ऐसा किया है।

Author जयपुर | January 1, 2016 08:46 am
File Photo

यहां एक अनुसूचित जाति के आईएएस अफसर ने गुरुवार को इस्‍लाम कबूल कर लिया। इसके अलावा, उन्‍होंने वॉलंट्री रिटायरमेंट के लिए भी अप्‍लाई किया है। चीफ सेक्रेटरी सीएस राजन का कार्यकाल बढ़ाने के विरोध में आईएएस अफसर ने ऐसा किया है।

इस्‍लाम कबूल करने वाले आईएएस अफसर और राजस्‍थान स्‍टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन के चेयरमैन उमराव सालोदिया ने कहा, ”मैं RSRTC का चेयरमैन हूं और आखिरी चार साल से एडिशनल चीफ सेक्रेटरी भी हूं। मैं चीफ सेक्रेटरी पद के लिए दावेदार था, लेकिन वर्तमान सीएस को तीन महीने का एक्‍सटेंशन दे दिया गया। मैं एक जूनियर के नीचे काम नहीं कर सकता। मुझे ऐसा लगता है कि अनुसूचित जाति और सीनियर आईएएस कैडर का होने की वजह से मुझे सेक्रेटरी का पद मिलना चाहिए था। मैं पीडि़त महसूस कर रहा हूं। मैंने वीआरएस लेने के लिए राज्‍य सरकार को तीन महीने का नोटिस दिया है। अब राज्‍य सरकार को मेरे वीआरएस पर फैसला लेना है। मेरा रिटायरमेंट जून 2016 में है। अब मैं उमराव खान कहलाऊंगा। एक हिंदू और अनुसूचित जाति का सदस्‍य होने की वजह से मैं हमेशा शोषित महसूस करता रहा हूं। मैंने मस्‍ज‍िद में कलमा पढ़कर इस्‍लाम कबूल कर लिया है। हालांकि, मेरे परिवार के सदस्‍यों ने अपना मजहब नहीं बदला है।” सालोदिया ने यह भी आरोप लगाया कि उन्‍होंने एक मामले में जुडिशियल ऑफिसर के खिलाफ 2014 में मामला दर्ज कराया, लेकिन पुलिस ने उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App