ताज़ा खबर
 

बीजेपी कार्यकर्ताओं के हाथों ही पिट गया पार्टी का पार्षद, मंत्री समर्थकों पर लगा आरोप

यह हाई प्रोफाइल ड्रामा जयपुर के मालवीय नगर इलाके में घटित हुआ। जहां एक पानी की टंकी का उद्घाटन समारोह प्रदेश भाजपा की सिर-फुटव्वल को सामने लाने का कारण बना।
कालीचरण सर्राफ (image source-youtube video grab)

राजस्थान में भाजपा की अंदरुनी लड़ाई सड़क पर आ गई है। दरअसल गुरुवार को राजस्थान में एक भाजपा पार्षद को पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ही पीट दिया। इसके बाद मामला पुलिस थाने पहुंच गया, जहां कांग्रेस के कई नेता पीड़ित भाजपा नेता के समर्थन में आ गए। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। बता दें कि यह हाई प्रोफाइल ड्रामा जयपुर के मालवीय नगर इलाके में घटित हुआ। जहां एक पानी की टंकी का उद्घाटन समारोह प्रदेश भाजपा की सिर-फुटव्वल को सामने लाने का कारण बना। मालवीय नगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक व राजस्थान सरकार में स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सर्राफ के समर्थक कार्यकर्ताओं ने वार्ड नंबर 53 के भाजपा पार्षद अशोक गर्ग की जमकर धुनाई कर दी। बात इतनी बढ़ी कि पार्षद थाने पहुंच गए। वहीं भाजपा की इस लड़ाई में कांग्रेस के कई नेता भी कूद पड़े हैं।

बता दें कि कांग्रेस नेता अर्चना शर्मा और पंकज शर्मा काकू अपने समर्थकों के साथ भाजपा पार्षद अशोक गर्ग के समर्थन में मालवीय नगर थाने पहुंच गए। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंत्री कालीचरण सर्राफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। इस मुद्दे पर एक बार भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच तनातनी का माहौल भी पैदा हो गया था। बहरहाल पुलिस ने पीड़ित पार्षद का मेडिकल कराया है। घनश्याम तिवाड़ी ने भी भाजपा पार्षद को फोन कर मामले की जानकारी ली।

भाजपा विधायक और मंत्री कालीचरण सर्राफ उस वक्त भी विवादों में आए थे, जब वह पिंक सिटी जयपुर में सार्वजनिक स्थान पर खुलेआम पेशाब करते नजर आए थे। विधायक की सार्वजनिक स्थल पर पेशाब करते हुए तस्वीर भी काफी वायरल हुई थी। आरोप लगे थे कि सरकार द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छ भारत अभियान को उसके मंत्री ही गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।  बता दें कि राजस्थान में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं। कई मुद्दों को लेकर राजस्थान की भाजपा सरकार पहले ही आलोचकों के निशाने पर है, अब पार्टी की अंदरुनी लड़ाई भी भाजपा के लिए सिरदर्द बन गई है। उल्लेखनीय है कि राजनैतिक विश्लेषक और सैफोलिस्ट यशवंत देशमुख पहले ही अनुमान जता चुके हैं कि आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा को 200 सीटों में मे से सिर्फ 53 सीटें ही मिलने की उम्मीद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App