ताज़ा खबर
 

गुर्जर आरक्षणः प्रदर्शन के दौरान पहले पटरियों को पहुंचाया नुकसान, फिर मरम्मत करते दिखे प्रदर्शनकारी; देखें VIDEO

आंदोलन के चलते रेल यातायात बाधित हो गया था और आंदोलनकारियों ने रेलवे ट्रेक को भी बहुत नुकसान पहुंचाया था। आंदोलन खत्म होने के बाद प्रदर्शनकारी का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वे रेलवे ट्रेक की मरम्मत करते दिखाई दे रहे हैं।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: November 12, 2020 2:34 PM
rajasthan samachar, Rajasthan News, rajasthan mbc reservation, jaipur news, gurjar reservation 2020, gurjar agitation 2020 rajasthan, gurjar aandolan 2020, gujjar leader kirodi baisla, gujjar aarakshan 2020, CM Ashok GehlotGurjar reservation protest: आंदोलन खत्म होने के बाद प्रदर्शनकारी ने रेलवे ट्रेक की मरम्मत की। (file)

पिछले डेढ़ हफ्ते से राजस्थान में चल रहा गुर्जर आंदोलन अब खत्म हो गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के बीच आरक्षण आंदोलन की मांग को लेकर सहमति बन गई है। इस आंदोलन के चलते रेल यातायात बाधित हो गया था और आंदोलनकारियों ने रेलवे ट्रेक को भी बहुत नुकसान पहुंचाया था। आंदोलन खत्म होने के बाद प्रदर्शनकारी का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वे रेलवे ट्रेक की मरम्मत करते दिखाई दे रहे हैं।

कल रात समुदाय के नेता किरोड़ी सिंह बैंसला और सीएम के बीच हुई बैठक में सहमति बनने के बाद आंदोलनकारियों ने आंदोलन खत्म कर रेलवे ट्रेक की फिश प्लेट को भी दोबारा जोड़ दिया है। सीएम और 17 सदस्यीय गुर्जर प्रतिनिधिमंडल के बीच 6 बिंदु पर सहमति बनी है और इसको लेकर एक समझौता पत्र भी जारी किया गया है। इसके साथ ही प्रशासन ने इंटरनेट सेवायें भी बहाल करवा दी है। आंदोलनकारियों के पटरियों से हट जाने के कारण गत 11 दिनों से बाधित हो रहा दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक भी वापस शुरू हो गई है।

इसके अलावा करौली से महुआ, मंडावर, अलवर, जयपुर, भरतपुर और दिल्ली सहित अन्य मार्गों पर भी रोडवेज का संचालन शुरू कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश के भरतपुर जिले के पीलूपुरा गांव में 12 दिन चले गुर्जर आंदोलन में रेल यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुआ। गुर्जर समाज के लोगों ने दिल्ली- मुंबई रेल मार्ग पर कब्जा जमाकर उसे प्रभावित किया। इसके बाद रेलवे के भी अपने कई ट्रेनों के रूट में बदलाव करने पड़े, तो वहीं कई ट्रेनें कैंसिल भी की गई।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि गुर्जर आरक्षण को लेकर सरकार का रुख हमेशा सकारात्मक रहा है। कर्नल बैंसला से जो बातचीत हुई थी उनमें अधिकांश मांगें मान ली गई हैं। उसके बावजूद अब पटरी पर बैठने का कोई औचित्य नहीं है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार चुनाव: आरजेडी ने मुकेश सहनी को दिया डिप्टी सीएम का ऑफ़र, पुराने साथी मांझी से भी साधा संपर्क, तेजस्वी ने अभी नहीं छोड़ी है सीएम बनने की आस
2 जल बचाने का जखनी मॉडल बनाने वाले उमाशंकर पांडेय बने पहले जलयोद्धा, हुए उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से सम्मानित
3 Bihar Election Results: नीतीश सीएम बने तो सुशील मोदी को भी नहीं दूंगा समर्थन, बोले चिराग; केंद्र को लेकर कही ये बात
यह पढ़ा क्या?
X