ताज़ा खबर
 

राजस्थान: दलित युवती मामले की सीबीआइ से जांच की सिफारिश करने का फैसला

राहुल गांधी 13 अप्रैल को पीड़ित परिजनों से मिलने के लिए बाड़मेर जिले में स्थित उनके गांव गए थे, जहां छात्रा के पिता ने उनसे कहा था कि वह इस मामले की सीबीआइ जांच चाहते हैं।

Author जयपुर | April 21, 2016 12:16 AM
सीबीआई (file photo)

राजस्थान सरकार ने बीकानेर जिले के नोखा स्थित एक शिक्षण संस्थान की छात्रा से कथित दुष्कर्म और हत्या के मामले की सीबीआइ से जांच कराने की सिफारिश करने का निर्णय किया है। दलित छात्रा के परिजन इस मामले की सीबीआइ जांच की मांग कर रहे थे और पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी उनकी मांग का समर्थन किया था।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस संबंध में मंगलवार को गृह विभाग को निर्देश दिए थे, जिसके बाद गृह विभाग ने पुलिस महानिदेशक से उनकी राय मांगी। गृह विभाग के उप सचिव जगदीप सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री कार्यालय के निर्देश के बाद पुलिस महानिदेशक को पत्र भेज कर उनकी राय मांगी गई। पुलिस महानिदेशक मनोज भट्ट ने अपनी टिप्पणी दे दी है। अब एक प्रस्ताव सीबीआइ के पास भेजा जाएगा।

डीजीपी मनोज भट्ट ने बताया कि मैंने पत्र में अपनी टिप्पणियां भी भेजी हैं। लड़की के परिवार का कहना है कि उन्हें राज्य पुलिस द्वारा की जा रही मामले की जांच पर भरोसा नहीं है। कांग्रेस ने यह मुद्दा उठाया था और पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले की तुलना हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में शोधार्थी रोहित वेमुला की कथित आत्महत्या के मामले से की थी। उन्होंने भाजपा सरकार पर दलितों के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाया था।

राहुल 13 अप्रैल को पीड़ित परिजनों से मिलने के लिए बाड़मेर जिले में स्थित उनके गांव गए थे, जहां छात्रा के पिता ने उनसे कहा था कि वह इस मामले की सीबीआइ जांच चाहते हैं। उसी दिन राहुल ने जयपुर में आयोजित दलित सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि लड़की के पिता का कहना है कि उन्हें सरकार और राज्य पुलिस पर भरोसा नहीं है और वह मामले की सीबीआइ जांच चाहते हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी इस मामले की जांच सीबीआइ से कराने की मांग की थी। गौरतलब है कि बीकानेर के नोखा के एक निजी शिक्षण संस्थान से बीएसटीसी कर रही इस दलित छात्रा का शव 30 मार्च को संस्थान में पानी की टंकी में पाया गया था। बताया जाता है कि मृतका को 28-29 मार्च की मध्य रात को शारीरिक शिक्षा के प्रशिक्षक विजेंद्र सिंह के कमरे में देखा गया था।

छात्रा का शव मिलने के बाद सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। सिंह के कमरे में छात्रा के कथित तौर पर पाए जाने के बावजूद पुलिस को सूचित न करने पर छात्रावास की वार्डन और संस्थान के प्राचार्य को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

* दलित छात्रा बलात्कार और उसकी हत्या को लेकर परिजन सीबीआइ जांच की मांग कर रहे थे।
* पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इसका समर्थन किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App