ताज़ा खबर
 

सरकारी कर्मचारी को मीटिंग में मूंछ पर ताव देना पड़ा भारी, सीनियर अधिकारी ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

सरकारी कर्मचारी के एक वरिष्ठ अधिकारियों को मूंछों पर ताव देना इतना नागवार गुजरा कि उन्‍होंने विशाल को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया। इस घटना से संबंधित एक नोटिस सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

Author अजमेर | July 14, 2019 4:44 PM
प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: सोशल मीडिया)

Rajasthan: हमारे देश में वैसे तो मूंछों को पुरुषों की शान माना जाता है और उस पर ताव देना लभभग हर किसी को पसंद होता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा करने पर आपको सजा भी दी जा सकती है? बिल्कुल नहीं, लेकिन राजस्थान के अजमेर में ऐसा ही एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जहां सरकारी कर्मचारी विशाल सिंह को अपनी मूंछों पर ताव देना भारी पड़ गया। उसके वरिष्ठ अधिकारियों को मूंछों पर ताव देना इतना नागवार गुजरा कि उन्‍होंने विशाल को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया। इस घटना से संबंधित एक नोटिस सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

ajmer वायरल हुआ आदेश

एनबीटी में छपी खबर के मुताबिक, यह पूरा मामला 7 जुलाई को घटित हुआ था। अजमेर के श्रीनगर में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण विभाग की विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक मीटिंग चल रही थी। इस दौरान सामाजिक सुरक्षा अधिकारी (एसएसओ) विशाल सिंह सोलंकी भी मौजूद थे। कथित तौर विशाल बार-बार अपनी मूंछ को ताव देते हुए मीटिंग में बोल रहे थे, जिससे उनके सीनियर्स नाराज हो गए और उन्होंने विशाल को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया। बताया जा रहा है कि उन्हें विभाग के उप निदेशक की ओर से यह नोटिस जारी हुआ है।

National Hindi News, 14 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

Bihar News Today, 14 July 2019: बिहार की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

नोटिस में क्या लिखा: कथित तौर पर सोशल मीडिया पर नोटिस की एक प्रति वायरल हो रही है। जिसमें लिखा है कि अक्सर यह देखा गया है कि ऑफिस में काम करते हुए और सीनियर्स से बात करते हुए आपके (विशाल) के द्वारा मूंछों पर ताव दिया जाता है। नोटिस में आगे लिखा है कि कई बार टोका टिप्पणी की गई कि मूंछों पर ताव न दिया करें और सीधे बैठा करें। आपके मूंछों पर ताव देने से उच्च अधिकारियों इरिटेशन महसूस होती है। साथ ही नोटिस में यह भी कहा गया कि जिसकी मूंछे नहीं होती वो किसी से कम नहीं होते।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App