ताज़ा खबर
 

स्पीकर समेत कांग्रेस में विलय करने वाले 6 बसपा विधायकों को HC का नोटिस, 11 अगस्त तक देना होगा जवाब

कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक में सीएम गहलोत ने विधायकों से कहा कि उन्हें 14 अगस्त तक फेयरमोंट होटल (जयपुर) में रहना होगा। हालांकि मंत्री अपने काम को पूरा करने के लिए सचिवालय का दौरा कर सकते हैं।

Rajasthan Government Crisis TodayRajasthan Government Crisis Live: कांग्रेस विधायक दल की बैठक में विधायकों को संबोधित करते सीएम अशोक गहलोत। (ANI)

Rajasthan Government Crisis Today Latest News Live Updates: राजस्थान हाईकोर्ट ने प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के साथ ही कांग्रेस में विलय करने वाले बसपा के 6 विधायकों को नोटिस जारी किया है। अदालत ने इस नोटिस पर संबंधित पक्षों से 11 अगस्त तक जवाब मांगा है। इससे पहले हाईकोर्ट ने  भाजपा विधायक मदन दिलावर एवं बसपा के अधिवक्ताओं से पूछा था कि उनकी याचिकाओं पर सुनवाई क्यों की जाए? इस मामले में बसपा की तरफ से कहा गया कि बसपा एक राष्ट्रीय पार्टी है। ऐसे में राज्य स्तर पर विलय नही किया जा सकता। इसके लिए  राष्ट्रीय पार्टी की ओर से स्वीकृति नही जरूरी है। चूंकि विलय को पार्टी की ओर से मंजूरी नही दी है इसलिए विलय पूरी तरह से अमान्य है।

राजस्थान में विधानसभा सत्र बुलाने को लेकर राजभवन व सरकार के बीच जारी गतिरोध अब सुलझा लिया गया है। सरकार के संशोधित प्रस्ताव पर राज्यपाल कलराज मिश्र ने विधानसभा सत्र 14 अगस्त से बुलाने को मंजूरी दे दी। अब प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पूरा ध्यान विधायकों की बाड़ेबंदी को और अधिक मजबूत करना सदन में बहुमत साबित करने पर है।

Lockdown Unlock 3.0 LIVE News Updates

बताया जाता है कि बैठक में सीएम गहलोत ने अन्य रणनीतियों पर भी चर्चा की। दरअसल विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले रक्षा बंधन भी। इधर राज्यपाल कलराज मिश्र ने विधानसभा सत्र बुलाने के लिए विधानसभा अध्यक्ष को वारंट भेज दिया है। अब 14 अगस्त से सत्र का नोटिफिकेशन विधानसभा से जारी कर दिया जाएगा।

इसी सिलसिले में उन्होंने गुरुवार (30 जुलाई, 2020) को फेयरमोंट होटल में कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई। गहलोत गुट के विधायक इस होटल में ठहरे हुए हैं। कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक में सीएम गहलोत ने विधायकों से कहा कि उन्हें 14 अगस्त तक फेयरमोंट होटल (जयपुर) में रहना होगा। हालांकि मंत्री अपने काम को पूरा करने के लिए सचिवालय का दौरा कर सकते हैं। बैठक में मौजूद सूत्रों ने न्यूज एजेंसी एएनआई को ये जानकारी दी है।

 

Live Blog

Highlights

    20:27 (IST)30 Jul 2020
    राजस्थान में खरीद-फरोख्त का ‘रेट’ बढ़ा: गहलोत

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि कल रात से जब से विधानसभा सत्र बुलाने की तिथि 14 अगस्त निर्धारित हुई है, तब से राज्य में खरीद-फरोख्त का ‘रेट’ बढ़ गया है। गहलोत ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘कल रात से जब से विधानसभा सत्र बुलाने की घोषणा हुई है, राजस्थान में खरीद-फरोख्त (विधायकों की) का ‘रेट’ बढ़ गया है। इससे पहले पहली किश्त 10 करोड़ और दूसरी किश्त 15 करोड़ रुपये थी। अब यह असीमित हो गई है। सब लोग जानते हैं कौन लोग खरीद-फरोख्त कर रहे हैं।’’

    18:54 (IST)30 Jul 2020
    देश की राजनीति का टर्निंग प्वाइंट बन सकता है राजस्थानः गहलोत

    कांग्रेस विधायक दल की बैठक खत्म होने के बाद मीडिया से बातचीत में सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि राजस्थान देश की राजनीति का टर्निंग प्वाइंट बन सकता है। उन्होंने इस काम में मीडिया के सहयोग की मांग की। उन्होंने कहा कि मीडिया भेदभाव की रिपोर्टिंग छोड़कर लोकतंत्र को बचाने में सहयोग करे।

    18:25 (IST)30 Jul 2020
    राजस्थान विधानसभा का सत्र 14 अगस्त से

    राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने एक आदेश जारी कर 15वीं राजस्थान विधानसभा का पांचवां सत्र शुक्रवार 14 अगस्त को प्रातः 11 बजे आहूत किया है। राजस्थान विधानसभा सचिवालय के अनुसार इस बारे में सचिव प्रमिल कुमार माथुर द्वारा राजस्थान राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित कराई गयी है।

    18:03 (IST)30 Jul 2020
    14 अगस्त तक एक साथ ही रहेंगे कांग्रेस विधायक

    राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार का समर्थन करने वाले कांग्रेस विधायक और अन्य विधायक विधानसभा सत्र तक एक साथ ही रहेंगे। कांग्रेस विधायक दल की बृहस्पतिवार को यहां हुई बैठक में यह फैसला किया गया। इस अवसर पर मौजूद सभी विधायकों ने एकजुटता दोहराई। यह बैठक जयपुर के बाहर उस होटल में हुई जहां कांग्रेस और उसके समर्थक विधायक कई दिन से रुके हुए हैं। मुख्य सचेतक महेश जोशी ने कहा कि विधायक अभी 14 अगस्त तक एक साथ रहेंगे।

    17:17 (IST)30 Jul 2020
    राजस्थान हाईकोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष को जारी किया नोटिस

    राजस्थान उच्च न्यायालय ने विधानसभा के अध्यक्ष और सचिव, और बसपा के 6 विधायकों को कांग्रेस पार्टी के साथ राज्य में विलय के संबंध में नोटिस जारी किया। कोर्ट ने उन्हें 11 अगस्त तक जवाब दाखिल करने को कहा है।

    15:49 (IST)30 Jul 2020
    सीएम गहलोत की मुसीबतें फिर बढ़ीं

    राजस्थान सियासी संकट के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मुश्किलें एक बार बढ़ती हुई नजर आ रही है। दरअसल गुरुवार को राजस्थान हाई कोर्ट ने बसपा के छह विधायकों के कांग्रेस में विलय होने के मामले में विधायकों और विधानसभा स्पीकर को नोटिस जारी किया है।

    15:06 (IST)30 Jul 2020
    राजस्थान संकट के बीच सोनिया गांधी ने कांग्रेस के राज्यसभा सांसदों संग की बैठक

    दूसरी तरफ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को पार्टी के राज्यसभा सदस्यों के साथ वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए बैठक की जिसमें वर्तमान राजनीतिक हालात और कुछ अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक सोनिया की अगुवाई में हुई इस बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, दिग्विजय सिंह, जयराम रमेश और कई अन्य राज्यसभा सदस्य मौजूद थे। माना जा रहा है कि इस बैठक में कोरोना महामारी से संबंधित हालात, राजस्थान के राजनीतिक संकट की पृष्ठभूमि में मौजूदा राजनीतिक परिस्थिति, लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध और अर्थव्यवस्था की स्थिति पर मुख्य रूप से चर्चा हुई। राज्यसभा में कांग्रेस के सदस्यों की संख्या 40 है, जबकि लोकसभा में पार्टी के सांसदों की संख्या 52 है।

    14:04 (IST)30 Jul 2020
    कांग्रेस विधायक दल की बैठक में सीएम अशोक गहलोत
    14:02 (IST)30 Jul 2020
    सीएम गहलोत का ट्वीट: मोदी सरकार की नीतियों पर जमकर साधा निशाना

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों पर निशाना साधते हुए कहा कि वे देश के लिए अनर्थकारी साबित हुई हैं। गहलोत ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के एक ट्वीट को ''रिट्वीट'' करते हुए लिखा है, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी की गलत नीतियां देश के लिए विनाशकारी साबित हुई हैं। जैसा कि राहुल गांधी ने रेखांकित किया है कि चाहे वह नोटबंदी हो, जीएसटी का कार्यान्वयन हो या कोरोना वायरस के दौरान कुप्रबंधन या गिरती अर्थव्यवस्था...रोजगार छीनने से चारों तरफ अंधेरा है। दस करोड़ रोजगार छीनने का भय भयावह है।''इससे पहले राहुल गांधी ने कोरोना वायरस के कारण दस करोड़ नौकरियां खतरे में पड़ने वाले समाचार को शेयर करते हुए लिखा, ‘‘मोदी देश को बर्बाद कर रहे हैं।''’

    13:21 (IST)30 Jul 2020
    ये भी जानिए: राजस्थान में 40 हजार के पार पहुंचा कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा

    राजस्थान में गुरुवार को कोरोना के 365 नए पॉजिटिव केस सामने आए। नए मामलों के साथ राज्य में संक्रमितों की संख्या 40145 हो गई है। इसमें से 28 385 कोविड मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। राज्य में कोविड पीड़ित 663 लोगों की मौत हो चुकी है।

    12:44 (IST)30 Jul 2020
    संजय जैन की आवाज का नमूना लेने की तैयारी

    राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले में गिरफ्तार संजय जैन की आवाज का नमूना लिया जाएगा। एसआईटी 31 जुलाई को संजय जैन का वॉयस सैंपल लेगी। इसके लिए कोर्ट से इजाजत मिल गई है। टेप में कथित बातचीत के मुताबिक संजय जैन ने ही विधायक भंवरलाल शर्मा से अपने मोबाइल से कॉन्फ्रेंस पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से बात करवाई थी, जिसमें पैसे के लेनदेन की बात थी।

    12:00 (IST)30 Jul 2020
    कांग्रेस के राज्यसभा सदस्यों के साथ सोनिया की बैठक, राजनीतिक हालात पर हुई चर्चा

    कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बृहस्पतिवार को पार्टी के राज्यसभा सदस्यों के साथ वीडियो कान्फ्रेंस के जरिये बैठक की जिसमें वर्तमान राजनीतिक हालात और कुछ अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक सोनिया की अगुवाई में हुई इस बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, दिग्विजय सिंह, जयराम रमेश और कई अन्य राज्यसभा सदस्य मौजूद थे। माना जा रहा है कि इस बैठक में कोरोना महामारी से संबंधित हालात, राजस्थान के राजनीतिक संकट की पृष्ठभूमि में मौजूदा राजनीतिक परिस्थिति, लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध और अर्थव्यवस्था की स्थिति पर मुख्य रूप से चर्चा हुई। गौरतलब है कि राज्यसभा में कांग्रेस के सदस्यों की संख्या 40 है, जबकि लोकसभा में पार्टी के सांसदों की संख्या 52 है। 

    11:33 (IST)30 Jul 2020
    वीडियो: राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने राज्यपाल कलराज मिश्र से की मुलाकात
    10:58 (IST)30 Jul 2020
    सरकार चाहती थी कि 31 जुलाई से पहले सत्र शुरू हो

    सरकार चाहती थी कि राज्यपाल 31 जुलाई से सत्र आहूत करें। सरकार की ओर से तीन बार इसकी पत्रावली राजभवन को भेजी जा चुकी थी जो वहां से कुछ बिंदुओं के साथ लौटा दी जाती थी। राजभवन द्वारा प्रस्ताव लौटाए जाने के बाद मुख्यमंत्री गहलोत बुधवार दोपहर राजभवन में राज्यपाल से मिले। राजभवन के सूत्रों ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया लेकिन इससे पहले गहलोत ने कांग्रेस के एक कार्यक्रम में कहा कि ‘‘वह राज्यपाल महोदय से जानना चाहेंगे कि वे चाहते क्या हैं... ताकि हम उसी ढंग से काम करें।’’राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने भी बुधवार शाम राज्यपाल मिश्र से मुलाकात की। आधिकारिक रूप से इसे भी शिष्टाचार भेंट बताया गया।

    10:21 (IST)30 Jul 2020
    जब अशोक गहलोत ने कहा- प्रेम पत्र तो पहले ही आ चुका है

    इससे पहले अशोक गहलोत ने कहा कि जिन्होंने पार्टी को धोखा दिया है वह हाईकमान से माफी मांग ले। हाईकमान जो फैसला करेगी वह हमें मंजूर होगा लेकिन हम चाहते हैं वह जनता के विश्वास को नहीं तोड़े। राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात से पहले विधानसभा सत्र बुलाने के लिए गवर्नर की आपत्तियों वाली चिट्ठी पर अशोक गहलोत ने कहा था कि प्रेम पत्र तो पहले ही आ चुका है, अब मिलकर पूछूंगा कि क्या चाहते हैं? 21 दिन के नोटिस की राज्यपाल की शर्त को लेकर बोले के कि 21 दिन हों या 31 दिन, जीत हमारी होगी। 70 साल में पहली बार किसी गवर्नर ने इस तरह के सवाल किए हैं। आप समझ सकते हैं कि देश किधर जा रहा है?

    Next Stories
    1 बिहार में कोरोना: जुलाई में साढ़े चार गुना केस, दोगुनी से ज़्यादा मौतें; फिर भी न बेड और न डॉक्टर 
    2 योगी आदित्य नाथ पर एफआईआर के लिए सुप्रीम कोर्ट तक जाने वाले परवेज को रेप केस में उम्रकैद
    3 Corona Virus: रक्षाबंधन की मिठाई के साथ मुफ्त मिलेगा मास्क, पंजाब सरकार ने मिठाई विक्रेताओं को दी एडवाइज
    चुनावी चैलेंज
    X