ताज़ा खबर
 

सीएम अशोक गहलोत ने पीएम मोदी को पत्र लिख केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की शिकायत की, हॉर्स ट्रेडिंग मामले में स्टैंड लेने की मांग की

बुधवार सुबह जब स्पीकर के वकील कपिल सिब्बल ने आज ही इस मामले की सुनवाई किए जाने की अपील की तो चीफ जस्टिस ने इससे इनकार कर दिया।

Rajasthan CM Ashok Gehlot sachin pilotराजस्थान के सीएम अशोक गहलोत मीडिया से बात करते हुए विजयी चिन्ह बनाते हुए। (पीटीआई फोटो)

राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान में बुधवार को नया मोड़ आया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की शिकायत की। यही नहीं, गहलोत ने प्रधानमंत्री का हॉर्स ट्रेडिंग के कुत्सित प्रयासों की तरफ ध्यान आकृष्ट कराया और इस मामले में स्टैंड लेने की मांग की।

गहलोत ने पत्र में आरोप लगाया कि राजस्थान में चुनी हुई सरकार को गिराने की कोशिश हो रही है। इसमें केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और भाजपा, कांग्रेस के कुछ नेता शामिल हैं।

गहलोत ने लिखा, ‘मैं आपका ध्यान राज्यों में चुनी हुई सरकारों को लोकतांत्रिक मर्यादाओं के विपरीत हॉर्स ट्रेडिंग के जरिए गिराने के लिए किए जा रहे प्रयासों की ओर खींचना चाहूंगा। हमारे संविधान में बहुदलीय व्यवस्था के कारण राज्यों और केंद्र में अलग-अलग दलों की सरकारें चुनी जाती हैं। यह हमारे लोकतंत्र की खूबसूरती ही है कि इन सरकारों ने दलगत राजनीति से ऊपर उठकर लोकहित को सबसे ऊपर करते हुए कार्य किया।’

इससे पहले बुधवार को विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी राजस्थान हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे। सीपी जोशी कांग्रेस के 19 विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने के नोटिस मामले में सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘मैंने अपने वकील को सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) देने को कहा है कि क्योंकि हम एक संवैधानिक संकट की ओर बढ़ रहे हैं।’

इसके बाद सचिन पायलट गुट की ओर से भी शीर्ष न्यायालय में में कैविएट दायर की गई। उनकी तरफ से अनुरोध किया गया कि अदालत उनका पक्ष सुने बिना आदेश जारी ना करे। अब विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी की एसएलपी पर सुप्रीम कोर्ट 23 जुलाई को सुनवाई करेगा। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सीपी जोशी की ओर से कपिल सिब्बल वकील हैं। उन्होंने बुधवार को सुनवाई होने के काफी प्रयास किए, लेकिन शीर्ष न्यायालय ने इनकार कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने तुरंत सुनवाई की मांग पर कपिल सिब्बल को याचिका को रजिस्ट्रार के सामने मेंशन करने को कहा था।

चीफ जस्टिस ने कहा था कि रजिस्ट्री से ही पता लगेगा कि मामला कब सूचीबद्ध होगा। देर शाम सुप्रीम कोर्ट ने सूचीबद्ध केसों को लेकर अपनी वेबसाइट अपडेट की। उसके मुताबिक, इस याचिका पर 23 जुलाई को सुनवाई हो सकती है। मामले से जुड़ी पूरी खबर यहां क्लिक कर पढ़ें

Weather Forecast Today Live Updates

Live Blog

Highlights

    06:32 (IST)23 Jul 2020
    कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रण में रखना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता: गहलोत

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण उन्मूलन में उनकी सरकारी पूरी ताकत लगा देगी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी को 'अनियंत्रित' होने से रोकना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। साथ ही राज्य के विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों में किसी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। गहलोत राज्य में संक्रमण की स्थिति और उसके नियंत्रण के उपायों की वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में धन की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने संसाधन उपलब्ध कराने में किसी तरह की कमी नहीं रखी है और आगे भी जरूरी संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे।

    05:33 (IST)23 Jul 2020
    पायलट ने विधायक मलिंगा को भेजा कानूनी नोटिस

    पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कांग्रेस के विधायक गिरिराज सिंह मलिंगा को कानूनी नोटिस भेजकर एक रुपए का मुआवजा और लिखित माफी की मांग की है। मलिंगा ने उन पर भाजपा में जाने के लिए धन की पेशक श करने का आरोप लगाया था। पायलट ने अपने वकील के जरिए भेजे कानूनी नोटि स में मलिंगा को सात दिन के भीतर प्रेस में लिखित माफी की मांग की है। 

    04:12 (IST)23 Jul 2020
    जोशी पहुंचे शीर्ष अदालत

    राजस्थान कांग्रेस विधायक दल का विवाद अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने बुधवार को राजस्थान हाई कोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में  विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) दायर क र चुनौती दी है। इस पर गुरु वार को सुनवाई होगी। सीपी जोशी के सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दायर क रने के बाद सचिन पायलट ने भी कै विएट दायर क र दी है। पायलट ने इसके जरिए कोर्ट से अपील की है कि जब तक विधायक पर सुनवाई न हो जाए, विधानसभा अध्यक्ष जोशी की याचिका पर कोई आदेश पारि त नहीं कि या जाए।

    02:48 (IST)23 Jul 2020
    गहलोत के भाई के परिसरों पर छापेमारी: मोदी के 'रेडराज' से नहीं डरेगी राजस्थान की जनता

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत के फार्म हाउस व अन्य परिसरों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के छापों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला करते हुए कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि उनके 'रेडराज' से राजस्थान की जनता डरने वाली नहीं है और इस तरह की कार्रवाई से राज्य की कांग्रेस सरकार नहीं डिगेगी। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यहां संवाददाताओं से कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी आपने इस देश में 'रेडराज' पैदा किया हुआ है। आपके इस 'रेडराज' से राजस्थान डरने वाला नहीं। आपके 'रेडराज' से राजस्थान की आठ करोड़ जनता घबराने वाली नहीं है।'

    01:30 (IST)23 Jul 2020
    गहलोत ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कहा- राजस्थान सरकार को गिराने का हो रहा है प्रयास

    राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा । इस पत्र में उन्होंने आरोप लगाया है कि राजस्थान की निर्वाचित सरकार को गिराने का प्रयास हो रहा है और इस षड्यंत्र में एक केंद्रीय मंत्री भी शामिल हैं।

    23:47 (IST)22 Jul 2020
    कैसे पहुंची अग्रसेन गहलोत तक शक की सुई?

    अग्रसेन गहलोत पर आरोप है कि 2007 से 09 के बीच फर्टिलाइजर बनाने के लिए जरूरी पोटाश किसानों में बांटने के नाम पर सरकार से सब्सिडी पर खरीदी गई। इस प्रोडक्ट को निजी कंपनियों को बेचकर मुनाफा कमाया। उस समय अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री थे और केंद्र में मनमोहन सिंह की सरकार थी। अग्रसेन की फर्म ने सरकार से खरीदी गई पोटाश का एक बड़ा हिस्सा कुछ अन्य फर्म के जरिए एक्सपोर्ट कर दिया था। विदेश भेजने के लिए इसे फैल्सपार पाउडर और इंडस्ट्रियल सॉल्ट बताया गया। इस मामले में अग्रसेन की फर्म के साथ ही दूसरी फर्मों पर भी भारी जुर्माना लगाया गया था। नियमों के मुताबिक, एमओपी (खाद बनाने में इस्तेमाल पदार्थ) का निर्यात नहीं किया जा सकता, क्योंकि भारत पूरी तरह से इसके आयात पर निर्भर है। इंडियन पोटाश लिमिटेड इसका आयात करती है। उसके जरिए ही किसानों में यह बांटी जाती है।

    23:14 (IST)22 Jul 2020
    कस्टम ने 2009 में लगाया था गहलोत के भाई की फर्म पर 5.45 करोड़ का जुर्माना, अब 11 साल बाद ईडी की कार्रवाई

    राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन की फर्म पर जिस मामले में 2009 में कस्टम ने 5.45 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया था। अब उस मामले में 11 साल बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कार्रवाई की है। हालांकि, चौंकाने वाली बात ईडी की एंट्री की टाइमिंग है, क्योंकि सियासी मैदान में अशोक गहलोत अभी सचिन पायलट खेमे और अप्रत्यक्ष तौर पर भाजपा से घिरे हुए हैं। लड़ाई हाई कोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गई है। वैसे अग्रसेन शुरू से ही इस मामले में खुद को बेदाग बताते रहे हैं। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री का भाई होने के कारण उन्हें बेवजह बदनाम किया जा रहा है। ईडी की कार्रवाई को कांग्रेस भी दबाव बनाने की कार्रवाई बता रही है।

    22:28 (IST)22 Jul 2020
    प्रधानमंत्री जी कहीं आपको गुमराह तो नहीं किया जा रहा: गहलोत

    अशोक गहलोत ने लिखा, ‘मुझे अफसोस रहेगा कि जहां एक तरफ केंद्र और राज्य सरकार पर जीवन और आजीविका को बचाने की जिम्मेदारी है। उस बीच केंद्र में सत्ता पक्ष कैसे कोरोना प्रबंधन छोड़कर कांग्रेस की राज्य सरकार को गिराने के षड्यंत्र में मुख्य भूमिका निभा सकता है। मध्य प्रदेश की घटना के दौरान भी आपकी पार्टी देशभर में बदनाम हुई थी। मुझे नहीं पता आपको किस हद तक इस बात की जानकारी है, या आपको गुमराह किया जा रहा है। इतिहास ऐसी हरकत करने में भागीदार लोगों को कभी माफ नहीं करेगा।’

    22:02 (IST)22 Jul 2020
    कोरोना के दौर में जीवन रक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता

    गहलोत ने लिखा, ‘कोरोना के दौर में जीवन रक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। ऐसे में राजस्थान में चुनी सरकार को गिराने का प्रयास किया जा रहा है। इस कृत्य में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, भाजपा के अन्य नेता और हमारे दल के कुछ अति महत्वाकांक्षी नेता शामिल हैं। जिनमें से एक भंवरलाल शर्मा जैसे वरिष्ठ नेता ने भाजपा नेता होने के बावजूद भैरोंसिंह सरकार को भी विधायकों की खरीद फरोख्त कर गिराने का प्रयास किया था। जिसका मैंने खुद तत्कालीन राज्यपाल बलिराम भगत और प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव से मिलकर विरोध किया था।’

    21:08 (IST)22 Jul 2020
    लोकतांत्रिक तरीके से चुनी राज्य सरकारों को अस्थिर करने के प्रयास हो रहे

    गहलोत ने पत्र में लिखा, ‘पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की सरकार द्वारा 1985 में बनाए गए दल बदल निरोधक कानून और अटल बिहारी वाजपेयी सरकार द्वारा किए गए संशोधन की भावनाओं को दरकिनार कर पिछले कुछ समय से लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई राज्य सरकारों को अस्थिर करने का प्रयास किया जा रहा है। यह जनमत का घोर अपमान है। कर्नाटक और मध्य प्रदेश इसके उदाहरण हैं।’ 

    20:41 (IST)22 Jul 2020
    सचिन पायलट ने कांग्रेस विधायक को भेजा लीगल नोटिस, मांगा हर्जाना

    इस बीच, सचिन पायलट ने एक और सियासी दांव चला। उन्होंने कांग्रेस विधायक गिराज सिंह मलिंगा कानूनी नोटिस भेजा। हालांकि, नोटिस में उनसे महज एक रुपए का हर्जाना मांगा है। एडवोकेट हरिहरन ने पायलट की ओर से ये नोटिस भेजा है। नोटिस में यह भी कहा गया है कि अगर उन्होंने सात दिन में माफी नहीं मांगी तो सिविल और आपराधिक मानहानि का दावा किया जाएगा। माना जा रहा है कि पायलट ने मलिंगा से एक रुपए का हर्जाना मांग कर एक राजनीतिक संदेश देने की कोशिश की है। 

    19:51 (IST)22 Jul 2020
    अब तक का घटनाक्रम

    14 जुलाई: विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने सचिन पायलट सहित 19 विधायकों को अयोग्यता का नोटिस दिया और 17 जुलाई को दोपहर 1:30 बजे तक जवाब मांगा।16 जुलाई: नोटिस के खिलाफ पायलट सहित 19 विधायक हाईकोर्ट चले गए। पीछे-पीछे व्हिप चीफ महेश जाेशी ने सरकार की तरफ से कैविएट लगा दी कि कोई भी फैसला किए जाने से पहले उनका पक्ष भी सुना जाए।17 जुलाई: राजस्थान हाई कोर्ट की सिंगल बेंच ने सुनवाई की और मामला दो जजों की बेंच में भेजा। इस बेंच ने 18 जुलाई को सुनवाई तय की।18 जुलाई: अगली सुनवाई 20 जुलाई तय की और स्पीकर से कहा कि वे 21 जुलाई तक नोटिस पर कार्यवाही नहीं करें। स्पीकर ने भी इसकी पालना करते हुए कार्यवाही टाली।20 जुलाई: राजस्थान हाई कोर्ट ने बहस पूरी ना हो पाने के कारण कहा- 21 जुलाई को भी सुनवाई होगी।21 जुलाई: हाई कोर्ट ने फिर मामले को सुना और फैसला 24 जुलाई के लिए सुरक्षित रख लिया। स्पीकर को भी तब तक के लिए कोई निर्णय नहीं करने के लिए कहा।

    19:33 (IST)22 Jul 2020
    मलिंगा ने पायलट पर लगाया था प्रलोभन देने का आरोप

    मलिंगा ने 20 जुलाई को कांग्रेस की बाड़ा बंदी के दौरान होटल फेयरमाउंट के बाहर मीडिया के सामने सचिन पायलट पर प्रलोभन देने का आरोप लगाया था। इसके बाद सचिन पायलट की ओर से कहा गया था कि उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। जिस विधायक के जरिए उन पर आरोप लगाए गए हैं वह उस पर सख्त कानूनी कार्यवाही करेंगे। उसी के अनुरूप सचिन पायलट की ओर से गिराज सिंह मलिंगा को कानूनी नोटिस भेजा गया है।

    19:01 (IST)22 Jul 2020
    ईडी ने कसा गहलोत पर शिकंजा

    इससे पहले प्रदेश में सियासी संकट के बीच ईडी ने पहली बार राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के परिवार पर शिकंजा कसा। ईडी की टीम बुधवार को जोधपुर में गहलोत के बड़े भाई अग्रसेन गहलोत के आवास पर छापेमारी के लिए पहुंची। बताया जाता है कि ये कार्रवाई राजस्थान, पश्चिम बंगाल, गुजरात और दिल्ली के कई स्थानों पर उर्वरक घोटाले को लेकर की गई।

    18:37 (IST)22 Jul 2020
    कारण बताओ नोटिस नहीं देंगे तो क्या करेंगे: सीपी जोशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में उठाए सवाल

    विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि स्पीकर को बागी विधायकों को कारण बताओ नोटिस भेजने का अधिकार है। उन्होंने कहा, ‘संविधान और सुप्रीम कोर्ट ने जिम्मेदारियां तय की हैं। स्पीकर होने के नाते मैंने कारण बताओ नोटिस दिया। अगर अथॉरिटी कारण बताओ नोटिस जारी नहीं करेगी तो उसका काम क्या होगा।’

    18:11 (IST)22 Jul 2020
    यह है मामला

    बता दें कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए जारी व्हिप का उल्लंघन करने के लिए जोशी ने सचिन पायलट सहित 19 विधायकों को नोटिस जारी किया था। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और कांग्रेस के 18 बागी विधायकों ने अपने खिलाफ अयोग्यता नोटिस को राजस्थान हाई कोर्ट में चुनौती दी।।

    17:18 (IST)22 Jul 2020
    अहम रहने वाली है सीपी जोशी की भूमिका

    राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ सचिन पायलट और उनके गुट के विधायक बगावत पर उतारू हैं। राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने बागी विधायकों को नोटिस जारी करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट की शरण ली है। राजस्थान में चल रहे सियासी ड्रामे में विधानसभा स्पीकर की भूमिका काफी अहम होने वाली है। दरअसल, विधायकों को अयोग्य ठहराने का अधिकार संविधान स्पीकर को देता है, लेकिन इस व्यवस्था को अदालत में चुनौती दी गई है।

    16:56 (IST)22 Jul 2020
    विधायकों को दिए गए हैं सिर्फ कारण बताओ नोटिस: विधानसभा स्पीकर

    हाई कोर्ट ने मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष से कांग्रेस के बागी विधायकों के खिलाफ अयोग्यता नोटिस पर कार्रवाई 24 जुलाई तक टालने का आग्रह किया। इस पर जोशी ने नोटिस पर कार्यवाही 24 जुलाई की शाम तक स्थगित रखने का फैसला किया है। विधायकों को नोटिस के बारे में जोशी ने कहा कि इन विधायकों को केवल कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं कोई फैसला नहीं हुआ है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि इस मामले में हाई कोर्ट को जो भी फैसला आया है उसका उन्होंने पालन किया है।

    16:01 (IST)22 Jul 2020
    व्हिप का उल्लंघन करने पर जारी किया गया था नोटिस

    कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए जारी व्हिप का उल्लंघन करने के लिए जोशी ने सचिन पायलट सहित 19 विधायकों को नोटिस जारी किया था। पायलट और कांग्रेस के 18 बागी विधायकों ने अपने खिलाफ अयोग्यता नोटिसों को राजस्थान हाई कोर्ट में चुनौती दी। कोर्ट ने मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष से कांग्रेस के बागी विधायकों के खिलाफ अयोग्यता नोटिस पर कार्रवाई 24 जुलाई तक टालने का आग्रह किया था।

    15:39 (IST)22 Jul 2020
    सीएम गहलोत के बड़े के 13 ठिकानों पर ईडी की छापेमारी

    ईडी के अधिकारियों ने बताया कि सीएम अशोक गहलोत के भाई के ठिकानों पर एक उर्वरक घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले के मामले में देशव्यापी छापेमारी की गई है। उन्होंने केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा राजस्थान, पश्चिम बंगाल, गुजरात और दिल्ली में कम से कम 13 स्थानों पर तलाशी ली जा रही है।

    15:14 (IST)22 Jul 2020
    सीपी जोशी बोले संविधान में कोर्ट और विधानसभा के अधिकार तय हैं

    अध्यक्ष सीपी जोशी ने बुधवार को कहा संविधान में कोर्ट और विधानसभा के अधिकार तय हैं। मैं स्पीकर के पद की गरिमा का सम्मान बनाए रखने के पक्ष में हूं। उन्होंने कहा मैं कोर्ट का सम्मान करता हूं। पहले कोर्ट ने 21 जुलाई तक का समय दिया तो मैंने उसका सम्मान किया, फिर मंगलवार को कोर्ट ने कहा कि 24 तारीख तक स्पीकर कोई निर्णय नहीं करे मैं उसका भी सम्मान करता हूं।

    14:12 (IST)22 Jul 2020
    राजस्थान: पायलट गुट को मिली राहत पर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे स्पीकर, नहीं हुई तत्काल सुनवाई

    राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने डिप्टी सीएम सचिन पायलट समेत कांग्रेस के 19 बागी विधायकों के खिलाफ अयोग्यता की कार्यवाही 24 जुलाई तक टालने के हाई कोर्ट के निर्देश के खिलाफ बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की। हाई कोर्ट ने मंगलवार को कहा था कि पायलट सहित 19 विधायकों की याचिका पर 24 जुलाई को उचित आदेश सुनाया जाएगा। इस याचिका में विधान सभा अध्यक्ष द्वारा विधायकों को भेजे गए अयोग्य ठहराए जाने संबंधी नोटिस को चुनौती दी गई है। अदालत ने अध्यक्ष से अयोग्यता की कार्यवाही 24 जुलाई तक टालने को कहा था। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

    13:39 (IST)22 Jul 2020
    सचिन पायलट ने कांग्रेसी विधायक को भेजा कानूनी नोटिस

    कांग्रेस के बागी सचिन पायलट ने अपने ऊपर भाजपा में जाने के लिए पैसों की पेशकश करने के आरोप लगाने वाले कांग्रेस के विधायक को कानूनी नोटिस भेजा है। पायलट के करीबी सूत्रों ने बताया कि पायलट की ओर से विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा को कानूनी नोटिस भेजा गया है। पायलट का कहना है कि विधायक ने उनके खिलाफ झूठे और द्वेषपूर्ण बयान दिए। कांग्रेस विधायक मलिंगा ने सोमवार को आरोप लगाया था कि तत्कालीन उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने उनसे पार्टी छोड़कर भाजपा में जाने के बारे में चर्चा की थी और इसके लिए धन की पेशकश भी की थी। पायलट ने इस आरोप को ''आधारहीन व अफसोसजनक'' बताते हुए खारिज कर दिया और कहा था कि विधायक से यह बयान दिलवाया गया है और वह उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करेंगे।

    13:02 (IST)22 Jul 2020
    सुप्रीम कोर्ट ने तुरंत मामले में सुनवाई से किया इनकार

    बुधवार सुबह जब स्पीकर के वकील कपिल सिब्बल ने आज ही राजस्थान मामले की सुनवाई की जाने की अपील की तो चीफ जस्टिस ने इससे इनकार कर दिया। उनहोंने कहा कि आप इसे रजिस्ट्रार के सामने मेंशन करें, वो ही बताएंगे। चीफ जस्टिस ने कहा कि वहीं से ही पता लगेगा कि मामला कब सूचीबद्ध होगा।

    12:31 (IST)22 Jul 2020
    मोदी सरकार की रणनीति फेल हुई तो सीबीआई भेज दी: कांग्रेस

    कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने बुधवार को कहा कि पीएम मोदी और उनकी सरकार की रणनीति विफल होने के बाद विधायक कृष्णा पूनिया के आवास पर छापेमारी करने के लिए एक सीबीआई टीम भेजी। जिसने खेल के क्षेत्र में भी देश में उत्थान किया। यह विधायकों पर दबाव बनाने का एक तरीका था।

    11:47 (IST)22 Jul 2020
    राजस्थान में सियासी हलचल तेज, गहलोत के बड़े के आवास पर ईडी की छापेमारी

    राजस्थान में सियासी संकट के बीच ईडी ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बड़े भाई के यहां छापेमारी की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ईडी की टीम बुधवार को जोधपुर में सीएम गहलोत के बड़े भाई अग्रसेन गहलोत के आवास पर पहुंची। मामले में अभी ज्यादा जानकारी का इंतजार है।

    10:59 (IST)22 Jul 2020
    सचिन पायलट के समर्थन में 26 जुलाई को होगी महापंचायत

    राजस्थान में सियासी संकट के बीच यूपी के गौतमबुद्ध नगर के लोगों ने अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बिगुल फूंक दिया हैं। गुर्जर समाज के साथ अन्य लोग भी भी राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पक्ष में आ गए हैं। 26 जुलाई को गुरुग्राम में होनी वाली महापंचायत में शामिल होने के लिए प्रचार करना शुरू कर दिया हैं।

    10:20 (IST)22 Jul 2020
    राजस्थान: पायलट गुट को मिली राहत पर स्पीकर जाएंगे सुप्रीम कोर्ट, पूर्व डिप्टी सीएम ने कांग्रेस विधायक को भेजा लीगल नोटिस

    विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने राजस्थान हाई कोर्ट के आग्रह पर सहमति जताई और अयोग्यता नोटिस पर अपना फैसला शुक्रवार शाम तक के लिए टाल दिया। मगर राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि वो विधायकों को नोटिस मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) दायर करेंगे। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

    09:39 (IST)22 Jul 2020
    सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत कैबिनेट का अहम फैसला

    राजस्थान सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत कैबिनेट ने एक अहम फैसला लिया है। इसके तहत मंत्रिमंडल ने उद्योगों को राहत देने के लिए रीको के माध्यम से करीब 220 करोड़ रुपए के राहत पैकेज की घोषणा की है। इसके अलावा 31 दिसम्बर, 2020 तक सेवा शुल्क एवं आर्थिक किराए की राशि एकमुश्त जमा करवाने पर ब्याज में शत-प्रतिशत की छूट, आवंटित भूखण्ड पर गतिविधि प्रारम्भ करने के लिए दी गई अवधि में हुई देरी के नियमितिकरण पर लगने वाले प्रभार में छूट मिल सकेगी। इसके अलावा राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन से प्रभावित हुए 35 लाख जरूरतमंद परिवारों को आर्थिक सम्बल एवं तात्कालिक राहत देने के लिए एक हजार रुपए की अनुग्रह राशि एक बार और देने का महत्वपूर्ण निर्णय किया है। इस पर 351 करोड़ रूपए खर्च होंगे।

    08:56 (IST)22 Jul 2020
    होटल में ऐसे समय काट रहे कांग्रेसी विधायक

    08:16 (IST)22 Jul 2020
    पायलट ने अपने ऊपर लगे आरोप पर विधायकों को भिजवाया नोटिस

    सचिन पायलट ने अपने ऊपर भाजपा में जाने के लिए पैसों की पेशकश करने के आरोप लगाने वाले कांग्रेस के विधायक को कानूनी नोटिस भेजा है। पायलट के करीबी सूत्रों ने मंगलवार रात बताया कि पायलट की ओर से विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा को कानूनी नोटिस भेजा गया है। पायलट का कहना है कि विधायक ने उनके खिलाफ झूठे और द्वेषपूर्ण बयान दिये।कांग्रेस विधायक मलिंगा ने सोमवार को आरोप लगाया था कि तत्कालीन उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने उनसे पार्टी छोड़कर भाजपा में जाने के बारे में चर्चा की थी और इसके लिए धन की पेशकश भी की थी। पायलट ने इस आरोप को ''आधारहीन व अफसोसजनक'' बताते हुए खारिज कर दिया और कहा था कि विधायक से यह बयान दिलवाया गया है और वह उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करेंगे।

    07:28 (IST)22 Jul 2020
    बंगाल की सीएम ममता ने केंद्र पर लगाए गंभीर आरोप

    पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को भाजपा नीत राजग सरकार पर आरोप लगाया कि वह केंद्रीय एजेंसियों एवं धन बल का इस्तेमाल करके विपक्ष शासित राज्यों की चुनी हुई सरकारों को गिराने के प्रयास के लिए ‘‘साजिश रच’’ रही है। बनर्जी ‘शहीद दिवस’ पर तृणमूल कांग्रेस की एक आनलाइन रैली को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने परोक्ष तौर पर भाजपा की ओर इशारा करते हुए घोषणा की कि पश्चिम बंगाल ‘‘बाहरी’’ नहीं बल्कि उसके अपने लोगों द्वारा शासित किया जाता रहेगा। बनर्जी ने आरोप लगाया कि केंद्र ने बंगाल को संसाधनों से वंचित किया है और कहा कि जनता राज्य के साथ किये गए अन्याय के लिए उसे उचित जवाब देगी। उन्होंने कहा, ‘‘केंद्र सरकार द्वारा बंगाल की चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों और धनबल का इस्तेमाल करके एक षड्यंत्र रचा जा रहा है। भाजपा देश की अब तक की तोड़फोड करने वाली सबसे बड़ी पार्टी है।’’

    06:16 (IST)22 Jul 2020
    सीएम ने कहा सरकार स्थिर, पांच साल चलाएंगे सरकार

    राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि उनकी सरकार पूरी तरह से स्थिर व मजबूत है जो पांच साल तक राज्य की जनता की सेवा करती रहेगी। इसमें किसी को कोई संदेह नहीं होना चाहिए। जो लोग सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रहे हैं, वे पराजित होंगे।  

    05:28 (IST)22 Jul 2020
    हाईकोर्ट का फैसला आज, स्पीकर से कार्रवाई टालने का आग्रह

    राजस्थान उच्च न्यायालय ने मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष से कांग्रेस के बागी विधायकों के खिलाफ अयोग्यता नोटिस पर कार्रवाई 24 जुलाई तक टालने का आग्रह किया। अदालत शुक्रवार को सचिन पायलट और 18 बागी विधायकों की याचिका पर उपयुक्त आदेश जारी करेगी। विधानसभा अध्यक्ष के वकील ने इस बारे में बताया। मामले में मंगलवार को दलीलें सुनी गयी और यह संपन्न हो गयी। सभी पक्षों को शुक्रवार तक लिखित में अपनी दलील पेश करने को कहा गया है। पीठ जब दिन की अपनी सुनवाई को खत्म करने की ओर था, लगभग उसी समय अन्यत्र मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक में विधायकों को संबोधित किया, जहां उन्होंने बागियों पर ‘‘विश्वासघात’’ करने का आरोप लगाया।

    22:42 (IST)21 Jul 2020
    हम दो भाइयों का ये शासन नहीं करेंगे बर्दाश्त- ममता का मोदी-शाह पर निशाना

    ममता बनर्जी ने आगे कहा, ‘‘जब देश कोविड-19 महामारी से लड़ने में व्यस्त है, भाजपा मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान और पश्चिम बंगाल की चुनी हुई सरकारों को अस्थिर करने में व्यस्त है।’’ तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के गुजराती मूल की ओर इशारा करते हुए राजस्थान में राजनीतिक उथल-पुथल को लेकर केंद्र पर तीखा हमला बोलते हुए कहा, ‘‘गुजरात को सभी राज्यों पर शासन क्यों करना चाहिए? हम दो भाइयों (नरेंद्र मोदी और अमित शाह) का यह शासन बर्दाश्त नहीं करेंगे। संघीय ढांचे की क्या जरूरत है? एक राष्ट्र-एक पार्टी प्रणाली बना दें।’’

    21:43 (IST)21 Jul 2020
    भाजपा देश की तोड़फोड करने वाली अब तक की सबसे बड़ी पार्टी- ममता का मोदी सरकार पर वार

    पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को भाजपा नीत राजग सरकार पर आरोप लगाया कि वह केंद्रीय एजेंसियों एवं धन बल का इस्तेमाल करके विपक्ष शासित राज्यों की चुनी हुई सरकारों को गिराने के प्रयास के लिए ‘‘साजिश रच’’ रही है। उन्होंने ‘शहीद दिवस’ पर अपनी पहली डिजिटल रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘केंद्र सरकार द्वारा बंगाल की चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों और धनबल का इस्तेमाल करके एक षड्यंत्र रचा जा रहा है। भाजपा देश की तोड़फोड करने वाली अब तक की सबसे बड़ी पार्टी है।’’

    20:55 (IST)21 Jul 2020
    राजस्थान संकटः जनसत्ता कार्टून

    19:45 (IST)21 Jul 2020
    बोले खुर्शीद- संकट सम्मानजनक तरीके से सुलझाया जाए

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने मंगलवार को राजस्थान संकट से निपटने के लिए एक सम्मानजनक सूत्र (फार्मूला) अपनाने की वकालत की। साथ ही वह सचिन पायलट के साथ तालमेल बिठाने के भी पक्ष में दिखाई दिए, जिन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ बगावत कर दी है। कांग्रेस के नेता होने के नाते और उनके करीबी मित्र रहे दिवंगत कांग्रेस नेता राजेश पायलट के पुत्र को बचपन से ही बहुत अच्छे से जानने वाले खुर्शीद ने कहा कि वह राजस्थान में जारी घटनाक्रम से काफी निराश हैं। पायलट को पार्टी में वापस लाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य के किसी भी नेता को जोकि पार्टी में वापस आना चाहता है उसकी वापसी के प्रयास करने चाहिए।

    19:12 (IST)21 Jul 2020
    पार्टी मीटिंग को हुआ था व्हिप जारी, पर...

    सीएम आवास पर हुई पार्टी की मीटिंग के लिए व्हिप जारी किया गया था। लेकिन इसके बावजूद सचिन पायलट समेत उनके समर्थक 18 विधायक इन बैठकों में शामिल नहीं हुए थे। इस पर विधानसभा स्पीकर ने बागी विधायकों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। इस नोटिस के खिलाफ ही पायलट गुट हाईकोर्ट पहुंचा था। पायलट गुट का तर्क है कि विधानसभा सत्र नहीं चल रहा है और उसी के लिए पार्टी व्हिप जारी कर सकती है।

    18:23 (IST)21 Jul 2020
    ‘नमस्ते ट्रंप’ और राजस्थान में सरकार गिराने के प्रयास से कोरोना के खिलाफ देश ‘आत्मनिर्भर’ हुआ: राहुल

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर मंगलवार को सरकार पर निशाना साधा और कटाक्ष करते हुए कहा कि ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम, राजस्थान में सरकार गिराने की कोशिश तथा कई अन्य ‘उपलब्धियों’ के कारण देश कोरोना के खिलाफ लड़ाई में ‘आत्मनिर्भर’ हो गया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ कोरोना काल में सरकार की उपलब्धियां: फरवरी में नमस्ते ट्रंप, मार्च में मध्य प्रदेश में सरकार गिराई, अप्रैल में मोमबत्ती जलवाई, मई में सरकार की 6वीं सालगिरह, जून में बिहार में वर्चुअल रैली और जुलाई में राजस्थान सरकार गिराने की कोशिश।’’ कांग्रेस नेता ने तंज कसते हुए कहा, ‘‘इसीलिए देश कोरोना की लड़ाई में 'आत्मनिर्भर' है।’’ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, मंगलवार को कोविड-19 के 37,148 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 11,55,191 हो गए। वहीं 587 और लोगों की जान जाने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 28,084 हो गई।

    17:31 (IST)21 Jul 2020
    हर हाल में जीत हमारी होगी- CM अशोक गहलोत का दावा

    राजस्थान में जारी राजनीतिक रस्साकशी के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को विश्वास जताया कि मौजूदा राजनीतिक संग्राम में 'जीत हमारी ही होगी क्योंकि सत्य हमारे साथ है' और दावा किया कि राज्य सरकार पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी। गहलोत कांग्रेस विधायक दल की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक के बाद जारी एक बयान के अनुसार गहलोत ने कहा,' सत्य ही ईश्वर है ईश्वर ही सत्य है और सत्य हमारे साथ है इसलिए हर हाल में जीत हमारी होगी । सत्य की होगी।'

    16:41 (IST)21 Jul 2020
    राजस्थान कांग्रेस विधायक दल की बैठक, गहलोत ने कहा सरकार पर कोई संकट नहीं

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को विश्वास जताया कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर किसी प्रकार का संकट नहीं है और राज्य सरकार पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी। प्रदेश कांग्रेस विधायक दल की मंगलवार को हुयी बैठक में मुख्यमंत्री ने यह बयान दिया । कांग्रेस विधायक दल की यह बैठक जयपुर दिल्ली मार्ग पर उसी होटल में हुई जहां विधायक पिछले कुछ दिनों से रुके हुए हैं। पार्टी प्रवक्ता के अनुसार गहलोत ने बैठक में कहा कि सरकार पांच साल चलेगी। गहलोत ने कहा, ‘‘सत्य की विजय होगी, सत्य ही ईश्वर है ईश्वर ही सत्य है और सत्य हमारे हमारे साथ है।’’

    16:16 (IST)21 Jul 2020
    राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना

    राहुल गांधी ने राजस्थान में जारी सियासी उठा-पटक को कोरोना काल में मोदी सरकार की उपलब्धि बता दिया है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि कोरोना काल में सरकार की उपलब्धियां- फरवरी में नमस्ते ट्रंप, मार्च में एमपी में सरकार गिरायी, अप्रैल में मोमबत्ती जलवाई, मई में सरकार की 6वीं सालगिरह, जून में बिहार में वर्चुअल रैली और जुलाई में राजस्थान सरकार गिराने की कोशिश। इसीलिए देश कोरोना की लड़ाई में आत्मनिर्भर है।

    15:19 (IST)21 Jul 2020
    केन्द्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत ने गहलोत सरकार पर साधा निशाना

    केन्द्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्वीट कर अशोक गहलोत सरकार पर निशाना साधा है। शेखावत ने लिखा कि यह कोरोना से लड़ने का समय था और आप अंताक्षरी खेलने लगे! यह गरीब को भोजन देने का समय था और आप इटालियन बनाना सीखने लगे! राजस्थान सतर्क है, सब देख रहा है।

    14:47 (IST)21 Jul 2020
    'कांग्रेस सिर्फ ट्वीट की पार्टी बनकर रह जाएगी'

    केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा है कि राहुल गांधी हर रोज ट्वीट कर केन्द्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इस तरह कांग्रेस सिर्फ ट्वीट की पार्टी बनकर रह जाएगी क्योंकि वह जनता के बीच जाकर कुछ नहीं कर रहे हैं।

    14:24 (IST)21 Jul 2020
    शेखावत बोले- राजस्थान के सियासी संकट की स्क्रिप्ट गहलोत ने ही लिखी है

    केन्द्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने ऑडियो टेप कांड और राजस्थान के सियासी हालात को लेकर कहा है कि इसकी स्क्रिप्ट गहलोत ने ही लिखी है और वही इसके डायरेक्टर और प्रोड्यूसर हैं। शेखावत ने कहा कि गहलोत सचिन पायलट का राजनीतिक करियर खत्म और मुझे बदनाम करना चाहते हैं। 

    13:24 (IST)21 Jul 2020
    कांग्रेस विधायक दल की जयपुर के होटल फेयरमोंट में बैठक शुरू

    जयपुर के होटल फेयरमोंट में कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू हो चुकी है। इस बैठक में सीएम अशोक गहलोत, कांग्रेस नेता अजय माकन, राजस्थान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह दोतासार आदि नेता मौजूद हैं।

    13:02 (IST)21 Jul 2020
    प्रकाश जावड़ेकर ने साधा राहुल गांधी पर निशाना

    केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधी की बीते 6 माह में उपलब्धियां शाहीन बाग और फरवरी में दंगे, सिंधिया और एमपी में सरकार को खोना, मजदूरों को भड़काना और चीन का पक्ष रखना है।

    12:33 (IST)21 Jul 2020
    महेश जोशी की तरफ से पेश हुए देवदत्त कामत बोले- पार्टी अनुशासन का उल्लंघन करने पर कार्रवाई होनी चाहिए

    राजस्थान में मुख्य सचेतक महेश जोशी की तरफ से हाईकोर्ट की सुनवाई में वरिष्ठ वकील देवदत्त कामत दलीलें दे रहे हैं। इस दौरान कामत ने अपनी दलील में कहा है कि संसदीय समिति की रिपोर्ट में कहा गया है कि जो लोग पार्टी के अनुसाशन का उल्लंघन करते हैं, उनके खिलाफ अयोग्य ठहराए जाने की कार्रवाई होनी चाहिए।

    11:59 (IST)21 Jul 2020
    एसीबी ने बागी विधायकों के घर नोटिस चस्पा किया

    राजस्थान में एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने बागी विधायकों भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह के घर पर नोटिस चस्पा दिए हैं और दोनों विधायकों को पूछताछ के लिए जयपुर ऑफिस बुलाया है।

    Next Stories
    1 बारहवीं की किताब में आर्टिकल 370 हटाने का ज़िक्र, NCERT ने इसी सत्र से किया बदलाव
    2 मैनें अशोक गहलोत के बेटे को हराया, वो मुझे बदनाम करना चाहते हैं, टेपकांड पर बोले केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत
    3 विरोध के बावजूद छत्‍तीसगढ़ में सरकार ने शुरू किया गोबर खरीदना, जानिए क्‍या है योजना
    यह पढ़ा क्या?
    X