ताज़ा खबर
 

राजस्थानः ज‍िस कॉलेज का वजूद नहीं वहां से विधायक ने पास कर ली परीक्षा, जालसाजी का मुकदमा दर्ज

राजस्थान में कांग्रेस विधायक गिरिराज सिंह का नाम नौवीं कक्षा के फर्जी सर्टिफ‍िकेट बनवाने में आने के बाद उन पर एफआईआर दर्ज की गई है।

कांग्रेस विधायक गिरिराज सिंह राहुल गांधी के साथ फोटो सोर्स- सोशल मीडिया/फेसबुक(Girrajsinghmalingaofficial)

राजस्थान में कांग्रेस विधायक गिरिराज सिंह का नाम नौवीं कक्षा के फर्जी सर्टिफ‍िकेट बनवाने में आने के बाद उन पर एफआईआर दर्ज की गई है। बताया जा रहा है कि विधायक ने नौवीं कक्षा धौलपुर के बाड़ी के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज से पास करने का जो हलफनामा चुनाव आयोग में दायर क‍िया था वह गलत साबित हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक व‍िधानसभा चुनाव में ग‍िर‍िराज ने जो हलफनामा दायर क‍िया था उसके अनुसार, उन्होंने नौवीं कक्षा बाड़ी के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज से 1990-91 में पास की थी। लेकिन जांच करने पर सामने आया क‍ि उस समय ये कॉलेज ही नहीं था।

बता दें कि गिरिराज सिंह राजस्थान के धौलपुर की बाड़ी विधानसभा से कांग्रेस पार्टी के विधायक हैं। विधायक पर आरोप है कि उन्होंने राजस्थान से कक्षा 9 का फर्जी प्रमाण पत्र बनवाने के बाद आगरा के डीएवी इंटर कालेज से हाईस्कूल की परीक्षा पास की थी। इस फर्जी प्रमाण पत्र का जिक्र उन्होंने चुनाव आयोग में दायर अपने हलफनामे में भी किया था। जिसके बाद हलफनामा गलत होने की शिकायत आगरा के ड‍िस्ट्र‍िक्ट इंस्पेक्टर ऑफ स्कूल्स (डीआईओएस) को इसकी श‍िकायत म‍िली। जिसके बाद जांचकर्ता रविंद्र स‍िंह ने जब नौवीं कक्षा के सर्टिफ‍िकेट को देखा तो जांच में इसे फर्जी पाया।

दावा किया जा रहा है कि 1990 में जब स्कूल आठवीं कक्षा तक था तो नौवीं का सर्टिफ‍िकेट विधायक को कैसे म‍िल गया। जांच में सामने आया है कि 2015 में इस स्कूल को 12वीं कक्षा तक की परम‍िशन म‍िली थी। इसल‍िए ग‍िर‍िराज स‍िंह का यह सर्टिफ‍िकेट फर्जी है।

मामले के सामने आने के बाद डीआईओएस ने डीएवी इंटर कॉलेज के प्र‍िंस‍िपल को विधायक ग‍िर‍िराज स‍िंह के ख‍िलाफ जालसाजी का केस दर्ज करने का आदेश द‍िया। जिसके बाद ग‍िर‍िराज के ख‍िलाफ आगरा के एमएम गेट पुल‍िस स्टेशन में मामला दर्ज हुआ। फिलहाल घटना के बाद गिरिराज सिंह ने इसे विरोधियों की साज़िश करार दिया। उन्होंने कहा विरोधी उन्हें फंसाने का काम कर रहे है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App