ताज़ा खबर
 

‘कहां है कर्जमाफी?’, राजस्थान में किसान की आत्महत्या, सुसाइड नोट में ठहराया सीएम गहलोत और पायलट को जिम्मेदार

अपने सुसाइड नोट में सोहन कडेल ने सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह यह कदम उठाने के लिए इसलिए मजबूर हुआ क्योंकि सरकार ने किसानों की कर्जमाफी के अपने वादे को पूरा नहीं किया!

Author नई दिल्ली | June 25, 2019 3:12 PM
राजस्थान की सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट। (file pic/pti)

राजस्थान में एक किसान ने कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या कर ली है। इस किसान ने आत्महत्या से पहले एक वीडियो रिकॉर्ड किया और दो पेज का सुसाइड नोट भी छोड़ा है। इस सुसाइड नोट में किसान ने राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार पर आरोप लगाए हैं। दरअसल किसान ने सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट पर कर्जमाफी के वायदे को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया है। खबर के अनुसार, घटना राजस्थान के श्री गंगानगर जिले के ठाकरी गांव की है। जहां रहने वाले किसान सोहन लाल कडेल ने रविवार को कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। 45 वर्षीय सोहन लाल कडेल ने आत्महत्या करने से पहले अपने फेसबुक प्रोफाइल पर एक वीडियो शूट करके अपलोड किया। इस वीडियो से ही सोहन लाल के परिजनों और पड़ोसियों को उसके आत्महत्या करने के इरादे का पता चला। लेकिन जब तक लोग किसान के पास पहुंचते, उसने जहर खाकर आत्महत्या कर ली।

अपने सुसाइड नोट में सोहन कडेल ने सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह यह कदम उठाने के लिए इसलिए मजबूर हुआ क्योंकि सरकार ने किसानों की कर्जमाफी के अपने वादे को पूरा नहीं किया! टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के अनुसार, सोहन कडेल के पास 6 बीघा जमीन थी और उस पर सिंडिकेट बैंक का करीब 1.23 लाख का लोन था। उल्लेखनीय है कि अशोक गहलोत सरकार ने किसानों द्वारा सहकारी बैंकों से लिए कर्ज की माफी की कोशिशें शुरु कर दी हैं। हालांकि सरकार, सरकारी बैंकों से लिए कर्ज की माफी नहीं कर सकी है, क्योंकि ये बैंक केन्द्र सरकार के अधीन आते हैं।

वहीं कर्जमाफी ना होने के चलते किसान द्वारा आत्महत्या किए जाने पर विपक्षी पार्टी भाजपा ने सरकार पर निशाना साधा है। राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के नेता आर.राठौर का कहना है कि ‘किसान जो आत्महत्या कर रहे हैं, वह कर्जमाफी के वादे पर खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। किसान ने लिखा है कि इसके लिए सीएम और डिप्टी सीएम जिम्मेदार हैं, ऐसे में यह मामला आईपीसी की धारा 306 के तहत आता है।’ बता दें कि राजस्थान विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस ने अपने चुनाव प्रचार में किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App