ताज़ा खबर
 

बीजेपी के बागी विधायक ने अब कांग्रेस प्रत्याशी साफिया को बताया ‘नागिन’

राजस्थान की रामगढ़ विधानसभा सीट पर कड़ा मुकाबला है और भाजपा और कांग्रेस दोनों ही तरफ से तीखी बयानबाजी की जा रही है। जिसके बाद यहां मुकाबला काफी रोमांचक हो गया है।

भाजपा नेता ज्ञानदेव आहूजा। (file pic)

अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा एक बार फिर अपने एक बयान को लेकर खबरों में आ गए हैं। दरअसल राजस्थान विधानसभा चुनावों में अलवर जिले की रामगढ़ विधानसभा में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए भाजपा नेता ज्ञानदेव आहूजा ने इस सीट से कांग्रेस प्रत्याशी साफिया खान को ‘नागिन’ बता दिया। इस दौरान भाजपा नेता ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह ‘नागिन का सिर कुचल दें।’ रामगढ़ की इस रैली में ज्ञानदेव आहूजा के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल हुए। उल्लेखनीय है कि हाल ही में रामगढ़ विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी साफिया खान का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायलर हो रहा है।

इस वीडियो में साफिया खान लोगों की एक सभा को संबोधित करती नजर आ रही हैं। इस दौरान साफिया खान लोगों से कह रही हैं कि “आपको चुनाव जीतने के लिए साम-दाम-दंड-भेद, कुछ भी करना पड़े करो। किसी का सिर भी फोड़ना पड़े, सारे हथकंडे अपना लेना, लेकिन चुनाव जीतना है। ये चुनाव साफिया का नहीं आपका है। बूथ पर शाम 7 बजे तक रहना है।” बता दें कि साफिया खान कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और रामगढ़ के पूर्व विधायक जुबेर खान की पत्नी है। यहां से दो बार चुनाव हारने के कारण इस बार जुबेर खान को टिकट नहीं दिया गया है, जिसके चलते उनकी पत्नी साफिया खान को उम्मीदवार बनाया गया है।

वहीं ज्ञानदेव आहूजा की बात करें तो उन्हें भी इस बार भाजपा ने टिकट नहीं दिया है। खास बात ये है कि टिकट ना मिलने से नाराज ज्ञानदेव आहूजा ने भाजपा से इस्तीफा भी दे दिया था और निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। हालांकि बाद में पार्टी ने उन्हें मनाया और उन्हें राजस्थान में पार्टी का उपाध्यक्ष बना दिया। इसके बाद ज्ञानदेव आहूजा ने भी पार्टी हित में निर्दलीय चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया और अपना नामांकन वापस ले लिया। ज्ञानदेव आहूजा इससे पहले गोहत्या और मॉब लिंचिंग पर भी बयानबाजी कर चुके हैं, जिस पर काफी हंगामा हुआ था। भाजपा नेता ने एक बार कहा था कि गोहत्या, आतंकवाद से भी बड़ा अपराध है, क्योंकि आतंकी 2-3 लोगों को मारते हैं, लेकिन गोहत्या से करोड़ो लोगों की भावनाएं आहत होती हैं। वहीं उन्होंने मॉब लिंचिंग की घटनाओं को करोड़ो लोगों के गुस्से का प्रतिफल बताया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App