ताज़ा खबर
 

सचिन पायलट ने वादा निभाया, दो साल बाद किसान के घर फिर रात बिताने पहुंचे

राजस्थान के डिप्टी सीएम और कांग्रेस के राजस्थान अध्यक्ष सचिन पायलट ने रविवार (9 जून) रात संचोर जिले के कसेला गांव स्थित एक खेत में गुजारी।

राजस्थान के डिप्टी सीएम और कांग्रेस के राजस्थान अध्यक्ष सचिन पायलट। फोटो सोर्स: @SachinPilot

राजस्थान के डिप्टी सीएम और कांग्रेस के राजस्थान अध्यक्ष सचिन पायलट ने रविवार (9 जून) रात संचोर जिले के कसेला गांव स्थित एक खेत में गुजारी। इस दौरान पायलट एक झोपड़ी में रुके और नीम की दातुन से ब्रश भी किया। कसेला में रात बिताने के बाद सचिन पायलट ने एक ट्वीट भी किया। उन्होंने लिखा कि 2 साल पहले कसेला के एक किसान से उन्होंने दोबारा आने का वादा किया था, जो अब निभा दिया है।

पायलट ने ट्वीट में लिखी यह बात: सचिन पायलट ने सोमवार (10 जून) दोपहर करीब 3 बजे एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘‘मेरी ताकत का सबसे बड़ा स्रोत राजस्थान के लोगों का प्यार और स्नेह है। करीब 2 साल पहले संचोर जिले के कसेला गांव में किसान जयकिशन जी के घर पर रात गुजारी थी। उस वक्त उनसे वादा किया था कि मैं दोबारा जरूर आऊंगा। पिछली रात मैंने वह वादा निभा दिया।’’

National Hindi News, 10 June 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

पायलट के लिए किए गए थे यह इंतजाम: जानकारी के मुताबिक, सचिन पायलट रविवार रात पायलट कसेला गांव पहुंचे और किसान जयकिशन के खेत में रुके। पायलट के ठहरने के लिए कूलर वाली झोपड़ी बनाई गई। इसकी खासियत थी कि बूंद-बूंद सिंचाई की तर्ज पर झोंपड़ी के चारों तरफ पाइपलाइन बिछाकर पानी का स्प्रे किया जा रहा था, जिससे प्राकृतिक हवा पानी के संपर्क में आकर झोंपड़ी में कूलर की तरह ठंडी हवा दे। इस दौरान पायलट के डिनर में देसी स्वाद का तड़का भी लगाया गया। कृषि फार्महाउस पर ही सचिन पायलट के लिए केर, सांगरी की सब्जी, छाछ की राबड़ी व बाजरे की रोटी बनाई गई। सचिन पायलट के साथ आए अधिकारियों व अन्य नेताओं के लिए भी ठहरने की व्यवस्था थी। सोमवार सुबह सचिन पायलट ने ग्रामीणों से मुलाकात की।

दो साल पहले भी इसी गांव में रुके थे पायलट: बता दें कि सचिन पायलट ने 2 साल पहले 2017 में भी कसेला गांव के किसान जयकिशन के यहां रात्रि विश्राम किया था। जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस आलाकमान के निर्देश पर पार्टी नेताओं को ग्रामीणों के बीच रात्रि विश्राम करना था। इसके लिए पायलट ने स्थानीय नेताओं से राय ली थी, जिसके बाद कसेला गांव को चुना गया था। सचिन पायलट यहां 25 मई 2017 को ठहरे थे। बता दें कि किसान जयकिशन के पास करीब 35 बीघा कृषि भूमि है, जिस पर वे खेतीबाड़ी करते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी की एडिटर्स गिल्ड ने की आलोचना, पत्नी पहुंचीं सुप्रीम कोर्ट
2 बंगाल में हिंसा पर गृह मंत्रालय के सुझाव पर भड़की TMC, कहा- यह सत्ता हथियाने की चाल
3 पश्चिम बंगाल हिंसा पर गिरिराज सिंह का हमला, कहा- ममता बनर्जी की उल्टी गिनती शुरू
ये पढ़ा क्या?
X