ताज़ा खबर
 

राजस्थान में सरकार गिराने की साजिश? CM गहलोत का आरोप- 15-15 करोड़ में BJP हमारे MLA संग कर रही जोड़-तोड़; भगवा पार्टी ने यूं किया पलटवार

अशोक गहलोत ने कहा कि,‘‘हम लोग जहां महामारी से लड़ाई पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं वहीं ये (भाजपा नेता) लोग सरकार कैसे गिरे, किस प्रकार से तोड़ फोड़ करें ... खरीद फरोख्त करें इन तमाम काम में लगे हैं।’’

Congress, BJP, Rajasthanराजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद फरोख्त के आरोप लगाए हैं। (फाइल फोटो)

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि भाजपा नेता राज्य में उनकी निर्वाचित सरकार को गिराने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी और पांच साल चलेगी। गहलोत ने यह भी कहा कि भाजपा के स्थानीय नेता अपने केंद्रीय नेतृत्व के इशारे पर राजस्थान में सरकार को अस्थिर करने का षडयंत्र रच रहे हैं। गहलोत ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ने के लिए मैंने सबको साथ लेकर चलने की कोशिश की। परंतु भाजपा के नेताओं ने मानवता और इंसानियत की सारी हदें तोड़ दी हैं। एक तरफ तो हम जीवन और आजीविका बचाने में लगे हैं तो दूसरी ओर ये लोग सरकार गिराने में लगे हैं।’’

गहलोत के इन आरोपों पर राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि गहलोत अपनी सरकार की नाकामी छिपाने के लिए बीजेपी पर आरोप लगा रहे हैं। उनके आरोप बेबुनियाद हैं। उनके पास नंबर हैं, राजस्थान की सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कौन करेगा। वह अपनी असफलता छिपाने के लिए बीजेपी पर आरोप लगा रहे हैं।

अशोक गहलोत ने कहा कि,‘‘हम लोग जहां महामारी से लड़ाई पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं वहीं ये (भाजपा नेता) लोग सरकार कैसे गिरे, किस प्रकार से तोड़ फोड़ करें … खरीद फरोख्त करें इन तमाम काम में लगे हैं।’’ गहलोत ने कहा,‘‘राजस्थान में सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी …पांच साल चलेगी और अगला चुनाव जीतने की तैयारी में हम लग गए हैं।’’ गहलोत ने अपने संबोधन में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ का नाम लिया।

उन्होंने कहा, ‘‘सतीश पूनियां हो, राजेंद्र राठौड़ हों.. ये जिस तरह का खेल खेल रहे हैं राजस्थान में सरकार को गिराने के लिए अपने केंद्रीय नेताओं के इशारे पर … ये तमाम बातें जनता के सामने आ चुकी हैं। जनता समझ चुकी है।’’ क्या वह इन तीनों को मुख्य किरदार मानते हैं यह पूछे जाने पर गहलोत ने कहा,‘‘ये तीन नाम तो मैंने इसलिए लिए क्योंकि तीन पदों पर बैठे हुए हैं इनके जो आका हैं दिल्ली में जिनकी में आलोचना हमेशा करता रहता हूं … चाहे वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हो या गृहमंत्री अमित शाह हों। वो सहन (टॉलरेट) नहीं कर पा रहे मुझे व मेरी सरकार को। इसलिए उनका लक्ष्य पूरा करने में इन तीनों में प्रतिस्पर्धा है।’’

गहलोत ने कहा,‘‘राजस्थान में सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी …पांच साल चलेगी और अगले चुनाव जीतने की तैयारी में हम लग गए हैं। राजस्थान सरकार अगला चुनाव जीतने की तैयारी में लग गयी है। उसी ढंग से हमने बजट पेश किए हैं और उसी ढंग से हम शासन दे रहे हैं। उसी ढंग से हम संकट की इस घड़ी में काम कर रहे हैं।’’

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 विकास दुबे ने काली कमाई कर थाईलैंड और दुबई में किया था प्रॉपर्टी में निवेश, नोटबंदी से पहले सूद पर लगाए थे 6 करोड़ रुपए!
2 ’10 करोड़ पहले ले लो, 15 करोड़ बाद में’, सीएम अशोक गहलोत ने बीजेपी पर लगाए विधायकों को खरीदने के आरोप, दो गिरफ्तार
3 सपा प्रमुख अखिलेश यादव की बेटी ने 12वीं में लाया 98% मार्क्स, सोशल मीडिया पर मिल रही बधाई
ये पढ़ा क्या?
X