scorecardresearch

कांग्रेस में आंतरिक कलह को खारिज कर बोले अशोक गहलोत- मोदी की हवा में लोग बह गए, लेकिन अब हमें मौका दो

Ashok Gehlot: राहुल गांधी की भारत जोड़ा यात्रा को लेकर अशोक गहलोत ने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी और सद्भाव को लेकर यह यात्रा निकाली जा रही है। इसको लेकर भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार हिली हुई है।

कांग्रेस में आंतरिक कलह को खारिज कर बोले अशोक गहलोत- मोदी की हवा में लोग बह गए, लेकिन अब हमें मौका दो
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Photo- File)

Rajasthan Congress: कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव से बाहर हुए राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने अब राजस्थान विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारी करनी शुरू कर दी है। दरअसल गहलोत ने अपने एक ताजा बयान से साफ कर दिया है कि उनकी मंशा राजस्थान के मुख्यमंत्री पद पर बने रहने की है।

बता दें कि शनिवार(1 अक्टूबर) को अशोक गहलोत ने बीकानेर में कहा, “मैं विनम्र शब्दों में जनता से अनुरोध करता हूं। आप बार बार सरकार बदल देते हैं। मेरे अच्छे काम होते हैं तब भी आप हवा में बह जाते हैं। एक बार कर्मचारियों से हमारा संवाद नहीं हो पाया था, इस वजह से वे नाराज हो गए थे।”

उन्होंने कहा, “हमने गलती मान ली, अगर उस वक्त हमारा संवाद होता तो कांग्रेस सत्ता से बाहर नहीं जाते। उसके बाद फिर देश में मोदी जी का माहौल बना। उस हवा में लोग बह गए। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के चुनाव(आम चुनाव) में हम जीत रहे थे, लेकिन हार गए। लेकिन अब मेरा जनता से अनुरोध है कि आप हमें एक मौका और दें।”

वहीं राहुल गांधी की भारत जोड़ा यात्रा को लेकर अशोक गहलोत ने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी और देश में सद्भावना को लेकर यह यात्रा निकाली जा रही है। इसको लेकर भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार हिली हुई है। इनके पास कुछ बोलने को नहीं है। इसके अलावा कांग्रेस के भीतर हाल ही में दिखे आंतरिक कलह पर गहलोत ने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है। सब कुछ ठीक है।

प्रसादी लाल मीणा की फिसली जुबान:

राजस्थान सरकार में मंत्री परसादी लाल मीणा अपने एक बयान से चर्चा में आ गए हैं। दरअसल मीणा गांधी परिवार की तारीफ में राहुल गांधी को लेकर कहा कि राहुल गांधी ने भी इस देश के लिए बलिदान दिया है।

एक यूट्यूब चैनल से बात करते हुए परसादी लाल मीणा ने कहा, “इस देश में गांधी परिवार को त्याग-बलिदान है, सोनिया गांधी जी का भी कम नहीं है। राहुल गांधी ने अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। इंदिरा जी ने भी अपने प्राण दिए लेकिन आतंकियों के खिलाफ घुटने नहीं टेके। ऐसा परिवार त्याग की मूर्ति है।”

दरअसल परसादी लाल राजीव गांधी कहना चाह रहे थे लेकिन उनकी जुबान फिसली और वो राजीव गांधी की जगह राहुल गांधी बोल गए। उनका यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 01-10-2022 at 07:15:00 pm
अपडेट