ताज़ा खबर
 

हर दिन अस्पतालों में होती है बच्चों की मौत, कोई नई बात नहीं है; CM गहलोत बोले- लेंगे एक्शन

राजस्थान के कोटा स्थित एक सरकारी अस्पताल में एक महीने के अंदर 77 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। इस पर जब हंगामा शुरू हुआ तो जांच की मांग उठने लगी। सरकार ने मामले में सक्रियता दिखाते हुए जांच शुरू करा दी है। हालांकि प्रशासन ने डॉक्टरों की तरफ से किसी भी तरह की लापरवाही से इनकार किया है।

राजस्थान सीएम अशोक गहलोत।

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि देश के हर अस्पताल में बच्चों की 3-4 मौतें रोजाना होती हैं। यह कोई नई बात नहीं है। कहा कि प्रदेश की राजधानी जयपुर में भी होती है। उन्होंने कोटा स्थित एक सरकारी अस्पताल में बच्चों की लगातार मौत को दुखद बताते हुए मीडिया से कहा कि पिछले छह वर्षों में इस साल सबसे कम मौते हुई हैं। कहा कि एक साल में 1500 तक मौते हुई हैं। लेकिन इस साल सिर्फ 900 मौते हुई हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि एक भी मौत नहीं होनी चाहिए।

कोटा के सरकारी अस्पताल में एक महीने के अंदर 77 नवजात शिशुओं की मौत : प्रदेश के कोटा स्थित एक सरकारी अस्पताल में एक महीने के अंदर 77 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। इस पर जब हंगामा शुरू हुआ तो जांच की मांग उठने लगी। सरकार ने मामले में सक्रियता दिखाते हुए जांच शुरू करा दी है। हालांकि प्रशासन ने डॉक्टरों की तरफ से किसी भी तरह की लापरवाही से इनकार किया है।

Hindi News Today, 27 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

मीडिया से बोले सबसे कम मौत इस साल हुई : मीडिया से बात करते हुए सीएम ने कहा, ‘सबसे कम जानें 6 साल में इस साल गई हैं। बच्चों की एक मौत होना भी दुर्भाग्यपूर्ण होता है। पर मौतें एक साल में 1500 भी हुईं हैं, 1400 भी हुई हैं और 1300 भी हुई हैं। इस साल 900 मौतें हुईं हैं, पर 900 क्यों हुईं हैं मौत तो एक भी नहीं होनी चाहिए।’ हमने पूरी तरह जांच  करवाई है और कार्रवाई भी हम कर रहे हैं। क्या सुझाव हो सकता है। पिछले कार्यकाल में भी हमने लंबे अरसे के बाद पहली बार ऑपरेशन थियेटरों को अपग्रेड किया था।’


लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने जताई चिंता
 : शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मीडिया से बात करते हुए कई बच्चों की मौत को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधा। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि हफ्तेभर में कोटा में 77 बच्चों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को ही कोटा के सांसद लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने इस पर चिंता जताई थी। उन्होंने कहा कि कोटा के एक मातृ एवं शिशु अस्पताल में 48 घंटे में 10 नवजात शिशुओं की मौत चिंता का विषय है।

Next Stories
1 ट्रिपल तलाक पीड़ितों को नए साल से मिलेगी पेंशन, यूपी की बीजेपी सरकार का ऐलान
2 सीएए में नागरिकता छीनने का एक भी प्रावधान बताए कांग्रेस
3 फिर सामने आया लालू प्रसाद यादव के परिवार का विवाद, चंद्रिका राय ने बेटी का सामान लेने से किया इन्कार
ये पढ़ा क्या?
X