ताज़ा खबर
 

राजस्थान के भाजपा व कांग्रेस नेताओं को मिली जिम्मेदारी

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में राजस्थानी नेता बड़ी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। इनमें भाजपा और कांग्रेस के नेता तो टिकट बंटवारे जैसे बडेÞ काम में लगे हैं।

Author जयपुर | Updated: January 23, 2017 2:17 AM
राजस्थान के सांसद और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर

राजीव जैन
उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में राजस्थानी नेता बड़ी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। इनमें भाजपा और कांग्रेस के नेता तो टिकट बंटवारे जैसे बडेÞ काम में लगे हैं। इसके अलावा दोनों दलों के कई नेता स्टार प्रचारक के तौर पर उत्तर प्रदेश की जनता के बीच अपने दलों के लिए वोट मांगेंगे। इनमें से कई नेताओं को उनके जातीय आधार वाले जिलों में भेजा जाएगा। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के कारण इन दिनों प्रदेश की सियासत ठंडी चल रही है। प्रदेश के कई बडे नेता तो इन दिनों उत्तर प्रदेश की चुनावी राजनीति में व्यस्त हो गए हैं। राजस्थान के सांसद और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर ने तो पार्टी की तरफ से उत्तर प्रदेश की कमान संभाल रखी है। माथुर पिछले दो वर्ष से वहां प्रभारी के तौर भाजपा संगठन को मजबूती देने में लगे हैं।
राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष रह चुके माथुर आरएसएस के जरिए राजनीति में सक्रिय हुए हैं। उन्होंने गुजरात, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश जैसे बडे राज्यों में भाजपा प्रभारी की हैसियत से चुनावी रणनीति बना कर कामयाबी हासिल की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद माथुर अब उत्तर प्रदेश में अपना सांगठनिक कौशल दिखा रहे हैं। उनके इर्द-गिर्द पिछले दो महीने से उत्तर प्रदेश के नेताओं का ही जमावड़ा दिख रहा है। महत्त्वपूर्ण मामलों में माथुर सीधे प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से सलाह लेते हैं।

माथुर की तरह ही उत्तर प्रदेश भाजपा के संगठन महामंत्री सुनील बंसल भी राजस्थान के ही हैं। संघ की तरफ से भाजपा में भेजे गए बंसल लोकसभा चुनाव के समय से ही उत्तर प्रदेश में पार्टी का काम देख रहे हैं। बंसल पार्टी से जुडी गोपनीय जमीनी रिपोर्ट तैयार कर राष्ट्रीय नेतृत्व को देने का काम करते हैं। उत्तर प्रदेश में टिकट तय करने में माथुर के अलावा बंसल की राय सबसे अहम मानी जा रही है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का उन पर पूरा भरोसा बना हुआ है। उत्तर प्रदेश में भाजपा की तरफ से राजस्थान के ही सांसद और राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव अपनी एक अलग टीम के जरिये जमीनी हकीकत का आकलन करने में लगे हैं। यादव ने बिहार में भी प्रभारी के तौर पर काम किया था। उन्हें यादव बहुल इलाकों की विशेष जिम्मेदारी दी गई है। भाजपा ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को स्टार प्रचारक बनाया है। राजे के दौरे के लिए कार्यक्रम भी तय किया जा रहा है। प्रदेश से राजे और माथुर के अलावा केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल को दलित बहुल इलाकों में प्रचार में भेजा जाएगा।

कांग्रेस ने भी प्रदेश के कई नेताओं को उत्तर प्रदेश में बड़ी जिम्मेदारी दी है। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को टिकट तय करने वाली छानबीन समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। गहलोत को भी कांग्रेस में संगठन को मजबूती देने वाले नेता के तौर पर पहचाना जाता है। गहलोत पूर्व में उत्तर प्रदेश में संगठन के प्रभारी रह चुके हैं। टिकटों के मामले में गहलोत लगातार प्रभारी महासचिव गुलाम नबी आजाद के साथ इन दिनों बैठकें कर रहे हैं। कांग्रेस ने राजस्थान अध्यक्ष सचिन पायलट और प्रदेश के ही नेता राष्ट्रीय महासचिव सीपी जोशी को भी गहलोत के साथ उत्तर प्रदेश में स्टार प्रचारक बनाया है। पायलट को उत्तर प्रदेश के गुर्जर बहुल इलाकों में भेजा जाएगा। इनके अलावा डा गिरिजा व्यास और जाट नेताओं को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भेजने की तैयारी कांग्रेस ने की है।

Next Stories
1 दिल्ली मेरी दिल्ली- संघ की धाक
2 फुल ड्रेस रिहर्सल आज, रेल व मेट्रो सेवा प्रभावित
3 मायूस फ्लैट खरीदार चुनाव में दबाएंगे नोटा का बटन
ये पढ़ा क्या?
X