ताज़ा खबर
 

दस हजार गायों को संरक्षण देगी वसुंधरा सरकार, बीकानेर में बनेगी ‘काऊ सेंक्चुरी’

साल 2013 में राजस्थान की सत्ता में आने के बाद बीजेपी की सरकार ने गायों को सुरक्षा देने का ऐलान किया था और अब बीकानेर में काऊ सेंक्चुरी उसी ऐलान को पूरा करने की दिशा में उठाया गया एक बड़ा कदम है।

Author July 29, 2018 4:03 PM
बकरीद पर गाय की कुर्बानी से परहेज (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

राजस्थान में जल्द ही काऊ सेंक्चुरी बनने जा रही है। बीकानेर में इस सेंक्चुरी को बनाया जाएगा। यह राज्य की पहली काऊ सेंक्चुरी होगी। इसे बीकानेर जिले में करीब 220 हेक्टेयर की जमीन पर बनाया जाएगा, जहां दस हजार गाय रहेंगी। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शुक्रवार को बीकानेर के दौरे पर थीं, जहां उन्होंने काऊ सेंक्चुरी के संबंध में एक प्राइवेट ट्रस्ट के साथ एमओयू में साइन किए। साल 2013 में राजस्थान की सत्ता में आने के बाद बीजेपी की सरकार ने गायों को सुरक्षा देने का ऐलान किया था और अब बीकानेर में काऊ सेंक्चुरी उसी ऐलान को पूरा करने की दिशा में उठाया गया एक बड़ा कदम है। राज्य में पहले से ही गायों के कल्याण के लिए एक मंत्रालय है।

गोपालन राज्यमंत्री ओटाराम देवासी ने जानकारी दी की इस सेंक्चुरी का देखरेख प्राइवेट ट्रस्ट के द्वारा किया जाएगा। ओटाराम ने कहा, ‘राजस्थान में यह पहली काऊ सेंक्चुरी होगी और इसे बीकानेर के नपासार में बनाया जाएगा। इस पूरे इलाके को गायों को दे दिया जाएगा। यह वाइल्डलाइफ सेंक्चुरी के लिए बहुत जरूरी है। एमओयू में शुक्रवार के दिन साइन किए गए हैं और हम जल्द से जल्द इस पर काम करने की सोच रहे हैं।’ देवासी ने कहा, ‘इस सेंक्चुरी में गायों के लिए अस्पताल, चारे के के लिए सेवण घास की व्यवस्था होगी। सेवण घास ऐसी घास होती है जिसे गाय के चारे के लिए सबसे उत्तम माना जाता है।’

सेंक्चुरी का प्रोजेक्ट जिस ट्रस्ट को दिया गया है, उसके सदस्यों का कहना है कि यह सेंक्चुरी जल्द ही पर्यटन स्थल के रूप में मशहूर हो जाएगी। इस सेंक्चुरी की देखरेख सोहनलालजी बुलादेवीजी ओझा गौशाला समिति करेगी। इस समिति के सेक्रेटरी रामपाल ओझा ने जानकारी दी है कि इस सेंक्चुरी में सबसे पहले ऐसी गायों को रखा जाएगा जिनके मालिकों ने उन्हें अब छोड़ दिया है। उन्होंने कहा, ‘इस सेंक्चुरी में उन गायों को प्राथमिकता दी जाएगी, जिन्होंने दूध देना बंद कर दिया है और जिसके कारण उनके मालिकों ने उन्हें छोड़ दिया है और जो अब लावारिस पशु हो गई हैं। तस्करों से छुड़ाई गई गायों और जानवरों को भी इसमें रखा जाएगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App