scorecardresearch

Rajasthan: शराबी के साथ करो शादी या फिर दो 15 लाख- खाप पंचायत का फरमान, बेटी को बचाने पुलिस के पास पहुंचे माता-पिता

लड़की ने पुलिस से कहा कि वह नशेड़ी से शादी नहीं करना चाहती, लेकिन पंचायत के सदस्य उसके परिवार को धमका रहे हैं।

rajasthan | khap panchayat | Suraj Kumari
प्रतीकात्मक तस्वीर।

राजस्थान के बाड़मेर में खाफ पंचायत का एक अजीबो-गरीब फैसला सामने आया है। यहां खाफ पंचायत ने फरमान सुनाया है कि लड़की की शराबी के साथ शादी करो और ऐसा न करने पर 15 लाख रुपये जुर्माना भरो। इस पूरे मामले की शिकायत लड़की के माता-पिता ने पुलिस से की है।

एसपी को दिए ज्ञापन में लड़की के पिता कानाराम रेबारी ने आरोप लगाया कि खाप पंचायत के सदस्य उसकी बेटी की शादी शराबी के साथ करने के लिए मजबूर कर रहे हैं।

दरअसल, गांव में एक परिवार अपनी बेटी को पढ़ाना चाहता है, लेकिन रिश्तेदार और पंच परिवार पर 18 वर्षीय लड़की की शादी करने का दबाव बना रहे हैं। यही नहीं, पंचों ने परिवार को समाज से बहिष्कार करने की धमकी भी दी है और कहा है कि बात नहीं मानने पर 15 लाख रुपये जुर्माना देना लगाया जाएगा।

18 वर्षीय लड़की सूरज कुमारी अपने परिवार के साथ खाप पंचायत के फरमान के खिलाफ शिकायत करने जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) के पास पहुंची। बाड़मेर के गुडमलानी थाना क्षेत्र के ताबो का धोरा गांव निवासी लड़की के पिता कानाराम रेबारी ने एसपी को दिए ज्ञापन में आरोप लगाया कि खाप पंचायत के सदस्य उसकी बेटी की शादी शराबी के साथ करने के लिए मजबूर कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि उनकी बेटी द्वितीय वर्ष में पढ़ रही है। वो आगे भी अपनी पढ़ाई को जारी रखना चाहती है, लेकिन खाप पंचायत के सदस्य उसे धमकी दे रहे हैं कि अगर वह उनके निर्देश का पालन नहीं करती है, तो वे उसका समाज से बहिष्कार करेंगे और 15 लाख रुपये का जुर्माना लगाएंगे। लड़की के पिता ने दावा किया कि पंचायत सदस्यों ने उन्हें चेतावनी दी कि समुदाय में कोई भी उनकी बेटी से शादी नहीं करेगा।

रेबारी ने कहा, “मेरा परिवार डर में है और बेटी ने पिछले तीन दिनों से खाना नहीं खाया है। हम चाहते हैं कि वह पढ़े, लेकिन ये खाप नेता उसका भविष्य खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। आरोपी हमें धमका रहे हैं और अपहरण की योजना बना रहे हैं।

लड़की ने कहा कि वह नशेड़ी से शादी नहीं करना चाहती, लेकिन पंचायत के सदस्य उसके परिवार को धमका रहे हैं। 30 जून को उन्होंने गुडामलानी पुलिस से शिकायत खी थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। बाड़मेर पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने कहा, ‘मैंने गुडमलानी पुलिस को मामले की जांच करने का निर्देश दिया है।’

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X