ताज़ा खबर
 

जयपुर: मोदी के कार्यक्रम से पहले ‘स्वच्छ भारत’ मिशन की उड़ी धज्जियां, खुले में शौच को मजबूर हुए लाभार्थी

केंद्र की मोदी सरकार की देश को स्वच्छ बनाने की मुहिम 'स्वच्छ भारत' को उस वक्त बड़ा धक्का लगा जब सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को कार्यक्रम में शामिल होने से पहले खुले में शौच के लिए मजबूर होना पड़ा।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

केंद्र की मोदी सरकार की देश को स्वच्छ बनाने की मुहिम ‘स्वच्छ भारत’ को उस वक्त बड़ा धक्का लगा जब सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को कार्यक्रम में शामिल होने से पहले खुले में शौच के लिए मजबूर होना पड़ा। राजस्थान के जयपुर में शनिवार (7 जुलाई) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई सरकारी परियोजनाओं के शिलान्यास का अनावरण किया और इस दौरान राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं के लाभार्थियों से सीधे संवाद के लिए आयोजित ‘प्रधानमंत्री- लाभार्थी जनसंवाद’ कार्यक्रम में शिरकत की। इस कार्यक्रम के लिए सरकार की तरफ से लाभार्थियों को आमंत्रित किया गया था लेकिन कार्यक्रम से पहले सुबह के वक्त खुले में शौच के लिए जाते हुए कई लाभार्थी मीडिया के कैमरों में कैद हो गए। एबीपी न्यूज ने ऐसा ही एक वीडियो अपने यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया है। वीडियो में कई लोग प्रतिक्रियाएं देते हुए भी दिखते हैं। जिन लाभार्थियों को खुले ने शौच के लिए जाने की समस्या से दो-चार होना पड़ा, उनकी बातों से सरकारी बदइंतजामी की बात सामने आई।

इस बात की भनक शायद प्रधानमंत्री मोदी या राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भी नहीं होगी कि नित्य कर्म से फारिग होने के लिए सरकार के व्यवस्थापक की तरफ से कथित तौर पर मौके पर बीयर समेत कई प्रकार की खाली बोतलों का ढेर लगवा दिया था, पास नें पानी का टैंकर था और लाभार्थी को बोतलों में पानी भरकर खुले में शौच के लिए जाना पड़ा। यह बात भी कही जा रही है कि लाभार्थियों के लिए शौचालयों की व्यवस्था तो की गई थी लेकिन ने उनकी संख्या के हिसाब से वे अपर्याप्त थे, इसलिए मजबूरन ऐसी तस्वीर सामने आई। ऐसे में जब मोदी सरकार स्वच्छ भारत मिशन के साथ केंद्र में चार साल से ज्यादा का वक्त गुजार चुकी तो यह तस्वीर पूरे अभियान की धज्जियां उड़ाती हुई दिखती है।

पीएम के कार्यक्रम से पहले एक और बात ने लोगों को चौंकाया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन लोगों को रैली पंडाल में प्रवेश नहीं करने दिया गया जिनमें से किसी ने भी काले रंग का कोई कपड़ा पहन रखा था। कार्यक्रम की अच्छी बात यह रही कि पीएम मोदी ने राजस्थान को करीब 2100 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का तोहफा दिया। पीएम मोदी ने 13 शहरी परियोजनाओं के शिलान्यास का अनावरण किया। इस दौरान सूबे की सरकार की 12 योजनाओं से लाभ पाने वाले लोगों के अनुभवों को भी ऑडियो विजुअल माध्यम से दिखाया गया, जिसका संचालन खुद सीएम राजे ने किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App