ताज़ा खबर
 

पटना में पानी-पानी: पंप लगा डिप्टी सीएम का घर बचाया, बाकी सारी जनता हलकान, 2019 में सुशील मोदी ने भी ली थी सड़क पर शरण

बिहार की राजधानी पटना में कुछ ही घंटों की बारिश के बाद भारी जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई। प्रशासन के तमाम दावों के बीच कई इलाको में घुटनों तक पानी भरा हुआ देखा गया।

2019 में घर में पानी घुस जाने के बाद सुशील मोदी (ऊपर बाएं), जलमग्न हुआ पटना (ऊपर दाएं), डिप्टी CM रेणू देवी के आवास में जलजमाव न हो, इसलिए लगाए गए पंप। Photo Source- Social Media

बिहार की राजधानी पटना में कुछ ही घंटों की बारिश के बाद भारी जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई। प्रशासन के तमाम दावों के बीच कई इलाको में घुटनों तक पानी भरा हुआ देखा गया। माननीयों के आवास और बिहार विधानमंडल भी पानी-पानी नजर आया। कुछ ही घंटों की बारिश के बाद गांधी मैदान, स्टेशन रोड और डाक बंगला चौराहे पर कई फीट पानी जम गया। पिछली बार हुई किरकिरी को देखते हुए प्रशासन ने विशेष तैयारी की थी, डिप्टी सीएम रेणु देवी के आवास पर पंप लगाए गए थे, इस बार की बारिश में वह काम कर गए लेकिन हैरान करने वाली बात यह रही कि जनता इससे परेशान होती रही।

घरों में घुसा पानी: राजेंद्रनगर और कंकड़ बाग जैसे इलाकों में पानी लोगों के घरों के भीतर घुस गया है। करोड़ों खर्च करके बनाए गए नाले भी इस बारिश के आगे बेबस नजर आए। विधानमंडल भी इससे अछूता नहीं रहा, जहां अगले कुछ दिनों में मानसून सत्र होना है, वह भी बारिश के कारण जलमग्न हो गया। पिछले दिनों भी पटना में हुई बारिश के बाद विधानमंडल के जलमग्न होने की तस्वीरें सामने आई थीं।

कांग्रेस मैदान, जगत नारायण रोड और लोहनीपुर जैसे इलाकों में पानी निकालने के लिए अस्थायी पंप लगाए गए लेकिन कुछ खास कामयाबी नहीं मिली, जिसके कारण परेशानी और बढ़ गई। वहीं मुख्य सड़कों पर कई जगहों के खुले मेनहोल दुघर्टनाओं को दावत दे रहे हैं। जिन इलाकों से पानी निकाला जा चुका है वहां फिसलन युक्त कीचड़ लोगों के लिए नई परेशानी बन गया है।

आज भी बारिश के आसार: बिहार मौसम विभाग के अनुसार राज्य में 20 जुलाई तक गरज के साथ बारिश के आसार हैं। बिहार के पटना के अलावा बेगूसराय, गया सहित कई इलाकों में पानी बरसने की संभावना जताई गई है।

बारिश ने कई बार कराई किरकिरी: बिहार में बारिश प्रशासन की कई बार किरकिरी करा चुका है। साल 2019 में हुई बारिश के कारण तत्कालीन डिप्टी सीएम सुशील मोदी को उनके आवास से रेस्क्यू कराना पड़ा था। पिछले दिनों हुई बारिश के बाद डिप्टी सीएम रेणुदेवी का आवास जलमग्न हो गया था। वहीं बिहार विधानमंडल भी भारी जल जमाव का सामना कर रह रहा था। इस बार प्रशासन से तैयारियां तो की थी लेकिन कुछ ही जगहों पर वह कामयाब रहीं। डिप्टी सीएम का घर को बारिश के पानी से बचा लिया लेकिन उन्हीं के पड़ोस में रहने वाले नंद किशोर यादव को तवज्जों नहीं मिली, बारिश के बाद उनके आवास पर पानी लगा हुआ दिखाई दिया।

Next Stories
1 ‘मुख्यमंत्री ने कुछ गलत नहीं किया तो फिर FIR का डर क्यों’, अधिकारी के समर्थन में उतरे तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना
2 लालू-राबड़ी के बेटे तेज प्रताप बने बिजनेसमैन, शुरू किया अगरबत्ती का कारोबार
3 सहनी के पीछे लगेगी लाइन? नीतीश सरकार से खुश नहीं भाजपा के विधायक, ज्ञानेंद्र सिंह ने खोला मोर्चा
ये पढ़ा क्या?
X