ताज़ा खबर
 

ट्रेन टिकट कालाबाजारियों पर रेड, 50 दलाल गिरफ्तार, लाखों रुपए के टिकट भी बरामद

कमांडेंट के मुताबिक यह छापेमारी आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार के निर्देश पर की गई थी। और वे खुद भी इस पर निगाह रखे थे। ईस्टर्न रेलवे आरपीएफ के आईजी एएन मिश्र सियालदह मुख्यालय से नेतृत्व कर रहे थे। ईस्टर्न रेलवे के हावड़ा, सियालदह, आसनसोल और मालदा रेल डिवीजन में एक साथ आरपीएफ की अलग अलग टुकड़ी ने पचास ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापे मारे।

Author भागलुपर | June 14, 2019 1:09 PM
प्रतीकात्मक फोटो फोटो सोर्स- जनसत्ता

पूर्व रेलवे आरपीएफ ने गुरुवार (13 जून) को ट्रेन टिकट दलालों और कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ आपरेशन थंडर चलाकर बड़ी कामयाबी हासिल की है। मालदा रेल डिवीजन के कमांडेंट लोबो फ्रंसिस सेरी के मुताबिक 50 से ज्यादा दलालों को दबोच गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से सात लाख साठ हजार रुपए कीमत की यात्रा टिकटें बरामद की गई है। जो फर्जी पहचान पत्र पर बनवाई गई थी। भागलपुर में भी आरपीएफ इंस्पेक्टर एके सिंह के नेतृत्व में तीन स्थानों पर छापे मार तीन दलालों को गिरफ्तार किया है। और काफी रुपए जब्त किए है। इन सब के खिलाफ रेलवे कानून की दफा 143 के तहत एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

कमांडेंट के मुताबिक यह छापेमारी आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार के निर्देश पर की गई थी। और वे खुद भी इस पर निगाह रखे थे। ईस्टर्न रेलवे आरपीएफ के आईजी एएन मिश्र सियालदह मुख्यालय से नेतृत्व कर रहे थे। ईस्टर्न रेलवे के हावड़ा, सियालदह, आसनसोल और मालदा रेल डिवीजन में एक साथ आरपीएफ की अलग अलग टुकड़ी ने पचास ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापे मारे। जिसकी निगरानी के लिए डिवीजन के कमांडेंट दफ्तर को मिनी नियंत्रण कक्ष बनाया गया। और 50 से ज्यादा रेल टिकट दलालों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।

मालदा डिवीजन के कमांडेंट ने बताया कि ये दलाल अपने निजी और फर्जी पहचान पत्रों का इस्तेमाल कर ई-टिकट बनाते और कालाबाजार में ऊंचे दाम पर बेचने का धंधा करते है। इन सब पहचान पत्रों को अवैध करार देकर उन्हें अपनी साइट से फ़ौरन हटाने के वास्ते आईआरसीटीसी को लिखा गया है। ऐसे गोरखधंधा के जरिए दलालों ने 43 लाख रुपए की टिकटों का कारोबार किया है। जिसका भांडा भी आरपीएफ ने फोड़ा है। इसके बाद ही इनके ठिकानों पर छापेमारी की योजना बनी ।

दरअसल गर्मियों की छुट्टी की वजह से ट्रेनों में टिकटों की मारामारी है। और दलालों के लिए यह मौसम गुलाबी है। लाखों मुसाफिर ट्रेनों की प्रीमियम टिकट लेने को मजबूर हो जाते है। और इस दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में ये दलाल अपना जाल बिछा सक्रिय हो जाते है। यात्रियों के बुनियादी अधिकार को जबरन कब्जा कर टिकटों से वंचित कर देते है। इ

नपर नकेल कसने के लिए अभियान का नाम आपरेशन थंडर देकर इन पर सघन और समुचित तरीके से कार्रवाई की गई। कमांडेंट के मुताबिक यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। भागलपुर में तीन जगहों भागलपुर स्टेशन, विश्वविद्यालय काउंटर और बांका स्टेशन पर छापे मारे गए। आरपीएफ इंस्पेक्टर ने बताया कि तीन जनें गिरफ्तार कर कई ई-टिकट बरामद और नकद जब्त किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X