ताज़ा खबर
 

3 नए घोटाले को लेकर राहुल का मोदी पर तंज, कहा- माल्या की तरह नीरव भी गायब क्योंकि सरकार का ध्यान दूसरी तरफ

पीएनबी और बीओबी के बाद बीओएम, ओबीसी और पीएनबी के बाड़मेर कार्यालय में सीबीआई की बड़ी कार्रवाई हुई है। ओबीसी ने 'द्वारका दास सेठ इंटरनेशनल' और उसके मालिक सभ्य सेठ पर आरोप लगाया है।

Author February 25, 2018 12:07 AM
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की फाइल फोटो।

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के 11,300 करोड़ के महाघोटाले के बाद तीन नए बैंक घोटाले सामने आए हैं। एक मामले में दिल्ली का एक जौहरी है, जिसने ‘ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स’ (ओबीसी) में लगभग 390 करोड़ रुपये का घोटाला किया है। इस घोटाले के खुलासे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रहार करते हुए कहा कि विजय माल्या और नीरव मोदी की तरह यह भी गायब हो गया, क्योंकि सरकार का ध्यान कहीं और था।

आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को बताया कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा इस सप्ताह तीन विभिन्न बैंकों द्वारा शिकायत दर्ज कराने के बाद एक जौहरी, एक व्यापारी और एक सरकारी मुलाजिम पर मामला दर्ज करने के बाद तीन नए बैंक घोटाले सामने आए हैं। गुरुवार को सीबीआई ने करोलबाग स्थित हीरा निर्यात कंपनी ‘द्वारका दास सेठ इंटरनेशनल’ पर ओबीसी के साथ 389.85 करोड़ रुपये के कथित ऋण घोटाले के आरोप के बाद मामला दर्ज किया है।

HOT DEALS
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹1485 Cashback
  • Apple iPhone 8 Plus 64 GB Space Grey
    ₹ 75799 MRP ₹ 77560 -2%
    ₹7500 Cashback

सीबीआई ने बुधवार को बैंक ऑफ महाराष्ट्र की शिकायत पर व्यवसायी अमित सिंगला व अन्य के खिलाफ फर्जी दस्तावेजों से ऋण लेने का मामला दर्ज किया था। उसी दिन सीबीआई ने राजस्थान के बाड़मेर कार्यालय में वरिष्ठ शाखा प्रबंधक इंदर चंद चूड़ावत के खिलाफ अपने पद का दुरुपयोग कर विभिन्न सरकारी सब्सिडी के 1.57 करोड़ रुपये एक फर्जी खाते में भेजने का मामला दर्ज किया। आंतरिक जांच के बाद अधिकारी को निलंबित कर दिया गया।

पीएनबी और बीओबी के बाद बीओएम, ओबीसी और पीएनबी के बाड़मेर कार्यालय में सीबीआई की बड़ी कार्रवाई हुई है। ओबीसी ने ‘द्वारका दास सेठ इंटरनेशनल’ और उसके मालिक सभ्य सेठ पर आरोप लगाया है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “मोदीजी की जन-धन लूट योजना के अंतर्गत एक और घोटाला! 390 करोड़ रुपये, इसमें दिल्ली का एक जौहरी शामिल है। बिल्कुल नीरव मोदी की तरह। फर्जी एलओयू।” उन्होंने ‘हैशटैग मोदीरॉबइंडिया’ के साथ लिखा, “जाहिर है, माल्या और नीरव की तरह यह प्रमोटर भी गायब हो गया, क्योंकि सरकार का ध्यान दूसरी तरफ था।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App