ताज़ा खबर
 

दलित छात्रा की मौत की सीबीआइ जांच हो : राहुल

राहुल ने कहा, "मैं मुख्यमंत्री से कहना चाहता हूं कि पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का एकमात्र रास्ता यह है कि मामले की सीबीआई जांच कराई जाए।’’

Author जयपुर/बाड़मेर | Updated: April 14, 2016 12:40 AM
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। (पीटीआई फोटो)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को आरोप लगाया कि बीकानेर जिले के नोखा कस्बे में स्थित शिक्षण संस्थान में पिछले दिनों मृत पाई गई दलित छात्रा डेल्टा मेघवाल के कथित बलात्कार के मामले को दबाया जा रहा है। उन्होंने मामले की सीबीआइ जांच कराने की मांग भी की। राहुल ने कहा कि दलित छात्रा को न्याय दिलाने के लिए विधायकों का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री वसुंधरा से मिलने गया था तो उन्होंने (राजे) ने कहा कि मेरा समय खराब मत करो। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने दलित अत्याचारों के मामले में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार पर जमकर निशाना साधा।

कांग्रेस राजस्थान में दलितों के बीच अपना खोया जनाधार पाने की कोशिशें कर रही है। इसी कड़ी में राहुल गांधी का बुधवार को अचानक ही राजस्थान दौरे का कार्यक्रम बनाया गया है। राहुल बाड़मेर में मृतक छात्रा के घर गए। फिर जयपुर में पार्टी के प्रदेश स्तरीय दलित सम्मेलन में हिस्सा लिया। राहुल ने मृतक डेल्टा मेघवाल के परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने इस मामले में सीबीआइ जांच की मांग की। उन्होंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट को निर्देश दिया कि जब तक सरकार इस प्रकरण की सीबीआइ से जांच की मांग नहीं माने, तब तक एक इंच भी पीछे नहीं हटा जाए। उन्होंने इस मामले में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के रवैये पर एतराजजताया। उन्होंने कहा कि जब विधायकों का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मिला तो राजे का कहना था कि मेरा समय खराब मत करो। राहुल ने कहा पीड़ित पिता अपनी बेटी के लिए सिर्फ न्याय की गुहार ही कर रहा है। उसे समय देने में वसुंधरा राजे घबरा रही है। उन्होंने पंचायतराज संस्थाओं में चुनाव लड़ने की शैक्षणिक योग्यता लागू करने की भाजपा सरकारों की नीतियों की भी आलोचना की। उन्होंने हरियाणा का उदाहरण देते हुए कहा कि इससे सबसे ज्यादा नुकसान दलित महिलाओं को हो रहा है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकारों के प्रति आक्रामक तेवर अपनाते हुए उन्हें दलित विरोधी करार दिया। उन्होंने भाजपा और आरएसएस की दलित विरोधी नीतियों से लोगों को सावधान रहने को कहा। उन्होंने मोदी सरकार की कथनी और करनी के अंतर पर भाजपा की जमकर खिंचाई की। उन्होंने दावा किया कि दलित, महिला और कमजोर तबके के कल्याण के लिए सिर्फ कांग्रेस ही योजनाएं चलाती है। राहुल ने हैदराबाद में छात्र रोहित वेमुला के आत्महत्या प्रकरण के मामले में केंद्र सरकार को जमकर घेरा। उनका कहना था कि यह आत्महत्या नहीं हत्या जैसा मामला है। इसके लिए पूरी तरह से केंद्र सरकार दोषी है।

केंद्र सरकार के दबाव में विश्वविद्यालय प्रशासन ने वेमुला को आत्महत्या के लिए मजबूर कर दिया। उसके मरने के बाद केंद्र सरकार अब उसे दलित ही नहीं मान रही है। उन्होंने कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज उसके दलित नहीं होने की बात कह कर इसे हल्का बना रही है। स्वराज का कहना था कि सवाल यह नहीं है कि वो दलित था या नहीं। अब यह मुददा है कि उसे मरने को क्यों मजबूर किया गया। राहुल ने कहा ‘वह पूरे देश की बेटी थी। जिस तरह रोहित वेमुला का मामला दबा दिया गया, उसी तरह इस मामले को भी दबाया जा रहा है।’
क्या है मामला

गत 29 मार्च की रात को दलित छात्रा को छात्रावास की वार्डन ने शारीरिक शिक्षा के प्रशिक्षक विजेन्द्र सिंह के कमरे में कथित तौर पर भेजा था और अगले दिन वह पानी की टंकी में मृत पाई गई थी। उसके पिता का आरोप है कि छात्रा ने एक दिन पहले उन्हें फोन पर बताया था कि संस्थान के शारीरिक शिक्षा प्रशिक्षक ने उसके साथ बलात्कार किया था। पिता द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद 31 मार्च को सिंह को बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में छात्रावास की वार्डन और प्राचार्य को भी पोक्सो कानून के तहत गिरफ्तार किया गया। बीकानेर पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के हवाले से कहा कि दलित छात्रा की मौत पानी मेें डूबने से हुई थी। पुलिस ने मामले में हत्या की आशंका को भी खारिज कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories