ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी के निशाने पर मोदी सरकार, कांग्रेस नेता बोले- 12 करोड़ रोजगार देने थे, 14 करोड़ छीन लिए

राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों के कारण करोड़ों लोगों का रोजगार छिन गया और जीडीपी में ऐतिहासिक गिरावट आई।

Rahul Gandhi, BJP, Modi, GDPकांग्रेस नेता राहुल गांधी। (फाइल फोटो)

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ अपने चंद ‘मित्रों’ की बात सुनते है और उनका विकास करते है। उन्होंने कहा कि आज देश का युवा मोदी से अपने हक का रोजगार और उज्ज्वल भविष्य मांग रहा है पर पीएम चुप हैं। युवाओं की समस्याओं को अनदेखा किया जा रहा है। राहुल गांधी ने अन्य ट्वीट में कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों के कारण करोड़ों लोगों का रोजगार छिन गया और जीडीपी में ऐतिहासिक गिरावट आई।

पार्टी के ‘स्पीक अप फॉर जॉब्स’ अभियान के तहत उन्होंने ट्वीट किया, ‘मोदी सरकार की नीतियों के कारण करोड़ों नौकरियां चली गईं और जीडीपी में ऐतिहासिक गिरावट आई। इसने भारतीय युवाओं के भविष्य को कुचल दिया है।’ कांग्रेस नेता ने लोगों से सोशल मीडिया पर रोजगार की मांग से जुड़े इस अभियान के समर्थन की अपील करते हुए कहा, ‘सरकार को विवश करिए कि वह युवाओं की आवाज सुने।’

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस अभियान के तहत ट्वीट कर दावा किया, ‘मोदी जी, आपने युवाओं को बरगला कर सत्ता हथियाई थी। 2 करोड़ रोजगार हर साल देने का वादा था। छह साल में 12 करोड़ रोजगार देना तो दूर, 14 करोड़ रोजगार छीन लिए और भविष्य अंधकार में है।’ उन्होंने कहा, ‘युवा अब जाग गया है और जबाब मांगता है। सिंहासन खाली करो, युवा आता है।’

Kangana Ranaut vs Shiv Sena Live Updates

इधर कांग्रेस नेता के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स जमकर प्रतिक्रिया दे रहे हैं। ट्विटर यूजर स्वप्निल @swapnil1330 लिखते हैं, ‘कोई भी भर्ती निकलती है उसको फाइनल होने में सालों लग जाते है। तैयारी करने वाले युवाओं कि उम्र भी बीत जाती है। सरकार ने कभी भी बेरोजगारी पर बात ही नहीं की। हजारों लोग दिन प्रतिदिन बेरोजगारी के मुद्दे को उठाते हुए संबंधित मंत्रियों जैसे रेलवे मंत्री को टैग करते है लेकिन कोई भी जवाब नहीं देता।’

प्रदीप कुमार @Pardeep34443259 लिखते हैं, ‘बढ़ते निजीकरण, सरकारी खर्चे में कटौती और भाजपा सरकार की खराब आर्थिक नीतियों के चलते आज नौकरियों पर सबसे बड़ा खतरा है। सरकार ने मौजूद नौकरियों में भी भर्तियों को रोक कर रखा है। हमको इस देश के भविष्य के लिए बोलना होगा। मैं बोल रहा हूं, आप भी बोलिए।’

इसी तरह सफीक अंसारी @maengandhi लिखते हैं, ‘मीडिया बता रहा है कि रिया जेल पहुंचीं, कंगना चंडीगढ़ पहुंचीं, CBI सुशांत के घर पहुंची, BMC कंगना के, अभी अभी कंगना मुंबई पहुंचीं। जनता पूछ रही है कि बेरोजगारी कहां पहुंची? चीन की सेना कहां तक पहुंची? GDP इतना नीचे क्यों पहुंची? अपनी अपनी पहुंच है।’

किंजु @IncKinju लिखती हैं, अब तो मोदी का इस्तीफा ही देश के लिए सबसे बड़ा ‘राहत पैकेज’ होगा।’ संदीप मीना @96sm_c2 लिखते हैं, ‘कोरोना के खतरे के चलते राज्य सरकार ने छात्रों को प्रोमोट करने का एतिहासिक फैसला लिया था। लेकिन आज वही सरकार कोरोना के तेज़ी से बड़ते मामलों के बीच लाखों छात्रों की ऑफलाइन परीक्षा करवा कर मौत के मुह मे धकेल रही है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 12 सितंबर को जेपी नड्डा से होगी नीतीश कुमार की मुलाक़ात, सीट शेयरिंग को लेकर होगी चर्चा
2 जिसने लालू यादव के लिए छोड़ दिया था राघोपुर सीट, अब तेजस्वी के खिलाफ फूंका बिगुल, पूर्व मंत्री उदय नारायण राय ने छोड़ी राजद
3 नौकरी जाने से आहत युवक ने पत्नी संग लगा ली फांसी, एक महीने पहले ही हुई थी शादी
ये पढ़ा क्या?
X