ताज़ा खबर
 

राहुल का तंज- कहा, गुजरात-असम के मुख्यमंत्रियों को जगाने में हम कामयाब रहे, प्रधानमंत्रीजी अभी सो रहे

भाजपा शासित राज्य गुजरात में 6.22 लाख बकाएदारों का बिजली का बिल और असम में आठ लाख किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला लिया गया है। जिसके बाद इन फैसलों पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तंज कसा है।

Author December 19, 2018 7:45 PM
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Photo: PTI)

मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकारों द्वारा किसानों की कर्जमाफी का ऐलान किया जा चुका है। जिसके बाद भाजपा शासित राज्य गुजरात में 6.22 लाख बकाएदारों का बिजली का बिल और असम में आठ लाख किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला लिया गया है। बीजेपी सरकार के इन फैसलों पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस गुजरात और असम के मुख्यमंत्रियों को गहरी नींद से जगाने में कामयाब रही है, लेकिन प्रधानमंत्री अभी भी सो रहे हैं। हम उन्हें भी जगाएंगे।

दरअसल, मध्यप्रदेश और छतीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनते ही किसानों के 41 हजार 100 करोड़ रुपए के कर्ज माफ कर दिए गए। चुनाव पूर्व कांग्रेस ने वादा किया था कि जैसे वो सत्ता में आती है किसानों का कर्ज माफ़ किया जायेगा। इसके बाद बीजेपी की असम सरकार ने आठ लाख किसानों का 600 करोड़ रुपए का कर्ज माफ कर दिया और गुजरात सरकार ने 6.22 लाख बकाएदारों का 625 करोड़ बिजली बिल माफ़ कर दिया है। जिसके बाद राहुल ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस गुजरात और असम के मुख्यमंत्रियों को गहरी नींद से जगाने में कामयाब रही है।

बात दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था, “हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर दबाव डालकर देश के हर किसान का कर्ज माफ करवाएंगे। देखा आप लोगों ने? काम शुरू हो गया है। हमने 10 दिन में कर्ज माफ करने का वादा किया था।”

इसके बाद उन्होंने कहा- “मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ में हमारी नई सरकारों को किसानों का कर्ज माफ करने में छह घंटे का वक्त भी नहीं लगा, लेकिन मोदीजी के पास साढ़े चार साल थे। उन्होंने देश के किसानों का एक रुपया भी माफ नहीं किया। जब तक देश के हर किसान का कर्ज माफ नहीं होता, हम मोदीजी को सोने नहीं देंगे। पूरा विपक्ष मिलकर उनसे किसानों का कर्ज माफ करवाकर रहेगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X