ताज़ा खबर
 

कांग्रेस विधायक को राहुल गांधी ने लगाई फटकार, बोले- बर्दाश्त नहीं करूंगा ऐसी हरकत

पार्टी बैठक में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने आशा कुमारी के रवैये पर सख्‍त नाराजगी जताई।

Author शिमला | December 30, 2017 1:37 PM
महिला पुलिसकर्मी से हाथापाई के दौरान कांग्रेस नेता आशा कुमारी। (सोर्स: एएनआई)

अश्‍वनी शर्मा

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने पंजाब कांग्रेस की प्रभारी और विधायक आशा कुमारी के रवैये पर सख्‍त नाराजगी जताई है। आशा ने ड्यूटी पर तैनात एक महिला कांस्‍टेबल को थप्‍पड़ जड़ दिया था। बदले में महिला पुलिसकर्मी ने उन्‍हें थप्‍पड़ मारी थी। राहुल गांधी ने इस पर संज्ञान लेते हुए पंजाब कांग्रेस नेता के आचरण पर न केवल नाराजगी जताई है, बल्कि उन्‍हें भविष्‍य में ऐसा न करने की हिदायत भी दी है। शर्मसार करने वाली यह घटना शिमला स्थित कांग्रेस कार्यालय के बाहर शुक्रवार (29 दिसंबर) को हुई थी। राहुल हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों में पार्टी की हार की समीक्षा करने वाले थे।

राहुल गांधी को जब इस घटना की जानकारी मिली तो उन्‍होंने कड़ी नाराजगी जताई थी। बताया जाता है कि कांग्रेस कार्यालय में हुई बैठक में आशा कुमारी से कहा, ‘मैं इस घटना से खुश नहीं हूं। मुझे यह कतई पसंद नहीं है। यह कांग्रेस संस्‍कृति के अनुरूप भी नहीं है जो गांधीवादी तरीके पर आधारित है और जिसके तहत गुस्‍से का जवाब प्‍यार से दिया जाता है। किसी के खिलाफ हाथ उठाना अच्‍छी बात नहीं है। मैं इसे बर्दाश्‍त नहीं करूंगा।’ जानकारी के मुताबिक, आशा कुमारी ने पार्टी अध्‍यक्ष के समक्ष इसके लिए खेद जताया था। उन्‍होंने बैठक में कहा, ‘महिला कांस्‍टेबल मेरे खिलाफ न केवल अपशब्‍दों का इस्‍तेमाल कर रही थी बल्कि मुझे घक्‍का भी दे रही थी। मैंने अपनी पहचान के लिए उन्‍हें पास भी दिखाया था, लेकिन वह मुझे अंदर नहीं आने दे रही थी। मुझे गाली या धक्‍का देने का क्‍या मतलब था? मैं इससे सहमत हूं कि मुझे गुस्‍सा नहीं होना चाहिए था। मुझे इसके लिए खेद है।’ आशा ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी पर माकूल व्‍यवस्‍था नहीं करने का भी आरोप लगाया है।

मारपीट की घटना के बाद स्‍थानीय पुलिस ने कांग्रेस विधायक के खिलाफ शिमला (सदर) थाने में केस दर्ज कराया था। आशा कुमारी को जब एफआईआर दर्ज होने के बारे में पूछा गया तो उन्‍होंने भी महिला पुलिसकर्मी के खिलाफ केस दर्ज कराने की बात कही है। विधायक ने कहा कि उनके तीन दशक के राजनीतिक करियर में कभी भी ऐसी घटना सामने नहीं आई थी। यह घटना शुक्रवार को उस वक्‍त हुई थी जब आशा कुमारी दो अन्‍य विधायकों मुकेश अग्निहोत्री और कर्नल (रिटायर्ड) धनी लाल शांडिल के साथ कांग्रेस कार्यालय में प्रवेश करने की कोशिश कर रही थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App