ताज़ा खबर
 

व्यापमं घोटाले के विसिलब्लोअर मिले सोनिया और राहुल से

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले को सामने लाने वाले आरटीआइ कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर विसिलब्लोअर प्रोटेक्शन एक्ट 2011 में प्रस्तावित संशोधन के प्रति विरोध जताया..

Author भोपाल | December 24, 2015 11:28 PM
कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के साथ राहुल गांधी। (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले को सामने लाने वाले आरटीआइ कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर विसिलब्लोअर प्रोटेक्शन एक्ट 2011 में प्रस्तावित संशोधन के प्रति विरोध जताया। यह विधेयक लोकसभा में पारित हो चुका है और राज्यसभा से पारित होना अभी शेष है।

आरटीआइ कार्यकर्ता आनंद राय ने कहा, ‘हम दो दिन पहले नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष और उपाध्यक्ष से मिले और उन्हें बताया कि विसिलब्लोअर प्रोटेक्शन एक्ट 2011 में संशोधन कर इस एक्ट को कमजोर करने का प्रयास किया जा रहा है’। राय ने कहा, ‘सोनिया जी से जहां विभिन्न मुद्दों पर करीब 15-20 मिनट चर्चा हुई वहीं राहुल से उनकी मुलाकात लगभग 40-45 मिनट तक चली’।

इस मुलाकात में राय के अलावा मध्यप्रदेश में व्यापमं घोटाले और अन्य घोटालों को सामने लाने वाले अन्य विसिलब्लोअर आरटीआइ कार्यकर्ता अजय दुबे, सायबर विशेषज्ञ प्रशांत पांडे और ग्वालियर निवासी आशीष चतुर्वेदी भी मौजूद थे। राय ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने व्यामपं घोटाले पर सीबीआइ जांच के संबंध में भी उनसे चर्चा की और इससे संबंधित जानकारियां हासिल की। उन्होंने बताया कि इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह और मोहन प्रकाश भी मौजूद थे।

HOT DEALS
  • Moto G6 Deep Indigo (64 GB)
    ₹ 15810 MRP ₹ 19999 -21%
    ₹1500 Cashback
  • Coolpad Cool C1 C103 64 GB (Gold)
    ₹ 11290 MRP ₹ 15999 -29%
    ₹1129 Cashback

मध्यप्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (एमपीपीईबी) जो कि हिंदी में व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) के नाम से मशहूर है, प्रदेश में इंजीनियरिंग और मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश और विभिन्न सरकारी पदों पर भर्तियों के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करता है। इसमें कथित तौर पर बड़े पैमाने में घोटाला हुआ जिसे व्यापमं घोटाले के तौर पर जाना जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App