ताज़ा खबर
 

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने शोक जताया

कोविंद ने ट्वीट कर कहा, ‘‘रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन का समाचार दु:खद है। जमीन‌ से जुड़े व ग्रामीण भारत की असाधारण समझ रखने वाले रघुवंश बाबू का कद बहुत ऊंचा था।"

Raghuvansh Prasad Death News, Raghuvansh Prasad Death, Former RJD Leaderडॉ.रघुवंश प्रसाद सिंह ने कुछ वक्त पहले ही RJD से नाता तोड़ लिया था। (फाइल फोटोः PTI)

Raghuvansh Prasad Singh Death News LIVE Updates: पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का रविवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया, जहां उन्हें कोविड-19 से उबरने के बाद की जटिलताओं के उपचार के लिए भर्ती कराया गया था। उनके एक करीबी सहयोगी ने यह जानकारी दी। मनमोहन सिंह सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री रहे सिंह (74) के नेतृत्व में ही नरेगा योजना की शुरुआत हुई थी जिसे बाद में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कानून (मनरेगा) नाम दिया गया। समाजवादी नेता रहे सिंह के परिवार में दो बेटे और एक बेटी हैं। वह शुक्रवार रात को गंभीर रूप से बीमार हो गये थे और उन्हें आईसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया।

सिंह के करीबी सहयोगी केदार यादव ने फोन पर नयी दिल्ली से ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि उनका सुबह करीब 11 बजे सांस लेने में कठिनाई और अन्य जटिलताओं के कारण निधन हो गया। बिहार विधानसभा के उपनिदेशक संजय कुमार सिंह ने बताया कि रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर रविवार शाम करीब पौने आठ बजे दिल्ली से पटना पहुंचा। उन्होंने बताया कि उनके पार्थिव शरीर को बिहार विधानमंडल परिसर में रखा गया है। जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव सहित विभिन्न दलों के नेताओं और पदाधिकारियों ने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की।

Bihar Election 2020 Live Updates

रघुवंश बाबू को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘उन्होंने अपने अंतिम दिनों में पत्र के माध्यम से कुछ बातें रखीं। हमने इस संबंध में केन्द्र को अनुरोध भेजना शुरू कर दिया है, एक पत्र भेजा गया है और जल्दी ही और एक पत्र भेजा जाएगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने कहा कि रघुवंश बाबू ने पत्र में जो कुछ भी लिखा है, उसमें वे मदद करेंगे। हम साथ मिलकर इसमें काम करेंगे।’’ राष्ट्रीय जनता दल ने प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह की अध्यक्षता में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। रघुवंश प्रसाद सिंह की अंतिम यात्रा के कार्यक्रम के अनुसार, उनका पार्थिव शरीर सोमवार सुबह साढ़े नौ बजे पटना से वैशाली के लिए रवाना होगा।

उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ वैशाली जिले में उनके गांव शाहपुर से करीब 15 किलोमीटर दूर गंगा के किनारे हसनपुर घाट पर किया जाएगा। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के लंबे समय तक मित्र और सहयोगी रहे सिंह ने बृहस्पतिवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया था और इस तरह की अटकलें थीं कि वह अक्टूबर-नवंबर में संभावित राज्य विधानसभा चुनाव से पहले बिहार में सत्तारूढ़ जद (यू) में शामिल हो सकते हैं। उन्होंने रांची की जेल में चारा घोटाले के चार मामलों में सजा काट रहे लालू प्रसाद को हाथ से लिखे पत्र में कहा, ‘‘जननायक कर्पूरी ठाकुर के निधन के बाद से मैं 32 साल तक आपके साथ खड़ा रहा, लेकिन अब और नहीं।’’

Coronavirus India Live Updates

उनके इस पत्र के कुछ ही घंटे बाद प्रसाद ने जेल से पत्र लिखकर कहा, ‘‘मुझे भरोसा नहीं हो रहा। सोशल मीडिया पर कथित रूप से आपका लिखा एक पत्र है। मैं, मेरा परिवार और राजद परिवार चाहते हैं कि आप जल्द स्वस्थ होकर हमारे बीच हों।’’ जेल प्राधिकार के स्टांप वाले हाथ से लिखे पत्र में लालू प्रसाद ने कहा, ‘‘चार दशक से हमने हर राजनीतिक, सामाजिक और यहां तक पारिवारिक विषय पर मिल बैठकर चर्चा की है। आप जल्द स्वस्थ होंगे और हम फिर बैठकर बात करेंगे। आप कहीं नहीं जा रहे, समझ लीजिए।’’ सिंह के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद समेत अनेक नेताओं ने श्रद्धांजलि दी।

कोविंद ने ट्वीट कर कहा, ‘‘रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन का समाचार दु:खद है। जमीन‌ से जुड़े व ग्रामीण भारत की असाधारण समझ रखने वाले रघुवंश बाबू का कद बहुत ऊंचा था। अपने संतों जैसे सादा जीवन से उन्होंने सार्वजनिक जीवन को विशेष गरिमा प्रदान की। उनके परिवार, समर्थकों व प्रशंसकों के प्रति मेरी शोक-संवेदनाएं!’’ उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने सिंह के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना को क्रियान्वित करने में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सिंह के निधन से बिहार तथा राष्ट्रीय राजनीति में अपूरणीय क्षति हुई है। मोदी ने सिंह द्वारा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बृहस्पतिवार को लिखे पत्र का उल्लेख किया जिसमें सिंह ने लोकसभा सीट वैशाली के विकास का मुद्दा उठाया था।

 

Amit Shah Health News LIVE Updates

Live Blog

Highlights

    06:23 (IST)14 Sep 2020
    आज पैतृक गांव के पास होगा अंतिम संस्कार

    रघुवंश प्रसाद सिंह की अंतिम यात्रा के कार्यक्रम के अनुसार, उनका पार्थिव शरीर सोमवार सुबह साढ़े नौ बजे पटना से वैशाली के लिए रवाना होगा। उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ वैशाली जिले में उनके गांव शाहपुर से करीब 15 किलोमीटर दूर गंगा के किनारे हसनपुर घाट पर किया जाएगा।

    05:39 (IST)14 Sep 2020
    डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह के परिवार में दो बेटे और एक बेटी हैं

    समाजवादी नेता रहे डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह के परिवार में दो बेटे और एक बेटी हैं। पत्नी का निधन पहले ही हो चुका है। वह पेशे से शुरुआत में प्रोफेसर रहे हैं।

    04:36 (IST)14 Sep 2020
    1977 में पहली बार बिहार विधानसभा के सदस्य बने

    डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह 1977 में पहली बार बिहार विधानसभा के सदस्य बने और कई बार बेलसंड विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया और 1996 में लोकसभा के सदस्य के तौर पर अपनी पारी की शुरुआत करने से पहले वह बिहार विधान परिषद के अध्यक्ष भी रहे।

    03:40 (IST)14 Sep 2020
    पिछले 32 वर्षों से लालू प्रसाद यादव के साथ जुड़े रहे डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह

    डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह पिछले 32 वर्षों से लालू प्रसाद यादव के साथ लगातार जुड़े रहे, लेकिन मृत्यु से दो पहले उन्होंने उन पर अपना भरोसा खत्म कर दिया और एक पत्र लिखकर कहा कि अब और नहीं। इससे पहले उन्होंने पार्टी से नाता तोड़ लिया था।

    02:06 (IST)14 Sep 2020
    राजनीतिक जीवन की शुरुआत संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से की

    पेशे से प्रोफेसर रहे डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह अपनी राजनीतिक जीवन की शुरुआत संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से की थी। वह हमेशा जमीन से जुड़े रहे और आम लोगों के लिए पूरा जीवन काम किया।

    23:56 (IST)13 Sep 2020
    खाट पर बैठ कर क्षेत्र के लोगों के साथ चाय की चुस्की लेते हुए बात करते थे डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह

    डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह खाट पर बैठ कर अपने क्षेत्र के लोगों के साथ चाय की चुस्की लेते हुए बात करना पसंद करते थे और बिहार के किसी गंवई की तरह टिकट का उच्चारण ''टिकस'' के रूप में करते थे।

    23:18 (IST)13 Sep 2020
    डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह के नेतृत्व में ही नरेगा योजना शुरू हुई थी

    मनमोहन सिंह सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री रहे सिंह (74) के नेतृत्व में ही नरेगा योजना की शुरुआत हुई थी जिसे बाद में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कानून (मनरेगा) नाम दिया गया।

    22:58 (IST)13 Sep 2020
    ग्रामीण विकास में उनके कार्यों को याद कर रहे हैं लोग

    बिहार समेत देश भर के समाजवादियों ने वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर शोक संवेदनाएं प्रकट की हैं। ग्रामीण विकास में उनके कार्यों को लेकर लोग उन्हें याद कर रहे हैं।

    22:08 (IST)13 Sep 2020
    सोमवार को 9:30 बजे पटना से पैतृक आवास जाएगा पार्थिव शरीर

    रघुवंश प्रसाद सिंह के पार्थिव शरीर को  सोमवार को 9:30 बजे पटना स्थित कौटिल्य नगर से हाजीपुर-लालगंज बाजार होते हुए वैशाली गढ़ ले जाने का कार्यक्रम है। यहां पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा। वहां से हाजीपुर और जढुआ बाजार होते हुए उनके पैतृक आवास पानापुर पहेमी (शाहपुर) के लिए यात्रा शुरू होगी।

    21:35 (IST)13 Sep 2020
    रघुवंश प्रसाद का निधन अत्यंत दुखदः अखिलेश यादव

    समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं लोकप्रिय वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन को अत्यंत दुःखद बताते हुए दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की है।

    21:02 (IST)13 Sep 2020
    रघुवंश बाबू के पैतृक गांव शाहपुर में छाया सन्नाटा

    रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन की जानकारी मिलते ही वैशाली स्थित उनके पैतृक गांव शाहपुर में मातमी सन्नाटा छा गया। गाँव के लोग उनकी मौत की खबर सुन बेहद ही दुखी हो गए। उनके घर पर लोगो की भीड़ जुटने लगी।रघुवंश बाबू को गाँव से ज्यादा लगाव था और अक्सर गांव मे उनका समय व्यतीत होता था।

    20:30 (IST)13 Sep 2020
    लगातार रघुवंश प्रसाद और डॉक्टरों संपर्क में थेः तेजस्वी यादव

    राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने निधन पर तेजस्वी यादव ने कहा कि लगातार हम लोग उनके (रघुवंश प्रसाद सिंह) और उनके डॉक्टर के संपर्क में रहे। डॉक्टर ने हमें बताया था कि उन्हें लंग कैंसर है, कोरोना भी था और निमोनिया की भी शिकायतें आई हैं। पार्टी कार्यालय में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई और 7 दिनों का शोक रखा गया है।

    19:59 (IST)13 Sep 2020
    बिहार ने रघुवंश बाबू के रूप में सच्चा जनहितैषी सपूत खो दिया: नड्डा

    भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने रविवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर शोक प्रकट करते हुए उन्हें जनप्रिय व सरल हृदय का व्यक्ति बताया और कहा कि उनके चले जाने से बिहार ने एक सच्चा जनहितैषी सपूत खो दिया। नड्डा ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, ‘‘रघुवंश बाबू का हम सबके बीच से चले जाना पीड़ा दायक है। जनप्रिय व सरल हृदय व्यक्तित्व वाले रघुवंश बाबू की स्मृतियां हमेशा मेरे मन में रहेंगी। रघुवंश बाबू ने जनसेवा को आजीवन प्राथमिकता दी। बिहार की माटी ने रघुवंश बाबू के रूप में एक सच्चा जनहितैषी सपूत खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि।’’

    19:27 (IST)13 Sep 2020
    रघुवंश बाबू के निधन का समाचार दुखद: राष्ट्रपति

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन को दुखद करार देते हुए रविवार को कहा कि वह जमीन‌ से जुड़े व ग्रामीण भारत की असाधारण समझ रखने वाले बहुत ऊंचे कद के नेता थे। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन का समाचार दुखद है। जमीन‌ से जुड़े व ग्रामीण भारत की असाधारण समझ रखने वाले रघुवंश बाबू का कद बहुत ऊंचा था। अपने संतों जैसे सादा जीवन से उन्होंने सार्वजनिक जीवन को विशेष गरिमा प्रदान की। उनके परिवार, समर्थकों व प्रशंसकों को मेरी शोक-संवेदनाएं!’’

    19:01 (IST)13 Sep 2020
    रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन भारतीय राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति, बोले राहुल

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए रविवार को कहा कि उनके निधन के साथ ही गाँव और किसानों की एक मज़बूत आवाज़ सदा के लिए खो गई। कांग्रेस ने सिंह को ‘‘बिहार का सपूत’’ बताते हुए कहा कि उन्हें राजनीति में नैतिकता की वकालत करने के लिए हमेशा याद किया जाएगा। उनके निधन से क्रांति के एक अध्याय का अंत हो गया। राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘रघुवंश प्रसाद सिंह जी के निधन के साथ ही गाँव व किसान की एक मज़बूत आवाज़ सदा के लिए खो गई है। गाँवों व किसानों के उत्थान के लिए उनकी सेवा और लगन तथा सामाजिक न्याय के लिए उनके संघर्ष को सदा याद रखा जाएगा। मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि।’’

    17:54 (IST)13 Sep 2020
    मनरेगा लागू करने में रघुवंश की भूमिका को हमेशा याद रखा जाएगा: उपराष्ट्रपति 

    उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने रविवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि ‘महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना’ को क्रियान्वित करने में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। सिंह का यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में रविवार को निधन हो गया। वह 74 वर्ष के थे। उप राष्ट्रपति सचिवालय ने नायडू को उद्धृत करते हुए ट्वीट किया, “पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन से दुख हुआ। वह अच्छे सांसद थे और जमीन से जुड़े नेता थे, उन्होंने गरीबों और ग्रामीण लोगों के उत्थान के लिए बहुत काम किया।”

    17:23 (IST)13 Sep 2020
    जून में हुई थी कोरोना संक्रमण की पुष्टि

    जून में रघुवंश प्रसाद सिंह की कोविड-19 जांच में उनके संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी और शुरूआत में उन्हें एम्स पटना में भर्ती किया गया था। बाद में, पूर्व केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री को दिल्ली स्थित एम्स ले जाया गया, जहां सांस लेने में परेशानी और स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याओं के कारण उनका निधन हो गया।

    16:42 (IST)13 Sep 2020
    वैशाली लोकसभा सीट का उठाया था मुद्दा

    पीएम मोदी ने सिंह द्वारा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिखे पत्र का उल्लेख किया जिसमें सिंह ने पूर्ववर्ती लोकसभा सीट वैशाली के विकास का मुद्दा उठाया था। मोदी ने कहा, “मैं नीतीश कुमार से अनुरोध करूंगा कि उन विकास परियोजनाओं पर काम किया जाए जिनका जिक्र सिंह ने किया था। राज्य और केंद्र मिलकर उनकी इच्छाओं को पूरा करे।”

    16:11 (IST)13 Sep 2020
    रघुवंश जी एक सरल हृदय जननेता थे : मुख्यमंत्री सोरेन

    झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए रविवार को कहा कि वे सरल हृदय जननेता थे। सोरेन ने अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘रघुवंश जी एक सरल हृदय जननेता थे। उनका निधन अपूरणीय क्षति है। भगवान दिवंगत आत्मा को शांति और परिजनों को दुःख की इस घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।’’

    15:28 (IST)13 Sep 2020
    डिप्टी सीएम ने भी किया याद, कहा- ये बिहार के सार्वजनिक जीवन को बड़ी क्षति है

    बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा है- रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन बिहार के सार्वजनिक जीवन को बड़ी क्षति है। उन्होंने सिद्धांत की राजनीति की, राजनीति के लिए सिद्धांत नहीं छोड़ा। वे परिवारवाद, भ्रष्टाचार और मूल्यहीनता के विरुद्ध अपनों से लड़े और जीवन की आखिरी सांस तक योद्धा रहे। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें।

    15:05 (IST)13 Sep 2020
    ग्रामीण भारत ने अपना सच्चा सपूत एवं शुभचिंतक खो दियाः पवन खेड़ा

    कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर कहा कि ग्रामीण भारत ने आज अपना सच्चा सपूत एवं शुभचिंतक खो दिया। रघुवंश प्रसाद सिंह जी को सच्ची श्रधांजलि यही होगी कि आज जो कृषि सम्बंधित तीन अध्यादेश लाए गए हैं, उनका विरोध कर रहे किसानों के साथ हम सब को कंधे से कंधा मिला कर खड़ा रहना चाहिए।

    14:22 (IST)13 Sep 2020
    मोदी ने बिहार में तीन पेट्रोलियम परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित कीं

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बिहार में एलपीजी पाइपलाइन परियोजना के एक खंड और दो बॉटलिंग संयंत्रों का उद्घाटन किया। इन परियोजनाओं में पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन परियोजना का दुर्गापुर-बांका खंड और बांका और चंपारण जिले में दो एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र शामिल हैं। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि गैस पाइपलाइन परियोजना से बिहार में उर्वरक , बिजली और इस्पात क्षेत्र के उद्योगों को बढावा मिलेगा और सीएनजी आधारित स्वच्छ यातायात प्रणाली का भी लाभ होगा तथा रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।

    14:19 (IST)13 Sep 2020
    बड़ा नुक़सान हुआ हैः रजत शर्मा

    टीवी पत्रकार रजत शर्मा ने ट्वीट कर कहा- रघुवंश बाबू के जाने से बड़ा नुक़सान हुआ है. वह गाँव देहात की समस्याओं को समझते थे, उनके पास समाधान भी होते थे. रघुवंश प्रसाद सिंह अपनी बात बेबाक़ी से कहते थे. ईश्वर उनकी आत्मा को सद्गति प्रदान करें.

    13:54 (IST)13 Sep 2020
    सीएम ने भी जताया दुख

    13:37 (IST)13 Sep 2020
    'आख़री आदमी के हित में सोचने वाली दुर्लभ आवाज़ ख़ामोश हो गई'

    जाने-माने कवि कुमार विश्वास ने ट्वीट कर कहा है- एक बेहद खरी व आजकी राजनीति में भी आख़री आदमी के हित में सोचने वाली दुर्लभ आवाज़ ख़ामोश हो गई ! मनरेगा के मस्तिष्क व लोहिया जी-कर्पूरों ठाकुर की जनपक्षधर-वैचारिकी के वास्तविक उत्तराधिकारी रघुवंश बाबू को सादर अंतिम प्रणामFolded handsन केवल बिहार अपितु देश के वंचितों का बड़ा नुक़सानFlag of India ॐशातिंॐ।

    13:32 (IST)13 Sep 2020
    हमेशा जमीनी स्तर पर रहकर काम करते थेः तेजस्वी

    राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा है- वो (रघुवंश प्रसाद सिंह) हमेशा जमीनी स्तर पर रहकर काम करते थे। लोगों से जुड़े हुए थे। हम चाहते हैं कि उनकी आत्मा को शांति मिले। इस दुख की घड़ी में हम उनके परिजनों के साथ मजबूती के साथ खड़े हैं।

    13:22 (IST)13 Sep 2020
    राष्ट्रपति ने भी दी श्रद्धांजलि

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है- रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन का समाचार दुखद है। जमीन‌ से जुड़े व ग्रामीण भारत की असाधारण समझ रखने वाले रघुवंश बाबू का कद बहुत ऊंचा था। अपने संतों जैसे सादा जीवन से उन्होंने सार्वजनिक जीवन को विशेष गरिमा प्रदान की। उनके परिवार, समर्थकों व प्रशंसकों को मेरी शोक-संवेदनाएं!

    12:47 (IST)13 Sep 2020
    क्या बोले PM मोदी?

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि रघुवंश प्रसाद हमारे बीच नहीं हैं। उनके देहांत ने बिहार के साथ-साथ देश के राजनीतिक क्षेत्र में एक शून्य छोड़ दिया है। मैं नीतीश जी से आग्रह करूंगा कि रघुवंश प्रसाद जी ने अपनी आखिरी चिट्ठी में जो भावना प्रकट की है उसको परिपूर्ण करने के लिए आप और हम मिलकर पूरा प्रयास करें।

    Next Stories
    1 सियासत से बना लो दूरी या फिर नतीजे भुगतने को तैयार रहो- J&K के नेताओं को हिज्बुल की धमकी
    2 ये है हिंदुस्तान! पितृपक्ष के दौरान हिंदू शख्स ने मुस्लिम दोस्त के लिए किया ‘तर्पण’, करते हैं प्रार्थना- अगले जन्म में फिर बनें दोस्त
    3 रघुवंश प्रसाद सिंह के जाने से राजद की समाजवादी छवि को पहुंचेगा बड़ा नुकसान
    IPL 2020 LIVE
    X