ताज़ा खबर
 

सर्जिकल स्‍ट्राइक के सबूत मांगने वालों पर बिफरे भाजपा महासचिव, कहा- सेना पर उंगली उठाना देशद्रोह के बराबर

भारत में चीनी सामान के बहिष्कार के समर्थन में जारी अभियान को विजयवर्गीय ने ‘शुभ संकेत’ बताया।

Author October 12, 2016 5:16 PM
Kailash Vijayvargiya, Kailash Vijayvargiya Statement, Kailash Vijayvargiya on Tajmahal, Red Fort, Tajmahal and Red Fort, Indian Culture, Recognize Indian Culture, BJP general secretary Kailash Vijayvargiya, BJP Leader Kailash Vijayvargiya, National News, Jansattaबीजेपी के राष्ट्रीय महासचिच कैलाश विजयवर्गीय।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने आज कहा कि नियंत्रण रेखा के पार आतंकी ठिकानों पर भारतीय सेना के लक्षित हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) के सबूत मांग कर फौज पर अंगुली उठाना देशद्रोह के अपराध के बराबर है। विजयवर्गीय ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘लक्षित हमले के बाद सेना के एक आला अफसर ने बाकायदा संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर इस कदम की आधिकारिक जानकारी दी थी। इसके बावजूद अगर कोई सेना के लक्षित हमले पर अंगुली उठाता है, तो यह देशद्रोह के अपराध के बराबर है।’ उन्होेंने कहा, ‘अगर कोई लक्षित हमले के सबूत मांग रहा है, तो इसका मतलब है कि वह सेना पर शक कर रहा है। सेना पर बिल्कुल भी शक नहीं किया जाना चाहिये, बल्कि उसका मनोबल बढ़ाया जाना चाहिये।’ भारत में चीनी सामान के बहिष्कार के समर्थन में जारी अभियान को ‘शुभ संकेत’ बताते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि भारतीयों की इस मुहिम के चलते चीन को विश्व राजनीति में पाकिस्तान का साथ देने के अपने फैसले पर फिर से विचार करने पर मजबूर होना पड़ेगा। भाजपा महासचिव ने एक सवाल पर उत्तरप्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के कर्ता-धर्ताओं पर तंज कसते हुए कहा, ‘उत्तरप्रदेश में जिन लोगों के हाथों में सत्ता की बागडोर है, उनके परिवार में इतना झगड़ा है कि वे एक-दूसरे की साइकिल पंचर करने में लगे हैं। उनका वर्तमान और भविष्य सबको दिखायी दे रहा है।’

खत्‍म हुआ पंपोर एनकाउंटर, देखें वीडियो: 

शिवसेना ने उत्तरप्रदेश के आगामी विधानसभा चुनावों में 200 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने की घोषणा की है। यह पूछे जाने पर कि क्या इससे उत्तरप्रदेश में भाजपा का चुनावी गणित बिगड़ेगा, विजयवर्गीय ने कहा, ‘शिवसेना ने मुंबई में उत्तरप्रदेश और बिहार के लोगों का हमेशा विरोध किया है। ऐसे में आप समझ सकते हैं कि इन सूबों के चुनावों में शिवसेना को भला कौन वोट देगा।’

READ ALSO: मनोहर पर्रिकर ने कहा- पहले नहीं हुई कभी सर्जिकल स्ट्राइक, इस बार सरकार ने लिया फैसला

दूसरी तरफ, यूपीए शासन में एलओसी पार सर्जिकल स्ट्राइक करने के कांग्रेस के दावों का खंडन करते हुए रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने बुधवार को कहा कि 29 सितंबर को किए गए सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कार्रवाई पहले कभी नहीं की गई।

Next Stories
1 किरीट सोमैया, BJP कार्यकर्ताओं पर हमले के लिए शिवसेना के 5 कार्यकर्ता गिरफ्तार
2 दुर्गा मूर्ति विसर्जन के दौरान साम्प्रदायिक तनाव, BJP समर्थकों ने दिया धरना, 17 गिरफ्तार
3 विजयदशमी के दिन गुजरात में 200 से ज्यादा दलितों ने अपनाया बौद्ध धर्म
ये पढ़ा क्या?
X