ताज़ा खबर
 

पंजाब में नाकाम हुए ISI के मंसूबे, कार में विस्फोटक ले जा रहा खालिस्तानी आतंकी गिरफ्तार

पुलिस को खालिस्तानी आतंकी रिंकू के पास से काफी मात्रा में विस्फोटक सामान बरामद हुआ है, जिसमें केमिकल और एडवांस्ड इलेक्ट्रॉनिक रिमोट कंट्रोल सिस्टम शामिल है। रिंकू को उस समय पुलिस ने गिरफ्तार किया, जब वह ये सारा सामान अपनी कार से लेकर जा रहा था।
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पंजाब पुलिस ने एक खालिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार कर एक बहुत बड़ा आतंकी हमला होने से रोक दिया है। इस आतंकी की पहचान इंदरजीत सिंह उर्फ रिंकू के रूप में हुई है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, रिंकू को मोहाली के एसएएस नगर से काउंटर इंटेलिजेंस विंग द्वारा गिरफ्तार किया गया है। पुलिस को खालिस्तानी आतंकी रिंकू के पास से काफी मात्रा में विस्फोटक सामन बरामद हुआ है, जिसमें केमिकल और एडवांस्ड इलेक्ट्रॉनिक रिमोट कंट्रोल सिस्टम शामिल है। रिंकू को उस समय पुलिस ने गिरफ्तार किया, जब वह यह सारा सामान अपनी कार से लेकर जा रहा था। पुलिस ने रिंकू के पास से हरियाणा नंबर वाली एक फॉर्ड फीगो एस्पायर कार जब्त की है।

रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी फरीदाबाद से एसएएस नगर इसी कार से विस्फोटक सामान लेकर आया था। रिंकू हरियाणा के फरीदाबाद का रहने वाला है और उसके पास एमबीए डिग्री भी है। इंटेलिजेंस विंग द्वारा की गई प्राथमिक पूछताछ में यह सामने आया है कि रिंकू विस्फोटक डिवाइस बनाने की ट्रेनिंग आईएसआई से ले चुका है। पुलिस प्रवक्ता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, आरोपी ने पूछताछ में खुलासा किया है कि वह उन आईएसआई संचालकों के इशारे पर काम कर रहा था, जिन्होंने उसे पंजाब में ब्लास्ट करने की जिम्मेदारी सौंपी थी।

आरोपी ऑनलाइन मार्केटिंग वेबसाइट पर आसानी से मिलने वाले केमिकल और डिवाइस के जरिए विस्फोट करने वाला था। प्रवक्ता ने कहा, “आरोपी फरीदाबाद की जेसीबी कंपनी में काम करता है। उसने पुलिस से कहा कि फेसबुक के जरिए उसका संपर्क आईएसआई से दो साल पहले हुआ था और तभी से वह उनसे विस्फोटक बनाने की ट्रेनिंग ले रहा था। जांच में यह बात सामने आई है कि आईएसआई ने आरोपी के सोशल मीडिया पोस्ट और प्रोफाइल को देखते हुए उसे कट्टर बनाने का काम करने लगे थे।” फिलहाल, पुलिस इस मामले की पूरी तफ्तीश में जुटी हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App