एबीपी-सीवोटर सर्वे: पंजाब में AAP को मिलेगा कांग्रेस की सियासी कलह का फायदा! बन सकती है सबसे बड़ी पार्टी

सर्वे के मुताबिक आम आदमी पार्टी को 117 में से 49 से 55 सीटें मिल सकती हैं। इस हिसाब से आप सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर सकती है।

तस्वीर का सांकेतिक इस्तेमाल किया गया है। फोटो- एक्सप्रेस आर्काइव

पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के अब कुछ ही महीने शेष हैं। साल 2022 में गोवा, मणिपुर, पंजाब, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव कराए जाएंगे। इन राज्यों में सबसे ज्यादा चर्चा का विषय उत्तर प्रदेश औऱ पंजाब बना हुआ है। पंजाब में हाल ही में पार्टी ने मुख्यमंत्री बदल दिया है। बावजूद इसके राज्य के पार्टी अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू अपनी असंतुष्टि जाहिर करते रहते हैं।

एबीपी सीवोटर के एक सर्वे के मुताबिक पंजाब में आम आदमी पार्टी का झाड़ू चल सकता है। वहीं पंजाब में कांग्रेस की सियासी कलह का फायदा आम आदमी पार्टी को मिलता दिखायी दे रहा है। उत्तराखंड की बात करें तो नए मुख्यमंत्री धामी के नेतृत्व में भाजपा की पकड़ अब भी मजबूत है और भाजपा सत्ता में वापसी कर सकती है।

पंजाब में चल सकता है AAP का झाड़ू
उत्तर प्रदेश के बाद सबसे ज्यादा सियासी हलचल वाला प्रदेश इन दिनों पंजाब बना हुआ है। सर्वे की बात करें तो यहां कांग्रेस की सियासी कलह का फायदा सीधे तौर पर आम आदमी पार्टी को मिलता दिख रहा है। अगर अभी चुनाव कराए जाते हैं तो AAP का वोट शेयर भी सबसे ज्यादा 36 फीसदी रह सकता है। वहीं कांग्रेस को 32 और अकाली दल को 22 फीसदी वोट हासिल हो सकते हैं।

सर्वे के मुताबिक आम आदमी पार्टी को 117 में से 49 से 55 सीटें मिल सकती हैं। इस हिसाब से आप सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर सकती है। हालांकि बहुमत का आंकड़ा फिर भी दूर है। कांग्रेस की बात करें तो पार्टी की सीटों में बड़ी गिरावट आने का अनुमान है। कांग्रेस को 39 से 47 सीटें मिल सकती हैं। अकाली दल केवल 17 से 25 सीटें ही जीत पाएगी। इस बार पंजाब में भाजपा अलग चुनाव लड़ेगी। हालांकि इसका सिक्का चलता दिखायी नहीं दे रहा है। एक सीट भाजपा के खाते में जा सकती है। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 77, अकाली दल को 15 और आप को 20 सीटें हासिल हुई थीं।

किस राज्य का क्या है हाल?
उत्तर प्रदेश में अगर अभी चुनाव कराए जाएं तो भाजपा को बहुमत मिलने की पूरी संभावना है। वहीं उत्तराखंड में भी भाजपा की पकड़ मजबूत है। पार्टी सरकार बनाने की स्थिति में है। मणिपुर की बात करें तो यहां फिर से भाजपा की वापसी हो सकती है। पिछली बार के मुकाबले सीटें भी बढ़ सकती हैं। गोवा में पिछली बार भाजपा ने गठबंधन की सरकार बनाई थी लेकिन इस बार स्पष्ट बहुमत भी मिल सकता है।

पढें पंजाब समाचार (Punjab News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।