scorecardresearch

पंजाबः सीचेवाल को रास भेज डैमेज कंट्रोल करना चाहती है आप, जानें सूबे की राजनीति में संत की क्या है अहमियत

पंजाबः सींचेवाल रास में जाने के लिए सहमत होंगे या नहीं ये भी बड़ा सवाल है। पहले वो बीजेपी के ऐसे ही प्रस्ताव को सिरे से मना कर चुके हैं।

Punjab CM| bhagwant mann| punjab|
पंजाब के सीएम भगवंत मान। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

पंजाब की दो राज्यसभा सीटों को लेकर चुनाव होना है। लेकिन इस बार आप इन दो सीटों को लेकर ज्यादा चौकन्नी है, क्योंकि अप्रैल में पांच सीटों के लिए राज्यसभा भेजे गए लोगों के चयन को लेकर पार्टी की काफी किरकिरी हुई थी। तब फिरकी गेंदबाज रहे हरभजन सिंह को छोड़ बाकी नाम विवादों में घिरे थे। दो सीटें पंजाब से बाहर के नेताओं को भी दी गई। पार्टी अब ऐसे दो उम्मीदवारों को राज्यसभा भेजना चाहती है, जो सिख हों, पंजाब से हों और उनका सामाजिक कार्यो में नाम हो। फिलहाल संत बलबीर सिंह सीचेवाल के नाम खासा सुर्खियों में है।

माना जा रहा है कि पिछली बार जो नेता राज्यसभा भेजे गए थे, उन्हें लेकर पार्टी के नेताओं व समर्थकों में निराशा देखी गई थी। विपक्षी पार्टियों ने भी आप पर बाहरी उम्मीदवारों को टिकटें देने का आरोप लगाया था। यह भी आरोप लगाए गए किसी भी दलित व किसान परिवार से किसी को उच्च सदन में नहीं भेजा गया। राज्यसभा के लिए पंजाब की दो सीटों पर दस जून को चुनाव होगा। दोनों सीटें आप को मिलना तय हैं।

फिलहाल कयास हैं कि पर्यावरण प्रेमी पद्मश्री संत बलबीर सिंह सीचेवाल को आम आदमी पार्टी राज्यसभा भेज सकती है। मुख्यमंत्री भगवंत मान की सीचेवाल से मुलाकात के बाद यह चर्चा तेज हो गई कि आप उन्हें रास भेजने जा रही है। मान संत अवतार सिंह की 17वीं बरसी पर कपूरथला के सुल्तानपुर लोधी पहुंचे थे। आप नेताओं का कहना है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में पार्टी को इसका फायदा भी हो सकता है।

जानिए कौन हैं संत सीचेवाल

कपूरथला में श्री गुरुनानक देव से जुड़ी 160 किमी लंबी काली बेई नदी को साफ करने का श्रेय संत सीचेवाल को दिया जाता है। पंजाब के कई गांवों में सीवरेज के पानी को साफ करके खेती के लिए इस्तेमाल में लाने के लिए उनके कामों की देश विदेश में सराहना की गई है। उन्हें पद्मश्री समेत कई अवा‌र्ड्स से सम्मानित किया जा चुका है। राजनीतिक तौर पर सींचेवाल को रास भेजना मान के लिए काफी जरूरी है, क्योंकि संत का दोआबा क्षेत्र में काफी प्रभाव है। हालांकि सींचेवाल रास में जाने के लिए सहमत होंगे या नहीं ये भी बड़ा सवाल है। पहले वो बीजेपी के ऐसे ही प्रस्ताव को सिरे से मना कर चुके हैं।

पढें पंजाब (Punjab News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट