ताज़ा खबर
 

देश का ‘सबसे ऊंचा’ तिरंगा है तीन महीने से ‘लापता’, 15 अगस्त को आएगा नजर?

मार्च 2017 में जब देश का सबसे ऊंचा तिरंगा अटारी चेकपोस्ट पर लगाया गया तो दावा किया गया कि ये पाकिस्तान के लाहौर से भी दिखता है।
मार्च 2017 में लगाए गए देश के सबसे ऊंचे तिरंगे की फाइल फोटो। (Photo Source: Facebook/Indian military photos)

देश के मान-सम्मान के प्रतीक के तौर पर भारत-पाकिस्तान सीमा पर स्थित अटारी चेकपोस्ट पर लगाया गया देश का सबसे ऊंचा तिरंगा पिछले तीन महीने से लापता है। जब 360 फीट ऊंचाई पर तिरंगा लगाया गया तो दावा किया गया कि ये लाहौर से भी दिखता है। पाकिस्तानी मीडिया को संदेह था कि भारत इसका इस्तेमाल जासूसी के लिए कर सकता है। पाकिस्तानियों ने जवाब में अपनी सरहद में अपना झंडा ऐसी ही ऊंचाई पर दावा किया। लेकिन आज खुद भारतीय तिरंगा वहां नहीं रहा। हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार ज्यादा ऊंचाई पर होने के कारण ये झंडा तेज हवाओं के चपेट में आकर बार-बार फट जा रहा था। इससे परेशान होकर अमृतसर जिला प्रशासन ने इस साल अप्रैल में इसे उतरवा दिया और उसके बाद से ये दोबारा नहीं लगाया गया।

रिपोर्ट के अनुसार अमृतसर के डिप्टी कमीश्नर (डीसी) कमलदीप सिंह संघा ने राज्य के गृह विभाग और नगर निकाय मंत्रालय को एक पत्र लिखकर कहा था पाकिस्तान में भी दिखने वाले झंडे के कटे-फटे होने से देश की “किरकिरी” होती है। पंजाब सरकार इतनी ऊंचाई पर झंडे को नुकसान होने से बचाने के उपाय पर विचार कर रही है। अटारी सीमा पर मार्च 2017 में देश का सबसे ऊंचा तिरंगा लगाया गया था।

रिपोर्ट के अनुसार अटारी के अलावा अमृतसर के रंजीत एवेन्यू पर भी 170 फीट ऊंचाई पर तिरंगा लगाया गया था जो अब तक 13 बार फट चुका है। देश की आजादी की वर्षगांठ (15 अगस्त) महज 15 दिन दूर है ऐसे में प्रशासन दोनों ध्वजों को लेकर चिंतित है। अमृतसर के सांसद गुरजीत सिंह ने एचटी से कहा कि 15 अगस्त को झंडा जरूर फहराया जाएगा, भले ही एक दिन के लिए ही फहराया जाए।

इन झंडों की देखरेख की जिम्मेदारी अमृतसर इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट की है। अटारी सीमा पर 360 फीट की ऊंचाई पर लगा झंडा अब तक तीन बार फट चुका है। अधिकारियों ने एचटी को बताया कि रंजीत एवन्ये के ध्वज पर अब तक नौ लाख और अटारी के ध्वज पर अब तक छह लाख रुपये खर्च हो चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App