ताज़ा खबर
 

टिकट के बदले पैसे के कथित वीडियो के बाद AAP ने सुच्चा सिंह छोटेपुर को पंजाब संयोजक पद से हटाया

अरविंद केजरीवाल ने दो साल पहले पंजाब में आप को जमाने के लिए छोटेपुर को चुना था। हालांकि उसके बाद से दोनों के बीच दरार आ चुकी है।

सुच्‍चा सिंह छोटेपुर पर टिकट के बदले पैसे लेने का आरोप है।

आम आदमी पार्टी (आप) ने सुच्चा सिंह छोटेपुर को पंजाब संयोजक पद से हिटा दिया है। उन पर आरोप है कि उन्‍होंने टिकट देने के बदले पैसे लिए हैं। अब इस मामले को पार्टी की अनुशासन कमेटी को भेजा गया है, कमेटी इस मामले की जांच करेगी। पंजाब में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं और आप यहां पर ताकतवर बनकर उभरी है। छोटेपुर को पद से हटाने की मांग को लेकर सांसद भगवंत मान सहित 21 आप नेताओं ने पार्टी प्रमुख और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को खत लिखा था। इसमें कहा गया है कि पार्टी के भ्रष्‍टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस के सिद्धांत के आधार पर कार्रवाई की जानी चाहिए।

उन्‍होंने आप के एक कार्यकर्ता की ओर से बनाए गए वीडियो को सबूत के तौर पर पेश किया है। कथित तौर पर इस वीडियो में छोटेपुर एक उम्‍मीदवार से पैसे लेते दिख रहे हैं। आप सूत्रों ने बताया कि नेताओं ने पत्र के साथ यह वीडियो क्लिप भी भेजी है। इस वीडियो को अभी सार्वजनिक नहीं किया गया है। छोटेपुर पर क्‍या कार्रवाई की जाए, इस पर फैसला लेने के लिए केजरीवाल ने दिल्‍ली में आला नेताओं की बैठक बुलाई है।

Read Also: भाषण के कारण केजरीवाल को पसंद आए थे सुचा सिंह छोटेपुर, गोल्‍डन टेंपल में कार्रवाई के विरोध में छोड़ दिया था मंत्री पद

वहीं सुच्‍चा सिंह छोटेपुर ने घूस लेने से इनकार किया है। उन्‍होंने स्टिंग वीडियो दिखाने की मांग करते हुए कहा कि यह उनकी ही पार्टी के कुछ लोगों की रची हुई साजिश है। इस बारे में वे खुलासा करेंगे। इस संबंध में वे प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। छोटेपुर के मामले में विपक्षी दल कांग्रेस और अकाली दल आप का मजाक उड़ा रहे हैं। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि जो लोग बाहर से पंजाब को कंट्रोल करना चाहते हैं उन आप नेताओं ने इस स्टिंग ऑपरेशन की कहानी रची और इसे शूट किया। अरविंद केजरीवाल ने दो साल पहले पंजाब में आप को जमाने के लिए छोटेपुर को चुना था। हालांकि उसके बाद से दोनों के बीच दरार आ चुकी है।

आप के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि छोटेपुर ने ‘यस मैन’ बनने से इनकार कर दिया। इससे उनके और केजरीवाल के करीबी नेताओं के बीच दरार बन गई। उनके ग्रुप को साइडलाइन कर दिया गया है। पंजाब में पार्टी की कमान अब संजय सिंह के पास हैं जो यहां के इंचार्ज भी हैं। सूत्रों का कहना है कि लीगल सेल के मुखिया हिम्‍मत सिंह शेरगिल छोटेपुर की जगह ले सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App