ताज़ा खबर
 

मोर्चा बनाने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू का पहला यू-टर्न? आप या कांग्रेस से समझौता करेगा आवाज-ए-पंजाब

नवजोत सिंह सिद्धू की पार्टी आवाज-ए-पंजाब ने चुनाव से पहले पंजाब में कांग्रेस या आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन करने का फैसला किया है।

Author चंडीगढ़ | September 27, 2016 9:12 AM
नवजोत सिंह सिद्धू ने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया।

किक्रेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब चुनाव से पहले बड़ा यू-टर्न लिया है। नवजोत सिंह सिद्धू की पार्टी आवाज-ए-पंजाब ने चुनाव से पहले पंजाब में कांग्रेस या आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन करने का फैसला किया है। इससे पहले सिद्धू के मोर्चे ने राज्य में बादल-अमरिंदर के गठजोड़ को तोड़ने का दावा किया था। आवाज-ए-पंजाब के संस्थापक सदस्य नवजोत सिंह सिद्धू ने पिछले हफ्ते बादल और अमरिंदर सिंह पर तीखा हमला करते हुए उनके गठजोड़ को पंजाब से उखाड़ फेंकने की बात कही थी।

आवाज-ए-पंजाब के सदस्य और निर्दलीय विधायक सिमरजीत सिंह बैंस ने इस बात की पुष्टि की है कि उनका मोर्चा आप या कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सकता है। उन्होंने कहा कि सिद्धू और बैंस विपक्षी पार्टियों के नेताओं के साथ संपर्क में है। कांग्रेस पर हाल ही में लगाए गए आरोपों के बारे में जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सिद्धू ने बादल-अमरिंदर गठजोड़ के खिलाफ काम करने के लिए कहा था, कांग्रेस के खिलाफ कुछ नहीं कहा था। असीम संभावनाएं हैं, जस्ट वेट एंड वॉच।

सिमरजीत सिंह के बड़े भाई बलविंदर सिंह बैंस का कहना है कि हम चुनाव लड़ेंगे। मैं केवल इतना ही कह सकता हूं कि हम सिर्फ उन दो ही सीटों से चुनाव नहीं लड़ेंगे, जिसका की हम प्रतिनिधित्व करते है बल्कि इसके अलावा और भी कई सीटें हैं। वहीं, आम आदमी पार्टी की पंजाब ईकाई के पूर्व संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर भी अक्टूबर में नई पार्टी की बनाने की घोषणा करने वाले हैं। पार्टी का नाम अपना पंजाब बताया जा रहा है। बता दें कि पंजाब में 2017 में विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसे लेकर अकाली-बीजेपी गठबंधन के साथ-साथ कांग्रेस और आम आदमी पार्टी जोर शोर से तैयारियों में लगे हुए हैं।

हाल ही में भाजपा के पूर्व सांसद नवजोत सिंह सिद्धू ने एलान किया था कि वह पंजाब का आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए कोई राजनीतिक पार्टी नहीं बनाएंगे, क्योंकि वह सरकार विरोधी वोटों को बांटकर ‘खेल खराब करने वाला’ नहीं बनना चाहते हैं। सिद्धू ने कहा, ‘फोरम पंजाब की बेहतरी के लिए किसी गठबंधन का स्वागत करता है और यह कोई राजनीतिक पार्टी नहीं होगी। बस पंजाब, पंजाबियत और हर पंजाबी की जीत हो।’ विधायक परगट सिंह, लुधियाना से विधायक सिमरजीत सिंह और बलविंदर बैंस के साथ सिद्धू ने हाल ही में आवाज-ए-पंजाब की स्थापना की घोषणा की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App