ताज़ा खबर
 

रेवाड़ी मामले में एक मुख्य आरोपी सहित तीन गिरफ्तार, दो फरार

हरियाणा पुलिस ने रेवाड़ी की एक युवती से सामूहिक बलात्कार के सिलसिले में एक मुख्य आरोपी समेत तीन लोगों को रविवार को गिरफ्तार कर लिया।

Author चंडीगढ़, 16 सितंबर | September 17, 2018 6:06 AM
घटना के चौथे दिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर रविवार को अपने सारे कार्यक्रम छोड़कर जलंधर से चंडीगढ़ लौटे और पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) बीएस संधू को तलब कर सभी आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी के आदेश जारी किए

हरियाणा पुलिस ने रेवाड़ी की एक युवती से सामूहिक बलात्कार के सिलसिले में एक मुख्य आरोपी समेत तीन लोगों को रविवार को गिरफ्तार कर लिया। अधिकारियों ने कहा कि विशेष जांच दल (एसआइटी) की प्रमुख और मेवात की एसपी नाजनीन भसीन ने रेवाड़ी में बताया कि निशू नाम के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में से एक का नाम दीनदयाल है। बताया गया है कि उसने वह जगह किराए पर दी थी, जहां पीड़िता के साथ बलात्कार हुआ था। वहीं, दुष्कर्म के बाद आरोपियों ने जिस डॉक्टर संजीव से पीड़िता की जांच कराई थी, उसे भी हिरासत में ले लिया गया है। दो अन्य मुख्य आरोपियों सेना के जवान पंकज और मनीष को पकड़ने के प्रयास जारी हैं। इन्हें पकड़ने के लिए कई जगहों पर छापेमारी जारी है।

उधर, घटना के चौथे दिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर रविवार को अपने सारे कार्यक्रम छोड़कर जलंधर से चंडीगढ़ लौटे और पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) बीएस संधू को तलब कर सभी आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी के आदेश जारी किए। इसके कुछ देर बाद ही रेवाड़ी के एसपी राजेश दुग्गल का तबादला कर दिया गया। अब राहुल शर्मा रेवाड़ी के नए एसपी होंगे। खट्टर ने कहा है कि सभी आरोपी जल्द ही चंगुल में होंगे। उन्होंने कहा कि तीन आरोपियों की पहचान कर ली गई है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आरोपी और पीड़ित एक-दूसरे को जानते थे। यह तो और भी चौंकाने वाली बात है कि एक आरोपी सेना का जवान है। आरोपियों की तलाश जारी है। हमने एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मामले में एसआइटी का गठन कर दिया गया है। अबतक 100 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है। मुख्यमंत्री ने दावा किया है कि मुख्य आरोपियों को दो दिन के अंदर गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने छात्रा के साथ हुए सामूहिक बलात्कार मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस प्रमुख बीएस संधू से पूरी रिपोर्ट तलब की है। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए चिट्ठी भी लिखी है। पीड़िता के पिता का कहना है कि संभव है कि कई लोगों ने बलात्कार की घटना को अंजाम दिया हो। पीड़िता की मां ने आरोपियों को फांसी पर लटकाने की मांग करते हुए जिला प्रशासन द्वारा शनिवार को उनको दिए गए दो लाख रुपए का चेक वापस करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा, हमें इस चेक की जरूरत नहीं है। क्या यह कीमत उनकी बेटी की इज्जत के लिए रखी जा रही है। हमें बस न्याय चाहिए।

दर्जनभर लोगों ने 8 घंटे तक किया दुष्कर्म

सूत्रों के मुताबिक, लड़की को नशे का टीका लगा कर करीब दर्जनभर लोगों ने बर्बरता से उसके साथ आठ घंटे तक दुष्कर्म किया। हालांकि, एफआइआर में अभी सिर्फ तीन आरोपियों के नाम ही हैं। डॉक्टर के पहुंचने तक पीड़िता का ब्लड प्रेशर काफी गिर चुका था। नयागांव के एक निवासी ने बताया कि डॉक्टर संजीव ने उन लोगों से बताया था कि पीड़िता का ब्लड प्रेशर काफी कम हो चुका है। यह सुनने के बाद तीनों आरोपियों ने पीड़िता को उठा कर 40 किलोमीटर दूर महेंद्रगढ़ के एक कस्बे में बस स्टॉप पर छोड़ दिया। आरोपियों ने यहीं से सुबह पीड़िता को अगवा किया था। आरोपी मनीष ने यहां से पीड़िता के पिता को फोन कर बताया कि उसने उनकी बेटी को बस स्टॉप पर बेहोशी की हालत में देखा है। इसी बीच डॉक्टर ने स्थानीय लोगों को पीड़िता के साथ हुई घटना के बारे में बता दिया।

गैंगरेप पीड़िता खतरे से बाहर

सामूहिक बलात्कार पीड़िता का मेडिकल बुलेटिन जारी कर दिया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि एक पूरी टीम ने पीड़िता के स्वास्थ्य की जांच की है और अब वह ठीक है। उसने खाना भी खाया है और चलने फिरने लगी है। हालांकि वह सदमे में है और इससे उबरने में उसे समय लगेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App