ताज़ा खबर
 

हिंदी न समझने से परेशान था जूनियर डॉक्टर, फांसी पर लटक कर दे दी जान

तमिलनाडु से चंडीगढ़ आकर मेडिकल की पढ़ाई करने वाले जूनियर रेजीडेंट ने फांसी लगाकर जान दे दी। वजह थी कि उसे हिंदी समझने में दिक्कत होती थी। पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजूकेशन एंड रिसर्च((PGIMER) से डी कृष्ण आर नामक जूनियर रेजीडेंट पीजी कोर्स की पढ़ाई कर रहा था। उसने हॉस्टल के अपने कमरे के छत के पंखे से लटककर जान दे दी।

चंडीगढ़ में आत्महत्या करने वाले मेडिकल छात्र कृष्णा की फोटो( सोर्स-फेसबुक)

तमिलनाडु से चंडीगढ़ आकर मेडिकल की पढ़ाई करने वाले जूनियर रेजीडेंट ने फांसी लगाकर जान दे दी। वजह थी कि उसे हिंदी समझने में दिक्कत होती थी। पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजूकेशन एंड रिसर्च((PGIMER) से डी कृष्ण आर नामक जूनियर रेजीडेंट पीजी कोर्स की पढ़ाई कर रहा था। उसने हॉस्टल के अपने कमरे के छत के पंखे से लटककर जान दे दी।
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक छात्र ने रविवार को अपनी मां को फोन कर घर वापस आने की इच्छा जताई थी। कहा था कि वह हिंदी नहीं समझ पा रहा है, जिसके कारण चंडीगढ़ में खुद को एडजस्ट नहीं कर पा रहा है। मां ने कहा कि-मेरा बच्चा शुरुआत से ही चंडीगढ़ के माहौल की लगातार शिकायत कर रहा था, क्योंकि वह वहां के माहौल में खुद को ढाल नहीं पा रहा था। मां ने कहा कि हमने उस े समझाया कि मेरिट में सीट हासिल करने के बाद इस तरह घर नहीं लौटना चाहिए। मैने उसे कुछ समय और इंतजार करने को कहा, ताकि चीजें अपने अनुकूल हो जाएं।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA1 Dual 32 GB (White)
    ₹ 17895 MRP ₹ 20990 -15%
    ₹1790 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32 GB (Venom Black)
    ₹ 8199 MRP ₹ 11999 -32%
    ₹410 Cashback

मृतक छात्र के पिता रामासामी ने कहा कि वह चंडीगढ़ के माहौल से बहुत परेशान था। खासतौर से हिंदी न समझने की समस्या से ने उसे चिंतित कर रखा था। बातचीत के दौरान वह बार-बार हिंदी को लेकर अपनी परेशानी बताता। बता दें कि कृष्णा तमिलनाडु के रामेश्वर का निवासी था। वह डिपार्टमेंट ऑफ रेडियो डायग्नोसिस एंड इमेजिंग में जूनियर रेजीडेंट था। मेडिकल कॉलेज प्रशासन से फोन से छात्र की आत्महत्या की जानकारी मिलते ही मां-बाप तमिलनाडु से चंडीगढ़ रवाना हो गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App