ताज़ा खबर
 

चंडीगढ़ छेड़छाड़ केस: मायावती ने पूछा, खामोश क्यों हैं भाजपा के नेता

मायावती ने पूछा, ‘क्या भाजपा नेताओं से जुड़े व्यक्तियों पर देश का कानून लागू नहीं होता? यह दोहरा रवैया क्यों?’
Author नई दिल्ली | August 9, 2017 03:11 am
बहुजन समाजवादी पार्टी प्रमुख मायावती (File Photo)

हरियाणा भाजपा प्रमुख के बेटे और उसके साथी द्वारा चंडीगढ़ में एक युवती का पीछा करने के मामले में बसपा प्रमुख मायावती ने सवाल उठाए हैं। उन्होंने आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग करते हुए पूछा कि इस मामले में भाजपा के बड़े नेता खामोश क्यों हैं? उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के नेता इस मामले को दबा देने की कोशिश में हैं। मायावती ने पूछा, ‘क्या भाजपा नेताओं से जुड़े व्यक्तियों पर देश का कानून लागू नहीं होता? यह दोहरा रवैया क्यों?’  मायावती ने हरियाणा सरकार के ‘बेटी बचाओ’ अभियान के नारे पर तंज कसते हुए कहा कि जिस तरीके से विकास बराला प्रकरण को दबा देने की कोशिश चल रही है, वह बेहद चिंतनीय है। लखनऊ में जारी एक बयान में उन्होंने मांग की कि आरोपियों के खिलाफ तुरंत प्रभाव से अपहरण का मामला दर्ज किया जाए और उनकी अविलंब गिरफ्तारी की जाए।

उन्होंने मांग की कि महिला उत्पीड़न के दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। मायावती के मुताबिक जिस तरीके से अभियुक्त विकास बराला को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर बचाने की कोशिश कर रहे हैं, उससे कमजोर वर्ग में उनके खिलाफ असंतोष पैदा हो रहा है। विकास को पुलिस ने थाने से जाने कैसे दिया?’ उन्होंने कहा कि इन हालात में लोगों का गुस्सा बिल्कुल जायज है।  मायावती ने पूछा कि क्या भाजपा के नेता और उनके संबंधी देश के कानून से ऊपर हैं। क्या उन पर कानून लागू नहीं होता? उन्होंने कहा कि हरियाणा की हाल की घटनाओं से स्पष्ट हो गया है कि बेटी बचाओ, लव जेहाद, महिला सुरक्षा, गो रक्षा और एंटी-रोमियो जैसे नारे गढ़कर भाजपा ने मतदाताओं को लुभाया है और सत्ता पाई है। इन नारों का हकीकत से कोई लेना-देना नहीं है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.