ताज़ा खबर
 

पंजाब से आई पुलिस टीम ने मुठभेड़ के बाद पांच बदमाश किए गिरफ्तार

पंजाब के मोहाली और दिल्ली पुलिस की टीम के साथ दिल्ली के उत्तमनगर, बिंदापुर इलाके में मंगलवार सुबह बदमाशों के साथ मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के बाद पुलिस टीमों ने पांच बदमाशों को दबोच लिया।

Author नई दिल्ली | November 22, 2017 4:50 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

वांछित बदमाशों को गिरफ्तार करने पहुंची पंजाब के मोहाली और दिल्ली पुलिस की टीम के साथ दिल्ली के उत्तमनगर, बिंदापुर इलाके में मंगलवार सुबह बदमाशों के साथ मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के बाद पुलिस टीमों ने पांच बदमाशों को दबोच लिया। मुठभेड़ द्वारका मोड़ के मेट्रो पिलर नंबर- 768 के पास हुई। इसमें किसे के मारे जाने की सूचना नहीं है। पुलिस ने बदमाशों के पास से सौ कारतूस, 11 अवैध हथियार और एक पिस्तौल बरामद कर जांच शुरू कर दी है।  दक्षिण-पश्चिम जिला पुलिस अधिकारी के मुताबिक मंगलवार को एक सूचना पर वांछित बदमाश को पकड़ने के लिए मोहाली पुलिस की टीम दिल्ली पुलिस के साथ द्वारका मोड़ के पास शांति पार्क के प्लाट नंबर-पांच के पास दूसरी मंजिल पर स्थित गुड़िया प्रॉपर्टीज के दफ्तर पहुंची। पुलिस को सूचना थी कि बदमाश एक घर में छिपे हुए हैं। पंजाब पुलिस ने उन्हें चारों तरफ से घेर लिया। पुलिस टीम को भनक लगते ही बदमाशों ने गोली चलानी शुरू कर दी। बचाव में पुलिस ने भी गोली चलाई और मुस्तैद होकर पांच बदमाश को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि करीब 25 से 30 राउंड गोली चलाए जाने के बाद पुलिस ने पांचों को दबोच लिया।

बदमाशों की पहचान की जा रही है। पकड़े गए बदमाशों की पहचान हरियाणा के झज्जर निवासी कृष्ण, पंजाब के फजिल्का जिला निवासी नरेश बिश्नोई, उत्तम नगर निवासी विक्रम शर्मा उर्फ टिंकू, नारनौल निवासी दीपक व हरियाणा के जगीरपुर निवासी सुनील के रूप में हुई है। जबकि इनका सरगना हरियाणा के भिवानी निवासी रवि उर्फ दीपक उर्फ नीतू भागने में कामयाब रहा। रवि पर हत्या व हत्या के प्रयास सहित अवैध हथियार रखने के कई मामले पंजाब में दर्ज हैं। रवि ने दो दिन पहले ही मोहाली में हत्या की वारदात को अंजाम दिया था और अपने साथियों के साथ यहां रहने आ गया था। बताया जा रहा है कि पुलिस ने बिल्डिंग को चारों ओर से घेर लिया था। पंजाब पुलिस के कुछ जवानों ने बदमाशों के घर का दरवाजा खटखटाया। जब बदमाशों ने दरवाजा खोला तो सामने पुलिस को देखकर फिर से दरवाजा बंद कर लिया और घर के अंदर से गोली चलानी शुरू कर दी। करीब एक घंटे तक दोनों ओर से गोलीबारी होती रही। इस दौरान रवि एक कपड़े की मदद से खिड़की से नीचे उतरा और वहां पर स्थित पेड़ के सहारे भागने में कामयाब हो गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App