ताज़ा खबर
 

फरीदकोट में हिंसात्मक प्रदर्शन के बाद बंद रहे पंजाब के कई इलाके

पंजाब में दो दिन पहले हुए सिख के पवित्र ग्रंथ के पन्ने फाड़ने को लेकर भड़की हिंसा के चलते बीते दिन गुरूवार को पंजाब के की कई इलाके बंद रहे।

पंजाब में दो दिन पहले हुए सिख के पवित्र ग्रंथ के पन्ने फाड़ने को लेकर भड़की हिंसा के चलते बीते दिन गुरूवार को पंजाब के की कई इलाके बंद रहे। गौरतलब है कि बुधवार को धार्मिक ग्रंथ के अपमान को लेकर यहां दो समुदायों के बीच हंगामा खड़ा हो गया। क्षेत्र में भड़की हिंसा को रोकने के लिए पुलिस ने भी बल प्रयोग किया और बाद में आंसू गैस के गोले भी छोड़े।

मामला धार्मिक ग्रंथ के पन्ने फाड़े जाने को लेकर था, जिसके बाद दो समुदाओं के बीच हिंसा भड़क गई। पन्ने फाड़े जाने के विरोध में कुछ लोगों ने हाई-वे पर प्रदर्शन किया। जिसके बाद से बीते दिन क्षेत्र में आवाजाही बाधित रही औऱ सभी वीकल्स की सर्विस बाधित कर दी गई।

(File Photo) (File Photo)

पंजाब में फरीदकोट सहित बठिंदा, मुल्लनपुर, जैतन, मुक्तसर और मोंगा जिले के इलाके पूरी तरह से बंद रहे। हिंसा के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने पवित्र ग्रंथ के अपमान और उसके बाद भड़की हिंसा की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं।

तो वहीं पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने बुधवार को घोषणा की कि फरीदकोट जिले के बरगरी गांव में गुरु ग्रंथ साहिब का अपमान करने वालों की जानकारी देने वाले को एक करोड़ का ईनाम दिया जाएगा।

Next Stories
1 धर्म ग्रंथ के पन्ने फाड़ने से भड़की हिंसा, तनावपूर्ण बना माहौल
2 पंजाब में किसानों के प्रदर्शन ने रेल सेवा वाधित, यात्रियों की बढ़ी परेशानी
3 चंडीगढ़: सीएम खट्टर की सुरक्षा में सेंध, दफ्तर तक पहुंचा पिस्तौलधारी
ये पढ़ा क्या?
X