ताज़ा खबर
 

अब पंजाब में बड़ा खतरा, स्वर्ण मंदिर के पूर्व ‘हजूरी रागी’ की कोरोना वायरस से मौत, 100 लोगों की सभा में किया था कीर्तन

Coronavirus cases in India: स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि ‘गुरबाणी’ के सभी रागों का ज्ञान रखने वाले 62 वर्षीय पूर्व ‘हजूरी रागी’ हाल ही में विदेश से लौटे थे और बुधवार को वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे।

Author Translated By Ikram नई दिल्ली | Updated: April 2, 2020 8:59 AM
घातक कोरोना वायरस देशभर में लगातार अपने पैर पसार रहा है।

Coronavirus cases in India: पद्म श्री से सम्मानित स्वर्ण मंदिर के पूर्व ‘हजूरी रागी’ की गुरुवार (2 अप्रैल, 2020) सुबह कोरोना वायरस से मौत हो गई। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि ‘गुरबाणी’ के सभी रागों का ज्ञान रखने वाले 62 वर्षीय पूर्व ‘हजूरी रागी’ हाल ही में विदेश से लौटे थे और बुधवार को वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। सरकारी मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल डॉक्टर सुजाता शर्मा ने बताया कि उनकी हालत बुधवार शाम को बिगड़नी शुरू हो गई थी और उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था। गुरुवार तड़के साढ़े चार बजे उनका निधन हो गया। सूत्रों ने बताया कि 62 वर्षीय सिंह दमे की बीमारी से ग्रस्त थे।

इससे पहले कुछ अमेरिकी मेहमानों से उनकी मुलाकात के बाद से मार्च के पहले सप्ताह से ही वो स्वास्थ्य अधिकारियों की निगरानी थे। बाद में मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया गया। अब पता चला है कि 19 मार्च को वो चंडीगढ़ में सेक्टर 27-A स्थित एक घर में गए और करीब 100 लोगों की मौजूदगी में कीर्तन किया। 20 मार्च को वो अमृतसर लौट आए। चंडीगढ़ से लौटने के बाद रागी ने 21 मार्च को कोरोना संक्रममों की रिपोर्ट के लिए सरकारी मेडिकल कॉलेज अमृतसर के गुरु नानक देव हॉस्पिटल (GNDH) गए। हाालंकि इस दौरान डॉक्टरों ने उन्हें कुछ दवाईयां देकर घर भेज दिया था।

Coronavirus in India LIVE Updates

इसपर उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ, जिसके बाद उन्होंने 24 मार्च को अमृतसर में श्री गुरु राम दास इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च (SGRIMSR) से संपर्क किया। यहां उनका इलाज किया गया और घर वापस भेज दिया। 30 मार्च को उन्हें फिर SGRIMSR में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें फिर GNDH रेफर कर दिया गया।

चौंकाने वाली बात है कि उनका पिछला मुलाकात इतिहास जानने के बावजूद इमरजेंसी वार्ड में इलाज किया गया। इसके बाद फ्लू वॉर्ड में शिफ्ट कर दिया और अब आइसोलेट किया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

उल्लेखनीय है कि देश में कोरोना-19 मामलों की संख्या बुधवार को बढ़कर 1,834 तक पहुंच गई, जबकि मरने वालों की संख्या बढ़कर 41 हो गई। कोरोना वायरस के मामलों में इजाफे के लिहाज से एक दिन में अब तक की सबसे अधिक बढ़ोतरी दर्ज की गई है और 437 मामले दर्ज किए गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी। मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के 1,649 रोगियों का इलाज चल रहा है, जबकि 143 लोग ठीक हो चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories