ताज़ा खबर
 

छेड़खानी मामला: विकास बराला का तर्क- कार लड़की चला रही है या लड़का, ये जानने को कर रहा था पीछा

पुलिस सूत्रों ने बताया कि विकास बराला ने जांच के लिए खून और पेशाब का सैंपल देने से इंकार कर दिया है
चंडीगढ़ में आईएएस अफसर की बेटी की कार का पीछा करने का आरोपी विकास बराला।

चंडीगढ़ छेड़खानी मामले में हैरान कर देने वाला बयान देते हुए हरियाणा भाजपा अध्यक्ष के बेटे और मुख्य आरोपी विकास बराला ने नया तर्क पेश किया है। विकास का कहना है कि वह 29 साल की आईएएस अधिकारी की बेटी की कार का पीछा इसलिए कर रहा था क्योंकि वह जानना चाहता था कि कार लड़की चला रही है या लड़का। पुलिस सूत्रों ने बताया कि विकास बराला ने जांच के लिए खून और पेशाब का सैंपल देने से इंकार कर दिया है और साथ ही खुद को सही साबित करने के लिए बेतुके तर्क भी दे रहा है।

पुलिस ने मंगलवार शाम को विकास बराला और उसके दोस्त आशीष कुमार को जांच में शामिल होने के लिए समन जारी किया था। विकास ने शुरुआत में समन स्वीकार करने से इंकार कर दिया था, हालांकि भाजपा नेताओं के समझाने के बाद वह जांच में भागीदारी कर रहा है। बुधवार को अन्य आरोपी आशीष को भी पुलिस के समक्ष पेश होना था। चंडीगढ़ प्रशासन ने इस मामले की जांच रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भी भेजी है। मंगलवार को इस मामले में पुलिस को सीसीटीवी फुटेज हासिल हुई थी। चंडीगढ़ पुलिस के एक अधिकारी ने कहा था, ‘‘चंडीगढ़ पुलिस ने उस मार्ग पर पांच सीसीटीवी की फुटेज फिर से प्राप्त कर ली है जिसपर कथित गाड़ी से पीड़िता की कार का पीछा किया गया।’’

बता दें कि बीते सप्ताह की शुक्रवार रात एक आईएएस अधिकारी की 29 वर्षीय बेटी का दो लड़कों ने कथित तौर पर पीछा किया। आरोपियों में हरियाणा भाजपा नेता का बेटा भी शामिल हैं। हरियाणा भाजपा प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास (23) और आशीष कुमार (27) को कथित तौर पर महिला का पीछा करने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि दोनों को जमानत पर रिहा कर दिया गया क्योंकि उनके खिलाफ आईपीसी और मोटर व्हीकल अधिनियम की जमानती धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.