ताज़ा खबर
 

CCTV: गुंडे आए, फायरिंग कर हिंदू संघर्ष सेना के नेता को गिराया, आठ गोलियां मार चलते बने

पिछले दो सालों में पंजाब में हिंदुत्ववादी संगठनों के नेता की हत्या की ये पांचवी घटना है।

Author Updated: October 31, 2017 3:42 PM
हिंदुत्ववादी संगठन के नेता की हत्या का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है।

पंजाब की राजधानी अमृतसर में एक पखवाड़े में दूसरी बार एक हिन्दू संगठन के नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। सोमवार (30 अक्टूबर) को हिन्दू संघर्ष सेना के जिला अध्यक्ष भरत शर्मा की हो बंदूकधारियों ने सरेआम दिनदहाड़े गोली मार दी। डॉक्टरों के अनुसार 45 वर्षीय शर्मा की अस्पताल पहुंचने से पहले ही मौत हो चुकी थी। हिन्दू संघर्ष सेना और शिव सेना (पंजाब) ने मंगलवार (31 अक्टूबर) को अमृतसर बंद का आह्वान किया है। इससे पहले 17 अक्टूबर को लुधियाना में आरएसएस के स्थानीय नेता राजेंद्र गोसाईं की बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। शर्मा को सोमवार दोपहर दो बजे के करीब अमृतसर के भरत नगर इलाके में गोली मारी गयी।

घटना स्थल के पास स्थिति दुकान में लगे सीसीटीवी में पूरी वारदात कैद हो गई। सीसीटीवी फुटेज में साफ दिख रहा है कि बदमाशों ने शर्मा को कम से कम सात गोलियां मारीं। घटना से पहले शर्मा अपने कुछ दोस्तों के संग खड़े होकर बात कर रहे थे। बातचीत करते-करते ही वो अपने साथी की मोटरसाइकिल पर बैठ रहे थे तभी दो लोग आए और उन पर हमला कर दिया। हमले के दौरान ही एक व्यक्ति के चेहरे से नकाब हट गया और उसका चेहरा सीसीटीवी में साफ देखा जा सकता है। अमृतसर के प्रीत नगर के रहने वाले शर्मा केबल टीवी कारोबार करते थे। शर्मा जरूरतमंदों के लिए लंगन भी चलाते थे।

द ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार घटना के बाद शर्मा को जिस निजी अस्पताल में ले जाया गया उसके निदेशक ने कहा, “उनके शरीर पर चोट के 15 निशान थे जिनमें आठ गोलियों के दाग थे। ” शर्मा को सीने, पेट और सिर में गोलियां लगी थीं। पिछले दो सालों में पंजाब हिन्दुत्ववादी संगठनों की हत्या का ये पांचवा मामला है। पुलिस कमिश्नर ने

देखें घटना का सीसीटीवी फुटेज-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 युवराज के वकील ने कहा, घरेलू हिंसा की कोई रिपोर्ट नहीं हुई दर्ज
2 गुरदासपुर: आप की जमानत जब्त, भगवंत मान बोले- जनता ने कम से कम मोदी को तो नकारा
ये पढ़ा क्‍या!
X