ताज़ा खबर
 

पंजाब: अफेयर खोलने की धमकी दी तो बहन ने 4 साल के भाई का कर दिया कत्‍ल

रेनू ने पूछताछ में यह भी स्वीकार किया कि उसने अंश के शव को नग्न अवस्था में इसलिए छोड़ा था, ताकि पुलिस इसे कुकर्म का मामला समझकर उस दिशा में जांच करें।

बहन ने 15 दिन पहले ही बना ली थी योजना। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पंजाब के लुधियाना में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें एक बहन ने ही अपने 4 साल के भाई की गला घोंटकर हत्या कर दी। दरअसल भाई को बहन के अफेयर के बारे में जानकारी हो गई थी और वह घर वालों को इसके बारे में बताने की धमकी दे रहा था। फिलहाल पुलिस ने आरोपी बहन को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी बहन ने भी पुलिस पूछताछ में अपना गुनाह कबूल कर लिया है। घटना लुधियाना के टिब्बा रोड स्थित अमरजीत कॉलोनी की है। बीती 7 अक्टूबर को ही यहां से एक बच्चा गायब हो गया था। जिसकी पहचान अंश के रुप में हुई थी। इसके एक दिन बाद ही अंश की लाश उसके घर के बाहर ही एक थैले में बंद नग्न अवस्था में मिली थी।

मामले की जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि मृतक की बहन ने ही उसकी हत्या की है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अंश एक तेज बच्चा था और अपनी बहन रेनू (19 वर्ष) पर हमेशा निगाहें रखता था। जब भी रेनू अपने ब्वायफ्रेंड से बातें करती थी तो वह इस बारे में घरवालों को बताने की धमकी देता रहता था। इसी के चलते वह कई बार छोटी-छोटी बातों को लेकर बहन के खिलाफ घरवालों से शिकायत कर चुका था। जिससे रेनू, अंश से काफी नाराज थी। पुलिस पूछताछ में रेनू ने बताया कि उसने अंश को मारने की योजना 15 दिन पहले ही बना ली थी। इसके बाद 6 अक्टूबर को जब उसके पिता अपने काम पर चले गए और मां दोपहर में अपने एक रिश्तेदार से मिलने अस्पताल जा रहीं थी। तभी अंश ने भी अपनी मां के साथ जाने की जिद करना शुरु कर दिया। हालांकि रेनू ने टॉफी दिलाने के बहाने अंश को घर पर ही रोक लिया। इसके बाद रेनू ने घर में ही अंश की गला दबाकर हत्या कर दी और शव को घर में ही गेंहूं की बोरियों के पीछे छिपा दिया।

इसके बाद रेनू ने अंश के लापता होने की बात अपने घरवालों को बतायी। जिसके बाद पुलिस को सूचित किया गया। हालांकि अगले दिन ही अंश की लाश घर के बाहर ही मिल गई थी। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार, रेनू ने पुलिस को बताया था कि अंश टॉफी लेने के बाद से ही घर नहीं आया, जबकि पुलिस पूछताछ में पता चला कि अंश टॉफी लेने के बाद घर आया था। इसके बाद पुलिस के शक की सुईं रेनू की तरफ घूम गई। रेनू ने पूछताछ में यह भी स्वीकार किया कि उसने अंश के शव को नग्न अवस्था में इसलिए छोड़ा था, ताकि पुलिस इसे कुकर्म का मामला समझकर उस दिशा में जांच करें।  फिलहाल पुलिस ने आरोपी रेनू को गिरफ्तार कर अपहरण, हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App